इकाॅनोमिक ऐंड पाॅलिटिकल वीकली
इकाॅनोमिक ऐंड पाॅलिटिकल वीकली

Email
twitter

इकाॅनोमिक ऐंड पाॅलिटिकल वीकली 1966 से लगातार प्रकाशित हो रहा है. शुरुआत से ही यह एक सशक्त वैचारिक मंच के तौर पर उभरा है. इसमें न सिर्फ देश की राजनीति, आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक विषयों पर शोध पत्र प्रकाशित होते हैं बल्कि इन क्षेत्रों से संबंधित विषयों पर गंभीर लेख भी प्रकाशित होते हैं.

आतंक का दूसरा नाम  लोगों से विकास परियोजनाओं पर सवाल उठाने का अधिकार छीन रही हैं सरकारें
दालों का उत्पादन और कीमतों में उतार-चढ़ाव  नीतियां बनाने में नाकाम रही सरकार
अच्छा ही है कश्मीर में दिखावे का अंत
विपक्षी एकता का गणित  2019 में भाजपा को हरा देगा एकजुट विपक्ष
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का छद्म उदारवाद  प्रणब मुखर्जी को बुलाकर rss ने क्या साबित करने की कोशिश की है
बस्तरिया बटालियन  सरकार एक गंदा और खतरनाक खेल रही है
आखिर यह ऐतिहासिक जरूरत क्यों पैदा हो गई कि मोदी सरकार की प्रतिष्ठा पर सवाल उठाया जाए
क्यों उबला थूतूकुडी तूतीकोरिन  अनुत्तरित हैं 13 लोगों की मौत से जुड़े कई सवाल
कर्नाटक  फिर से भारतीय राजनीति का सामंतीकरण
मुठभेड़ की आड़ में नरसंहार  दिए जाते रहेंगे विकास के नाम विनाश के जख्म