Breaking News
Home / Kids Fashion / स्कूल में लाने से पहले जांच करें कि जानवर स्वस्थ हैं या नहीं
Health News

स्कूल में लाने से पहले जांच करें कि जानवर स्वस्थ हैं या नहीं

नई दिल्ली, 19 अगस्त 2019. स्कूल फिर से खुल चुके हैं और भारत में मानसून का मौसम चल रहा है। आधुनिक शिक्षा के विद्यालयों में कई शिक्षक बच्चों को सीखने में मदद करने के लिए कक्षा में पालतू जानवर रखना या जानवरों को कक्षा में लाना (Animals in Schools and Daycares) चुनते हैं। लेकिन ऐसा करने से बचना चाहिए। अमेरिकी स्वास्थ्य और मानव सेवा विभाग (U.S. Department of Health & Human Services) से संबद्ध रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) Centers for Disease Control and Prevention (CDC) की स्वस्थ पालतू जानवर और स्वस्थ लोगों की वेबसाइट  Healthy Pets, Healthy People पर उपलब्ध सामग्री के अनुसार –

पशु स्वच्छ और स्वस्थ दिख सकते हैं लेकिन ये अभी भी रोगाणु फैला सकते हैं। यह सुनिश्चित करें कि सभी जानवरों को स्थानीय और राज्य की आवश्यकताओं के अनुसार उपयुक्त और नियमित पशु चिकित्सा देखभाल प्राप्त है, और कुत्तों और बिल्लियों के लिए रेबीज टीकाकरण का प्रमाण है।

स्कूलों में जानवरों को लाने से पहले स्थानीय नियमों और साथ ही स्कूल की नीतियों की जांच करें।

यदि जानवर बीमार हो जाता है या मर जाता है, तो क्या करें

अपने पशु चिकित्सक से संपर्क करें।

एक बीमार जानवर को संभालते समय अतिरिक्त सावधानी बरतें क्योंकि एक बीमार या तनावग्रस्त जानवर हानिकारक कीटाणुओं का वाहक हो सकता है जो लोगों को बीमार कर सकता है या काट सकता है जिससे चोट लग सकती है या कीटाणु फैल सकते हैं।

पालतू जानवर की दुकान या ब्रीडर को पशु की बीमारी या मौत के बारे में जल्द से जल्द सूचित करें। उसी स्रोत से एक और पालतू जानवर खरीदने से पर पहले विचार करें फिर पहले इंतजार करें।

दूसरे जानवर के लिए पिंजरा पुन: उपयोग करने से पहले पिंजरे को साफ और कीटाणुरहित करें।

अगर जानवर किसी को काटता है तो क्या करें (If the animal bites someone) –

गर्म साबुन के पानी से घावों को तुरंत धोएं।

डॉक्टर को तत्काल दिखाएं यदि –

जानवर बीमार दिखाई देता है।

आपको पता नहीं है कि जानवर को रेबीज का टीका लगाया गया है या नहीं।

घाव गंभीर है।

घाव लाल, दर्दनाक, गर्म या सूज जाता है।

आपके टिटनस शॉट ( tetanus shot) के बाद से  5 साल से अधिक हो गया है।

About हस्तक्षेप

Check Also

News on research on health and science

फसलों की पैदावार के लिए चुनौती वर्षा में उतार-चढ़ाव

नई दिल्ली, 16 सितंबर 2019 : इस वर्ष देश के कुछ हिस्सों में सामान्य से …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: