अभिषेक श्रीवास्तव
अभिषेक श्रीवास्तव

Email
twitter: @abhishekgroo

अभिषेक श्रीवास्तव, लेखक स्वतंत्र पत्रकार व राजनीतिक विश्लेषक हैं।

मुझे शक़ है कि गांधी का कथित राष्‍ट्रवाद कहीं हिंदू राष्‍ट्रवाद का ही एक अंश तो नहीं
संदर्भ पांच गिरफ्तारियां उनकी राजनीति हमारे दिलासे  यह सरकार के लिए बैकफायर नहीं है ऑक्‍सीजन है।
हमने खलनायकों को पहचानने में देरी की उन्‍हें ‘’मॉब’’ कह कर बेचेहरा रहने दिया ये खतरनाक संकेत है
क्या सही साबित हो गए प्रकाश करात
सरकार और प्रबंधन के आगे सारे संपादक लेट गए हैं
क्या देश के अंदर एक अवैध सेना का निर्माण किया जा चुका है
डरा हुआ इंसान प्रेम कैसे सहेगा जो अब तक नहीं डरा वह प्रेम कर लेता है फिर अंकित मारा जाता है
ये सरकार 2019 में लौटी तो पत्रकारिता के ताबूत में आखिरी कील होगी
यहां का मौजूदा राष्‍ट्रवाद ज़हरीला ही नहीं बेशर्म भी है जो पाकिस्‍तान ने नहीं किया वो भाजपा ने कर दिखाया
बीएचयू  नुकसान उन्‍हीं लड़कियों का जिन्‍होंने ईमानदारी से अपनी आवाज़ उठायी