Home / समाचार / देश / भाजपा के अफवाह सिस्टम में फंसकर किसानों ने वोट तो दे दिया अब कर रहे आत्महत्या
भाजपा के अफवाह सिस्टम (BJP's rumor system) में फंसकर किसानों ने वोट तो दे दिया, लेकिन भाजपा की नीतियों के कारण अब तक लाखों किसान आत्महत्या (farmers' suicides) कर चुके हैं।

भाजपा के अफवाह सिस्टम में फंसकर किसानों ने वोट तो दे दिया अब कर रहे आत्महत्या

बाराबंकी, 29 जून 2019. ऑल इण्डिया किसान सभा (All India Kisan Sabha) के महामंत्री व पूर्व विधायक राजेन्द्र यादव ने कहा है कि भाजपा के अफवाह सिस्टम (BJP’s rumor system) में फंसकर किसानों ने वोट तो दे दिया, लेकिन भाजपा की नीतियों के कारण अब तक लाखों किसान आत्महत्या (farmers’ suicides) कर चुके हैं।

श्री यादव ऑल इण्डिया किसान सभा की राज्य परिषद के दूसरे दिन की बैठक को सम्बोधित कर कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि राजेन्द्र यादव आगामी 11 जुलाई को योगी और मोदी की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदेश भर के किसान धरना, अनशन, प्रदर्शन व चक्का जाम करेंगे।

प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेश त्रिपाठी ने कहा कि किसानों को धार्मिक अफवाह बाजी से बचाने की जरूरत है।

वरिष्ठ अधिवक्ता रणधीर सिंह सुमन ने किसान सभा के प्रतिनिधियों से वादा किया कि वह किसान संघर्षों में हमेशा उनके साथ रहेंगे और लोकसंघर्ष पत्रिका उनके आन्दोलन को बढ़ावा देने के लिए समय-समय पर किसान सभा के समर्थन में विशेषांक प्रकाशित करेगी।

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष इम्तियाज बेग ने कहा कि 4 अगस्त से 28 अगस्त तक पूरे प्रदेश में सेमिनार, गोष्ठी व जनसभाएं कर योगी-मोदी की किसान विरोधी नीतियों का पर्दाफाश किया जायेगा।

राज्य परिषद को जयशंकर सिंह, राम कुमार भारती, छीतर सिंह, शास्त्री प्रसाद त्रिपाठी, अशोक तिवारी, देवेन्द्र मिश्रा, सुभाष पटेल, राम नारायन सिंह, अखिलेश राय, दीनानाथ त्रिपाठी, फूलमती, विनय कुमार सिंह आदि प्रमुख किसान नेताओं ने सम्बोधित किया।

राज्य परिषद की बैठक में 32 जिलों के किसान नेताओं ने हिस्सा लिया।

बृजमोहन वर्मा ने  किसान सभा प्रतिनिधियों का बाराबंकी आने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।

About हस्तक्षेप

Check Also

Health News

सोने से पहले इन पांच चीजों का करें इस्तेमाल और बनें ड्रीम गर्ल

आजकल व्यस्त ज़िंदगी (fatigue life,) के बीच आप अपनी त्वचा (The skin) का सही तरीके से ख्याल नहीं रख पाती हैं। इसका नतीजा होता है कि आपकी स्किन रूखी और बेजान होकर अपनी चमक खो देती है। आपके चेहरे पर वक्त से पहले बुढ़ापा (Premature aging) नजर आने लगता है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: