राजीव मित्तल
राजीव मित्तल

Email
twitter

राजीव मित्तल, वरिष्ठ पत्रकार हैं। कई बड़े समाचारपत्रों में संपादक रहे हैं।

हम भारतीय इस कदर भ्रष्ट क्यों हैं
अब तो बंद कीजिये बाढ़ को न्योते भेजना
बाढ़नामा-पानी में डूबते-उतराते रिश्ते
बाढ़नामा  प्रशासनिक अधिकारियों से छीन-झपट
बाढ़नामा--अभी तो आगाज़ है
बाढ़नामा  मज़ाक चालू आहे
बाढ़  एक ऐसा सालाना तमाशा जिसके दर्शक हजारों में और झेलने वाले लाखों-करोड़ों में
बाढ़नामामुजफ्फरपुर से  आह आया बाढ़ का मौसम
मुमकिन तो यह भी है कि किसी सुबह चार गुंडे वंदेमातरम चिल्लाते हुए कफ़ील अहमद को मार डालें
वारेन हेस्टिंग्स का सांड  राष्ट्रपति की सुरक्षा में केवल राजपूत जाट और सिख मनुस्मृति संविधान कीओर पहला कदम