राजीव मित्तल
राजीव मित्तल

Email
twitter

राजीव मित्तल, वरिष्ठ पत्रकार हैं। कई बड़े समाचारपत्रों में संपादक रहे हैं।

56 महीने में कुछ बचा हो तो बचा लो
हमारी राष्ट्रवादी सरकार के पास पोलियो की दवा बांटने के लिए पैसे ही नहीं हैं
याद आयी आधी रात को --हेलो हेलो हेलो नागपुर मिल गया विकास
हाशिमपुरा के असल गुनहगार मायावती के खास रहे पूर्व आईपीएस को हथियार बनाकर भाजपा अब बसपा की ही जड़ खोदेगी
बालिका सुधारगृह में तैयार की जातीं देवदासियां
हिंदी पत्रकारिता पर विधवा विलाप का कोई अर्थ नहीं प्रभाष जोशी ने क्या कहा था सुनिये
बाजारू मीडिया में अश्वत्थामा पत्रकार
जीडीपी में ख़मीर उठाना अर्थात
नेहरू कश्मीर और कश्मीरियत को यहाँ से समझें
जानिए गांधी और भगत सिंह नेहरू के महत्व को बखूबी क्यों समझते थे