Breaking News
Home / समाचार / दुनिया / “साइलेंट किलर” उच्च रक्तचाप को ऐसे करें काबू
Heart

“साइलेंट किलर” उच्च रक्तचाप को ऐसे करें काबू

उच्च रक्तचाप को कभी-कभी “साइलेंट किलर” कहा जाता है, क्योंकि इसमें आमतौर पर कोई चेतावनी के संकेत नहीं होते हैं, फिर भी यह दिल के दौरे या स्ट्रोक जैसी जानलेवा स्थितियों को जन्म दे सकता है। अच्छी खबर यह है कि उच्च रक्तचाप, या हायपरटेंशन को अक्सर रोका जा सकता है या इलाज किया जा सकता है।

Blood Pressure Matters : Keep Hypertension in Check

समय से निदान और सरल व स्वस्थ परिवर्तन उच्च रक्तचाप को आपके स्वास्थ्य को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाने से रोक सकते हैं।

सामान्य रक्त प्रवाह आपके शरीर के सभी हिस्सों (जिसमें आपके दिल, मस्तिष्क और गुर्दे जैसे महत्वपूर्ण अंग शामिल हैं) में पोषक तत्व और ऑक्सीजन पहुंचाता है।

आपका धड़कता हुआ दिल आपकी रक्त वाहिकाओं (दोनों बड़े और छोटे) के विशाल नेटवर्क के माध्यम से रक्त को धक्का देने में मदद करता है।

आपकी रक्त वाहिकाएं, बदले में, लगातार समायोजित होती रहती हैं। वे आपके रक्तचाप को नियंत्रित रखने और रक्त प्रवाह की स्वस्थ दर बनाए रखने के लिए संकुचित या चौड़ी हो जाती हैं।

प्रत्येक दिन आपके रक्तचाप का ऊपर और नीचे जाना सामान्य बात है। रक्तचाप, दिन के समय, व्यायाम, आपके द्वारा खाए जाने वाले भोजन, तनाव और अन्य कारकों से प्रभावित होता है। हालांकि, समस्याएं पैदा हो सकती हैं, अगर आपका रक्तचाप बहुत अधिक समय तक उच्च रहता है।

उच्च रक्तचाप आपके दिल के काम को बहुत मुश्किल कर सकता है और ताकत खो सकता है। रक्त प्रवाह की उच्च शक्ति आपकी रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकती है, जिससे वे कमजोर, कठोर या संकुचित हो सकती हैं।

समय के साथ, उच्च रक्तचाप आपके दिल, गुर्दे, मस्तिष्क और आंखों सहित कई महत्वपूर्ण अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है।

तुलन विश्वविद्यालय में उच्च रक्तचाप और गुर्दे की बीमारी के विशेषज्ञ डॉ. पॉल व्हेल्टन (Dr. Paul Whelton, an expert in hypertension and kidney disease at Tulane University), कहते हैं कि “उच्च रक्तचाप दुनिया भर में मृत्यु और विकलांगता के लिए एक प्रमुख जोखिम कारक है।”

वह कहते हैं कि “उच्च रक्तचाप से दिल का दौरा, हृदयाघात, स्ट्रोक, या गुर्दे की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।”

कोई भी, यहां तक कि बच्चों में भी, उच्च रक्तचाप हो सकता हैं। लेकिन उच्च रक्तचाप का जोखिम उम्र के साथ बढ़ता है।

व्हेलटन कहते हैं कि “एक बार जब लोग अपने 60 के दशक में होते हैं, तो लगभग दो-तिहाई आबादी उच्च रक्तचाप से प्रभावित होती है”।

अधिक वजन या उच्च रक्तचाप का पारिवारिक इतिहास होना भी आपके लिए उच्च रक्तचाप का जोखिम बढ़ाता है।

रक्तचाप को 2 संख्याओं के रूप में दिया जाता है। पहली संख्या जब आपका हृदय धड़कता है तो आपके रक्त वाहिकाओं में दबाव को बताती है (जिसे सिस्टोलिक दबाव systolic pressure कहा जाता है)।

दूसरी संख्या वह दबाव होती है जो आपके दिल को आराम देता है और पुनः रक्त से भरता है (डायस्टोलिक दबाव diastolic pressure)

विशेषज्ञ आम तौर पर इस बात पर सहमत हैं कि सबसे सुरक्षित रक्तचाप – या “सामान्य” रक्तचाप – 120/80 या उससे कम होता है, जिसका अर्थ है सिस्टोलिक रक्तचाप 120 या उससे कम और डायस्टोलिक दबाव 80 या उससे कम।

NIH के डॉ. लॉरेंस फाइन,  जो उच्च रक्तचाप के उपचार और रोकथाम पर अनुसंधान की निगरानी करते हैं, कहते हैं कि 140/90 से ऊपर के औसत रक्तचाप को हायपरटेंशन के रूप में परिभाषित किया जाता है।

चूंकि रक्तचाप दिन-प्रतिदिन व्यापक रूप से भिन्न हो सकता है, इसलिए उच्च रक्तचाप का निदान आमतौर पर दो या अधिक बार पर औसतन दो या अधिक रीडिंग पर आधारित होता है।

यदि आपका रक्तचाप “सामान्य” और “उच्च रक्तचाप” के बीच में आता है, तो इसे कभी-कभी प्रि-हाइपरटेंशन (prehypertension) कहा जाता है।

प्रि-हाइपरटेंशन वाले लोगों में हाइपरटेंशन विकसित होने की आशंका अधिक रहती है, यदि वह इसका उचित इलाज नहीं करते हैं, या सावधानी नहीं बरतते हैं।

व्हेल्टन कहते हैं कि उच्च रक्तचाप को आहार, वजन घटाने और शारीरिक गतिविधि के माध्यम से रोक सकते हैं। वह कहते हैं कि “हम इसका इलाज भी कर सकते हैं, और हम इसका प्रभावी ढंग से इलाज कर सकते हैं।”

यदि आपमें उच्च रक्तचाप का निदान किया गया है, तो आपका डॉक्टर एक उपचार योजना लिखेगा। आपको जीवन शैली में स्वस्थ बदलाव करने की सलाह दी जाएगी। आपको दवाएं लेने की भी आवश्यकता हो सकती है। उपचार का लक्ष्य आपके रक्तचाप को कम करना है ताकि अधिक गंभीर समस्याओं से बचा जा सके।

स्वस्थ रक्तचाप के लिए क्या करें

स्वस्थ वजन रखें। अपने डॉक्टर से पूछें कि क्या आपको वजन कम करने की आवश्यकता है।

शारीरिक रूप से सक्रिय रहें। सप्ताह के अधिकांश दिनों में कम से कम 30 मिनट तक चलें।

स्वस्थ आहार खाएं। सब्जियों, फलों, साबुत अनाज, और कम वसा वाले डेयरी और संतृप्त वसा और कम शक्कर खाने की योजना चुनें।

नमक के सेवन में कटौती करें। अधिकांश नमक प्रसंस्कृत भोजन (जैसे सूप और बेक्ड फूड) से आता है।

यदि शराब का सेवन करते हों तो कम मात्रा में करें। पुरुषों को एक दिन में 2 से अधिक पेय नहीं चाहिए; और महिलाएं दिन में 1 पेय से अधिक नहीं पिएं।

धूम्रपान न करें। धूम्रपान हृदय रोग, स्ट्रोक और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के लिए जोखिम को बढ़ाता है।

रात की नींद अच्छी लें। अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपको बताया गया है कि आप खर्राटे लेते हैं या आवाज करते हैं, जैसे कि आप सोते समय सांस रोकते हैं – यह स्लीप एप्निया के संभावित संकेत हो सकते हैं।

स्लीप एपनिया का इलाज करने (Treating sleep apnea) और रात में अच्छी नींद लेने से रक्तचाप को कम करने में मदद मिल सकती है।

डॉक्टर जो बताएं वह दवाएं लें। यदि आपको अपने रक्तचाप को कम करने के लिए दवाओं की आवश्यकता है, तो आपको अभी भी ऊपर वर्णित जीवनशैली में बदलाव करना चाहिए।

नोट – यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई अव्यावसायिक रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें।)

जानकारी का स्रोत – अमेरिकी स्वास्थ्य और मानव सेवा विभाग से संबद्ध, राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान (National Institutes of Health), का न्यूजलैटर news in health ।

Topics – Hypertension in Hindi, High BP control, हाई ब्लड प्रेशर,

About हस्तक्षेप

Check Also

Markandey Katju Arnab Goswami Baba Ramdev

जस्टिस काटजू ने अरणब गोस्‍वामी और रामदेव की डाली तस्वीर, तो आए मजेदार कमेंट्स

जस्टिस काटजू ने अरणब गोस्‍वामी और रामदेव की डाली तस्वीर, तो आए मजेदार कमेंट्स नई …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: