शमशाद इलाही शम्स
शमशाद इलाही शम्स

Email
twitter

शमशाद इलाही शम्स, लेखक कनाडा स्थित टिप्पणीकार हैं।

प्रेम की संवेदना के बिना क्रांति नहीं हो सकती मार्क्स ने जेनी के लिए 150 प्रेम कविताएं लिखीं
तुम्हारे धर्म की क्षय हो  धर्म को राजनीति से जोड़ने की कवायद का सिला भारत में तिलक को जाता है
माइनस छह डिग्री तापमान में कनाडा की सबसे बड़ी कॉफ़ी-चाय-नाश्ते-खाने की दुकान के सामने प्रदर्शन की ये है वजह
संगठित धर्म इक्कीसवीं सदी का नासूर है भले ही बौद्ध क्यों न हो
कनाडा के शिक्षा उद्योग के लिए दुधारू गाय हैं विदेशी छात्र
जब बुर्कों की जली थी होली उज़्बेकिस्तान में
इमरान खान बेहतर पाकिस्तान नहीं बना सकता - प्रो परवेज़ हूदभाई
औरत मर्द का रिश्ता भी आर्थिक प्रबंध से निर्धारित हो रहा इस दुश्चक्र को समझना भी जरूरी है और तोड़ना भी
पेरिस पर्यावरण संधि  डोनाल्ड ट्रम्प पर तुरंत दायर हो जनसंहार का मुकदमा
फलस्तीनी राजनीतिक कैदियों के संघर्ष को सलाम