मसीहुद्दीन संजरी
मसीहुद्दीन संजरी

Email
twitter

मसीहुद्दीन संजरी, लेखक स्वतंत्र टिप्पणीकार व राजनैतिक विश्लेषक हैं।

अडवाणी जैसे दक्ष राजनेता को खुला नहीं छोड़ा जा सकता
हिन्दुस्तान हो या पाकिस्तान सरकारें और अदालतें भी चुप हैंराष्ट्रवाद की बाढ़ जो आई हुई है
अफगानिस्तान पर अमरीका ने हमला आईएस को तबाह करने नहीं अमरीकी जनता को ठगने के लिए किया
बीफ निर्यात  नीति का ढिंढोरा पीटते हो लेकिन नीयत नहीं बताते जनता है सब जान लेगी
अवैध स्लाटर हाउस मामला  योगी के इस विकास की नींव तो अखिलेश रख गए थे
गोवा में बीफ बिकता है और उप्र में बीफ बंदी सरकार दोनों जगह भाजपा की ही है
भाजपा को काल्पनिक शत्रु की आवश्यकता अभी बनी रहेगी
सैफुल्लाह कब मारा गया मीडिया को हमेशा की तरह पुलिस और इंटेलीजेंस एजेंसियों से भी ज़्यादा मालूम है
अब पूरा चुनाव बनारस में मोदी की प्रतिष्ठा बचाने पर सिमटा
दूसरों का मज़ाक बनाते-बनाते और खुद हंसी के पात्र बन चुके हैं मोदी