चुनाव 2017 > पंजाब
राष्ट्रीय पार्टी और प्रादेशिक नीतियां
राष्ट्रीय पार्टी और प्रादेशिक नीतियां

अवैध बूचड़खानों की बन्दी जरूरी थी तो राजस्थान मप्र गुजरात के लिए भी उतनी ही जरूरी क्यों नहीं ? किसानों की कर्ज़माफी केवल उप्र तक ही क्यों जबकि किसा...

वीरेन्द्र जैन
2017-04-04 08:36:29
चुनाव 2017  फासीवाद अब एक लक्षण नहीं रह गया है यह हमारे बीच में है
चुनाव 2017 : फासीवाद अब एक लक्षण नहीं रह गया है. यह हमारे बीच में है!

मीडिया ने भी ‘बखूबी’ अपना रोल निभाया. इस पर इतना कहना पर्याप्त होगा कि मीडिया एक व्यवसाय है, जिसका दोहरा चरित्र है. मुनाफे के आलावा यह प्रचार (खा...

अतिथि लेखक
2017-03-30 23:59:52
आंकड़ें बताते हैं देश में मोदी लहर नहीं 2019 में योगी मोदी की लाचारी हैं
आंकड़ें बताते हैं, देश में मोदी लहर नहीं, 2019 में योगी मोदी की लाचारी हैं

देश में मोदी लहर नहीं है। उल्टा  2019 के चुनाव में सत्ता विरोधी लहर की प्रवृत्ति का डर है। इसलिए  देश में लोकसभा में सबसे ज्यादा सांसद भेजने वाले...

अतिथि लेखक
2017-03-24 23:05:53
क्या ईवीएम के जरिए भी धांधली की जा सकती है
क्या ईवीएम के जरिए भी धांधली की जा सकती है?

जो सवाल मायावती और अरविंद केजरीवाल ने उठाए हैं, क्या वे महज़ हार की खीझ है, या उनमें दम भी है? अखिलेश यादव ने भी कहा है कि जब बात उठी है तो जांच ...

हस्तक्षेप डेस्क
2017-03-21 16:00:14
डॉ आंबेडकर की राजनीति राजनैतिक पार्टी एवं सत्ता की अवधारणा
डॉ. आंबेडकर की राजनीति, राजनैतिक पार्टी एवं सत्ता की अवधारणा

डॉ. आंबेडकर  ने कहा था, "मजदूरों के दो दुश्मन हैं- एक पूंजीवाद और दूसरा ब्राह्मणवाद. उन्हें इन से कभी भी समझौता नहीं करना चाहिए." परन्तु मायावती ...

अतिथि लेखक
2017-03-19 23:03:35
टेक सेवी मोदी की ढाई कदम की चाल से पस्त विपक्ष
टेक सेवी मोदी की ढाई कदम की चाल से पस्त विपक्ष

जब 2009 की हार के बाद जीवीएल नरसिम्हाराव इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के खिलाफ लेख लिखने, लाल कृष्ण आडवाणी इसके विरोध प्रदर्शन में व्यस्त थे, तो मोदी...

हस्तक्षेप डेस्क
2017-03-19 19:02:02
उत्तरप्रदेश  ज़रूरतों और सुरक्षा के लिए वोट
गोवा मणिपुर में भयानक राजनीतिक डाकेजनी
गोवा, मणिपुर में भयानक राजनीतिक डाकेजनी

जिस ‘नए भारत’ की नींव पड़ने का दावा किया है, उसमें राज्यपालों की मदद से और खरीद-फरोख्त के जरिए, ऐसे ही जनता के जनादेश पर पानी फेरा जा रहा होगा

राजेंद्र शर्मा
2017-03-19 18:32:38
मोदी लहर नहीं मूलत यह एंटी एस्टेब्लिशमेंट फैक्टर था
मोदी लहर नहीं मूलत: यह एंटी एस्टेब्लिशमेंट फैक्टर था,

मूलत: यह एंटी एस्टेब्लिशमेंट फैक्टर था। अगर ये मोदी लहर थी तो वह पंजाब में क्यों नहीं चली? अगर ये मोदी लहर थी तो मणिपुर, गोवा में उत्तर प्रदेश जै...

तेजवानी गिरधर
2017-03-18 00:58:20
उ प्र में भाजपा की जीत देखने का दूसरा कोण अनुपस्थित क्यों
उ. प्र, में भाजपा की जीत देखने का दूसरा कोण अनुपस्थित क्यों

राष्ट्रवाद का दम भरती पार्टी एक छोटे से राज्य में सरकार बनाने की जोड़तोड़ में देश की रक्षा की जिम्मेवारी के साथ समझौता कर लेती है।  

वीरेन्द्र जैन
2017-03-16 15:08:16
90 वोट से निराश न हो ईरोम शर्मिला कास्त्रो के साथी कुल 20 रह गए थे
90 वोट से निराश न हो ईरोम शर्मिला, कास्त्रो के साथी कुल 20 रह गए थे

90 वोट मिले ईरोम शर्मिला को, 90 कम नहीं होते। इन से बदलाव का सिलसिला शुरू किया जा सकता है। कास्त्रो के साथी कुल 20 रह गए थे।

अतिथि लेखक
2017-03-16 12:37:58
दो सालों में हमारे इस लोकतंत्र को डिक्टेटरशिप में बदल देगा हिंदुत्व के नाम पर ध्रुवीकरण
दो सालों में हमारे इस लोकतंत्र को डिक्टेटरशिप में बदल देगा हिंदुत्व के नाम पर ध्रुवीकरण

आप किस तरफ खड़े हैं, देश की तरफ या टुकड़े करने वालों की तरफ. अपने आपको राष्ट्रवादी मत कहियेगा, यह शब्द अपने मायने खो चुका है.लोकतंत्र के लिये आने...

अतिथि लेखक
2017-03-15 11:35:16
प्रगतिशील लेखक और कथित बुद्धिजीवी किसी काम के नहीं
प्रगतिशील लेखक और कथित बुद्धिजीवी किसी काम के नहीं

प्रगतिशील लेखक और कथित बुद्धिजीवी वास्‍तव में किसी काम के नहीं हैं। इन्‍हें चुनावी राजनीति का ककहरा तक समझ में नहीं आता....

अतिथि लेखक
2017-03-15 10:23:35
ईवीएमकासच उजागर करने वाले इंजी हरिप्रसाद को किसने भेजा था जेलआज वो कहाँ है
#ईवीएमकासच उजागर करने वाले इंजी हरिप्रसाद को किसने भेजा था जेल,आज वो कहाँ है?

BJP का बस चले तो EVM को देवत्व प्रदान कर उसे मंदिरों में शिवलिंग की तरह स्थापित करवा दे।

हस्तक्षेप डेस्क
2017-03-18 11:41:38
भाजपा को सपा-बसपा ने अपना दुश्मन माना ही न था
भाजपा को सपा-बसपा ने अपना दुश्मन माना ही न था

मैंने अधिकतर सपाइयों से पूछा था कि उनका पहला दुश्‍मन कौन है। सबका जवाब था- बसपा। वजह यह थी कि बसपा के राज में बेवजह यादवों पर एससी/एसटी ऐक्‍ट में...

अतिथि लेखक
2017-03-12 11:10:33
आगे त्रिपुरा और बंगाल की बारी है
आगे त्रिपुरा और बंगाल की बारी है

जाति धर्म के चुनावी समीकरण और मुक्तबाजारी धर्मनिरपेक्षता की राजनीति हिंदुत्व सुनामी पैदा करने में मददगार है। विधानसभाओं के नतीजे यही बताते हैं।

पलाश विश्वास
2017-03-13 14:09:29
यूपी चुनाव  सांप्रदायिक फासीवाद की खोखली चिंता
यूपी चुनाव : सांप्रदायिक फासीवाद की खोखली चिंता

दरअसल, सेकुलर नागरिक समाज की सांप्रदायिकता पर जताई जाने वाली चिंता खोखली है। सांप्रदायिकता विरोध की आड़ में वह अपने वर्ग-स्वार्थ की पूर्ति करता ...

डॉ. प्रेम सिंह
2017-03-08 20:49:00
चुनावी पंच - गधे चर गए मूलभूत मुद्दे और विकास
चुनावी पंच - गधे चर गए मूलभूत मुद्दे और विकास

इस बार भी सोशल मीडिया पर बाहुबली की मोदीजी वाली पिक्चर चर्चा में रही। लोग कह रहे हैं कि BJP को कटप्पा बताकर मोदी यूपी की अखिलेश सरकार को बाहुबली ...

हस्तक्षेप डेस्क
2017-03-03 22:47:44