Breaking News
Home / अरुण माहेश्वरी

अरुण माहेश्वरी

अरुण माहेश्वरी, प्रसिद्ध वामपंथी चिंतक हैं। वे हस्तक्षेप के सम्मानित स्तंभकार हैं।

कॉरपोरेट जगत के चौकीदार नाकारा मोदी ने देश को भारी संकट में डाल दिया है

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

चाकर रहसूं, बाग लगासूं नित उठ दर्शन पासूं। श्याम ! मने चाकर राखो जी ! कॉरपोरेट भक्त सरकार की आर्त विनती 19 सितंबर 2019 के दिन को भारतीय पूंजीवाद के …

Read More »

कॉरपोरेट के सामने मोदी जी की सारी हेकड़ी ढीली हो गई, चाबुक सिर्फ गरीब पर

Gautam Adani and Narendra Modi

भारत के कॉरपोरेट (Corporate of india) के सामने मोदी जी की सारी हेकड़ी ढीली हो गई है। पिछले कई दिनों से वित्त मंत्रालय में कॉरपोरेट के लोगों का जो ताँता …

Read More »

एनआरसी : भारत में न्याय का प्रहरी ही न्याय के अघटन का कारण साबित हो रहा

citizenship amendment bill 2019 NRC.jpg

नई दिल्ली के इंडियन सोसाइटी आफ़ इंटरनेशनल लॉ (Indian Society of International Law in New Delhi) में इसी 8 सितंबर को एक ‘जन पंचायत’ बैठी जिसमें असम में नागरिकता के …

Read More »

जब तक मोदी की सर्वाधिकारवादी राजनीति को पराजित नहीं किया जाता, डूबती जाएगी अर्थव्यवस्था

Gautam Adani and Narendra Modi

मोदी जी समझते हैं कि वे जितना कहते हैं, लोग उतना ही समझते हैं। कहने वाले और सुनने वाले के बीच दूसरे ऐसे अनेक अनुभव काम करते रहते हैं जो …

Read More »

प्रोफेसर रोमिला थापर का जाहिल शासकों द्वारा अपमान ज्ञान के जगत के अपमान से कम नहीं है

Professor Romila Thapar's books,

प्रोफ़ेसर रोमिला थापर (Professor Romila Thapar) से जेएनयू प्रशासन ने उनका सीवी, अर्थात् उनके अकादमिक कामों का लेखा-जोखा माँगा है ताकि वह उनको दिये गये प्रोफ़ेसर एमिरटस के पद पर …

Read More »

रिजर्व बैंक के रिजर्व कोष पर पंजा मारकर मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था की कब्र खोद दी

The Prime Minister, Shri Narendra Modi addressing the Nation on the occasion of 73rd Independence Day from the ramparts of Red Fort, in Delhi on August 15, 2019

रिजर्व बैंक के रिजर्व कोष पर सरकार का पंजा (Government’s paw on Reserve Bank’s Reserve Fund) : सरकार ने खुद को ही नि:स्व किया है रिजर्व बैंक से अंतत: एक …

Read More »

मोदी की तुगलकी नीतियों की देन है मंदी और डूबती अर्थव्यवस्था

Narendra Modi An important message to the nation

मंदी और राजनीति-शून्य आर्थिक सोच की विमूढ़ता Recession and Politics – Zero Economic Widening अति-उत्पादन पूँजीवाद के साथ जुड़ी एक जन्मजात व्याधि है। इसीलिये उत्पादन की तुलना में माँग हमेशा कम …

Read More »

मोदीजी की बेहाल अर्थनीति और जनता सांप्रदायिक विद्वेष और ‘राष्ट्रवाद’ का धतूरा पी कर धुत्त !

Narendra Modi new look

आर्थिक तबाही को सुनिश्चित करने वाला जन-मनोविज्ञान ! Public psychology that ensures economic destruction चुनाव में मोदी की भारी जीत लेकिन जनता में उतनी ही ज्यादा ख़ामोशी ! मोदी जीत …

Read More »

अमेरिकी आज भी अपनी जेब में चेकबुक रखता है और भारत में डिजिटल भुगतान (क्रिप्टो करेंसी) पर जोर !

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

क्रिप्टो करेंसी और राज्य Crypto currency and state देखते-देखते क्रिप्टो करेंसी (Crypto currency), अर्थात् तमाम राष्ट्रीय सरकारों की जद से मुक्त ऐसी सार्वलौकिक करेंसी के चलन पर विचार और क्रिया …

Read More »

स्वतंत्रता दिवस : हिटलरशाही के प्रतिरोध की राजनीति साधनी होगी

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

आज़ादी की 73वीं सालगिरह (73rd anniversary of independence) पर सभी मित्रों को हार्दिक बधाई । आज का दिन अपने देश की एकता और अखंडता के प्रति अपनी निष्ठा को दोहराने …

Read More »

मोदीजी उन्माद के बल पर राष्ट्र का निर्माण नहीं, सिर्फ विध्वंस ही किया जा सकता है, अरुण माहेश्वरी का पीएम को खत

Narendra Modi An important message to the nation

स्वतंत्रता दिवस से पहले प्रधानमंत्री जी के नाम एक खुला पत्र An open letter to the Prime Minister before Independence Day आदरणीय प्रधानमंत्री जी, कल रात हम काफी देर तक …

Read More »

क्या ये पुण्य प्रसून का संघी था, जो बाहर आ गया ?

Punya Prasun Bajpai

पुण्य प्रसून क्यों किसी ‘उद्धारकर्ता‘ के झूठे अहंकार में फंस रहे है ? —अरुण माहेश्वरी कल रात ही धारा 370 को हटाये जाने के बारे में पुण्य प्रसून वाजपेयी की …

Read More »

यह कश्मीर को भारत में मिलाने का नहीं, उससे अलग करने का निर्णय है

Narendra Modi new look

यह कश्मीर को भारत में मिलाने का नहीं, उससे अलग करने का निर्णय है कश्मीर संबंधी जो धाराएँ भारतीय जनतंत्र और संघीय ढाँचे का सबसे क़ीमती गहना थी, उन्हें उसके …

Read More »

मोदीराज में अर्थ-व्यवस्था के विध्वंस के लिये बारूद का व्यापक जाल बिछा दिया गया लगता है

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

वित्त सचिव सुभाष गर्ग (Finance Secretary Subhash Garg) को केंद्र में रख कर शुरू हुए विवादों का जो चारों ओर से भारी शोर सुनाई दे रहा है, वह इतना बताने …

Read More »

मोदी जी के संघी साथियों के दिमाग की उपज से हमारी अर्थ-व्यवस्था का गला घुट रहा है

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

सुभाष गर्ग गये, पर अर्थनीति का क्या ? कल ही सरकार के एक और प्रमुख आर्थिक सलाहकार, आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष गर्ग (Economic Affairs Secretary Subhash Garg) की बेहद …

Read More »

अर्थव्यवस्था के लिए संकट बन चुके हैं मोदी, जाने के पहले भारत की सार्वभौमिकता को बेच कर जायेंगे

Narendra Modi An important message to the nation

अर्थ-व्यवस्था के भारी संकट के लिये मोदी निजी तौर पर ज़िम्मेदार है आज भारत की समग्र राजनीतिक परिस्थितियाँ अनपेक्षित न होने पर भी कुछ अजीब सी बन चुकी है। वरिष्ठ …

Read More »

अरुंधति रॉय और डॉ. राम विलास शर्मा की आँखों से गांधी और अंबेडकर देखना

अरुंधति रॉय की किताब 'एक था डॉक्टर और एक था संत', (Arundhati Roy's book Ek Tha Doctor Ek Tha Sant)

विमर्शमूलक विखंडन और कोरी उकसावेबाजी में विभाजन की रेखा बहुत महीन होती है अरुंधति रॉय की किताब ‘एक था डॉक्टर और एक था संत‘, (Arundhati Roy’s book Ek Tha Doctor …

Read More »

बैंकिंग प्रणाली पर संकट और हमारी दिशाहीन सरकार

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

वित्त मंत्री और प्रधानमंत्री, दोनों पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से उनके घर पर जा कर मिलें। 5 जुलाई को बजट पेश होगा। इसके ठीक पहले मनमोहन सिंह से इनकी मुलाक़ात …

Read More »

भारतीय अर्थव्यवस्था : अमरीका देख रहा है भारत को वेनेज़ुएला बनाने की सारी सामग्री इकट्ठी हो चुकी हैं

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

भारतीय अर्थव्यवस्था और कुछ चिंताजनक सोच Indian economy and some worrisome thinking नई दिल्ली, 23 जून 2019 : भारत की अर्थव्यवस्था लगातार बिगड़ती जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक …

Read More »

शुद्ध रूप से एक विधवा की प्रेम कथा है, प्रणय-प्रेम गाथा है मनीषा कुलश्रेष्ठ का उपन्यास ‘मल्लिका’

Manisha Kulshreshtha's novel 'Mallika'

भारतेन्दु बाबू के प्रणय-प्रेम की एक कथा — ‘मल्लिका‘ आज मनीषा कुलश्रेष्ठ का हाल में प्रकाशित उपन्यास ‘मल्लिका’ (Manisha Kulshreshtha’s novel ‘Mallika’) पढ़ गया। मल्लिका, बंकिम चंद्र चटोपाध्याय की ममेरी …

Read More »

‘हिंदी, हिंदू, हिंदुस्तान’ : एक फासिस्ट और नाजी परिकल्पना, जिसने मनुष्यता को सिवाय तबाही और बर्बादी के कुछ नहीं दिया

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

हिंदी, हिंदू, हिंदुस्तान‘ की पूरी परिकल्पना (Whole hypothesis of ‘Hindi, Hindu, Hindustan‘) एक काल्पनिक और वैचारिक निर्मिति है। इसके मूल में है हिन्दू फासीवाद की विचारधारा (ideology of Hindu fascism)। …

Read More »

एक पूर्वाग्रह-ग्रस्त अव्यवस्थित विचार-बुद्धि के उदाहरण राम चंद्र गुहा

आज के टेलिग्राफ़ में रामचंद्र गुहा का लेख (Ramchandra Guha’s article in the Telegraph) है – ‘शाश्वत बुद्धिमत्ता’ (Timeless Wisdom)। इस लेख के मूल में है 14 वीं सदी के …

Read More »

मार्क्सवाद सर्वशक्तिमान है

Karl Marx

लेनिन ने मार्क्स के बारे में अपने प्रसिद्ध निबंध ‘मार्क्सवाद के तीन स्रोत तथा तीन संघटक तत्व’ (1913) में लिखा था कि “मार्क्स की प्रतिभा इस बात में निहित है …

Read More »

मार्क्सवादी प्रगतिशीलों की वैचारिक विक्षिप्तता : जातिवादी अस्मिताएँ पूंजीवाद के विरुद्ध कभी संघर्ष के मजबूत आधार नहीं बन सकतीं

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

बहुलता के हुड़दंगी परिदृश्य में से तानाशाही के सही प्रत्युत्तर की तलाश लखनऊ के हिंदी के आलोचक वीरेन्द्र यादव (Hindi critic Virendra Yadav) की फेसबुक टाइमलाइन पर 22 मई को …

Read More »

एग्जिट पोल के संकेत उनकी सच्चाई से कहीं ज़्यादा अवसादकारी हो सकते हैं

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

हमारे जैसे जिन सब लोगों ने यह उम्मीद लगाई थी कि इस बार के चुनाव में मोदी शासन से मुक्ति बिल्कुल संभव होगी, एग्जिट पोल (Exit Polls) से उन सबमें …

Read More »

2019 चुनावी परिदृश्य पर एक शुद्ध दार्शनिक चर्चा : मोदी की बुरी हार सुनिश्चित है

Why Modi Matters to Indias Divider in Chief

2019 चुनावी परिदृश्य पर एक शुद्ध दार्शनिक चर्चा (A pure philosophical discussion on the 2019 election scenario); परिस्थिति के जीवंत भेदाभेदमूलक स्वरूप में मोदी का कोई स्थान संभव नहीं है …

Read More »

विद्या-भंजकों का प्रदर्शन; यह बंगाल की अस्मिता पर भाजपा का हमला है

Chittorgarh: BJP chief Amit Shah addresses during a public meeting in Chittorgarh, Rajasthan, on Dec 3, 2018

कल अमित शाह (Amit Shah) जब मध्य कोलकाता के धर्मतल्ला (Dharmatullah of central Kolkata) से उत्तरी कोलकाता में विवेकानंद के निवास (residence of Vivekananda in North Kolkata) तक ‘जय श्री …

Read More »

गुंडई के बल पर बंगाल विजय का दिवस्वप्न देख रही भाजपा बुरी तरह से फँस गई है, खाता भी न खुलेगा

Why Modi Matters to Indias Divider in Chief

बंगाल में चुनाव पर एक सामान्य चर्चा A general discussion on election in Bengal –अरुण माहेश्वरी बंगाल में चुनाव के परिणामों (Election results in Bengal) के बारे में लिखने की …

Read More »

हताश मोदी भाजपा के बुरे दिनों का संकेत देने लगे हैं

Narendra Modi An important message to the nation

प्रसिद्ध मनोविश्लेषक जॉक लकान (French psychoanalyst Jacques Lacan) ने आदमी में हताशा की गति ( Dialectics of Frustration) का एक चार्ट बनाया था जिसमें बताया गया था कि किसी में …

Read More »

भारतीय राजनीति से मोदी की अंतिम विदाई का चुनाव होगा 2019

Narendra Modi An important message to the nation

पेशेवर राजनीतिक विश्लेषणों (Professional political analyzes) की समस्या है कि वे समग्र राजनीतिक परिदृश्य (Overall political scenario) में अलग-अलग ताक़तों की पृथक उपस्थिति को देखने पर इतना अधिक बल देने …

Read More »

एक अशिक्षित नेतृत्व से भारत को मुक्त करने का समय आ गया है

Narendra Modi An important message to the nation

आदमी के गठन में उसके इर्द-गिर्द के लोगों की उससे की जाने वाली अपेक्षाओं की बड़ी भूमिका होती है। आतंकवादियों की सोहबत (organization of terrorists) में रहने वाला आदमी हमेशा …

Read More »

चौथे राउंड के बाद चुनाव परिणामों के सटीक अनुमान का एक सूत्र जो ऑटिज्म पीड़ित चौकीदार को कर देगा बेहोश !

Narendra Modi An important message to the nation

लोकसभा चुनाव 2019 : चुनावी परिदृश्य पर एक सोच दिन रात खुद ही मोदी-मोदी (Modi-Modi) रटने वाले आत्म-मुग्ध मोदी (Self-enchanted Modi) इतने आत्मलीन हो गये हैं कि उनमें बाकी दुनिया …

Read More »

आज की ये 4 बड़ी खबरें जिन्हें पढ़कर कोई भी भला आदमी सिहर उठेगा कैसे मोदी ने पूरे भारत को सड़ा दिया है

Narendra Modi An important message to the nation

भारत की अभी क्या स्थिति है (What is the situation of India), इसे आज के ‘टेलिग्राफ़’ (Telegraph India) की ख़बरों से जाना जा सकता है। चारों ओर झूठ और धोखाधड़ी …

Read More »

साफ़ दिखाई देने लगी है मोदी की पराजय… मोदी की सूरत बदहवासी में कैसी दिखाई देने लगी है !

Narendra Modi An important message to the nation

 जिस बात का दो साल पहले ही अनुमान लगाया जा सकता था कि अब फिर मोदी के लौट कर आने की संभावना नहीं रही है, समय बीत चुका है, वह …

Read More »

कुछ भी कर लो, 2019 में मोदी की हार मुमकिन ही नहीं सुनिश्चित है

Narendra Modi new look

फेसबुक (Facebook) पर मित्र शम्भुनाथ शुक्ल (Shambhunath Shukla) जी ने ‘नया इंडिया’ (Naya India) अखबार में वरिष्ठ पत्रकार हरिशंकर व्यास (senior journalist Harishankar Vyas) की एक लंबी टिप्पणी यह कहते …

Read More »

आरबीआई और जेटली विवाद : जरूरत है अर्थनीति के पूरे सोच को समस्याग्रस्त बनाने की

Arun Jaitley,

आरबीआई और जेटली विवाद : जरूरत है अर्थनीति के पूरे सोच को समस्याग्रस्त बनाने की -अरुण माहेश्वरी रिजर्व बैंक और सरकार के बीच वाक् युद्ध का एक नया नाटक शुरू …

Read More »

चुनावी मोड में मोदी : अब उनकी गांठ में झूठ और कुछ और जुमलों के अलावा कुछ बचा नहीं

Election Mode Modi chunavi mod men Arun Maheshwari चुनावी मोड में मोदी : अब उनकी गांठ में झूठ और कुछ और जुमलों के अलावा कुछ बचा नहीं

चुनावी मोड में मोदी : अब उनकी गांठ में झूठ और कुछ और जुमलों के अलावा कुछ बचा नहीं ‘चुनावी मोड‘ में जनतंत्र-प्रेमियों का दायित्व —अरुण माहेश्वरी कल ही ‘एबीपी …

Read More »

फिर पाकिस्तान की शरण में भाजपा-आरएसएस ! जिन्ना ने एक पाकिस्तान बनाया ये भारत के टुकड़े-टुकड़े करके छोड़ेंगे

Asylum of Pakistan BJP RSS in shelter of Pakistan

अरुण माहेश्वरी जब भी कोई महत्वपूर्ण चुनाव आता है, भाजपा-आरएसएस के लोग भारत को छोड़ पाकिस्तान पर पिल पड़ते हैं। पैसठ साल पहले आरएसएस के बारे में अमेरिकी अध्येता जे …

Read More »

समय जैसा है, उसे ही लिखा जाए….संदर्भ प्रेमचंद का प्रयाण दिवस

Munshi Premchand

(प्रेमचंद की तत्वमीमांसा और लेखक के पुनर्संदर्भीकरण की ज्ञान मीमांसा ) प्रेमचंद का प्रयाण दिवस पर विशेष अरुण माहेश्वरी उपन्यास सम्राट प्रेमचंद : 1880 में जन्म ; 20वीं सदी के …

Read More »

#DeMonetisation – गहरी मंदी आयेगी, मंदी का अर्थ उस अनुपात में अर्थ-व्यवस्था की हत्या

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

#DeMonetisation – गहरी मंदी आयेगी, और मंदी का अर्थ ही है उस अनुपात में अर्थ-व्यवस्था की हत्या पी चिदंबरम ने बिल्कुल सही कहा है कि नये नोट छापने में जो …

Read More »