कारगिल शहीद की बेटी के समर्थन में आए हरीश रावत

 

नई दिल्ली, 28 फरवरी। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कारगिल शहीद की बेटी और दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर के साथ खड़े होने की घोषणा करते हुए कहा है कि किसी लड़की को बलात्कार की धमकी देना निंदनीय और घृणित है।

श्री रावत ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर कई ट्वीट किए। उन्होंने कहा

“युवा शक्ति को राष्ट्रवाद के नाम पर भटकाने की कोशिश बेहद चिंताजनक है। हम सभी गुलमेहर के साथ हैं।“

उन्होंने कहा –

“किसी लड़की को बलात्कार की धमकी देना निंदनीय और घृणित है।“

एक अन्य ट्वीट में हरीश रावत ने भाजपा नेताओं पर हमला करते हुए कहा –

“देश का संविधान मुझे चुनाव आचार-संहिता के दौरान भी मुख्यमंत्री बने रहने का हक देता है। भाजपा नेताओं के चीखने-चिल्लाने से कुछ नहीं होगा।“

उन्होंने कहा –

“भाजपा के ऐसे लोग भी मुझ पर सवाल उठा रहे हैं, जिनके दामन पर दाग लगे हुए हैं। इन्हें पहले अपने गिरेबान में झांकना चाहिए।“

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
क्या मौजूदा किसान आंदोलन राजनीति से प्रेरित है ?