Breaking News
Home / हस्तक्षेप / आपकी नज़र

आपकी नज़र

येदियुरप्पा, रेड्डी बंधुओं, शिवराज, हिमंता, मुकुल राय और ‘निशंक’ से डरती हैं सीबीआई और ईडी ?

CBI

नई दिल्ली। पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद भाजपा और उसके समर्थक ऐसा हल्ला मचा रहे हैं जैसे मोदी सरकार अब सब भ्रष्टाचारियों को जेल में डाल …

Read More »

वाह मोदीजी वाह, जो स्वायत्तता नागालैंड के लिए दवा, वही कश्मीर के लिए जहर हो गयी?

Amit Shah Narendtra Modi

अचरज नहीं कि मोदी-शाह जोड़ी के संविधान की धारा-370 (Article 370 of the constitution) को व्यावहारिक मायनों में खत्म ही कर देने की धमक, सुदूर उत्तर-पूर्व के राज्यों में और …

Read More »

मोदी की तुगलकी नीतियों की देन है मंदी और डूबती अर्थव्यवस्था

Narendra Modi An important message to the nation

मंदी और राजनीति-शून्य आर्थिक सोच की विमूढ़ता Recession and Politics – Zero Economic Widening अति-उत्पादन पूँजीवाद के साथ जुड़ी एक जन्मजात व्याधि है। इसीलिये उत्पादन की तुलना में माँग हमेशा कम …

Read More »

मोदीजी की बेहाल अर्थनीति और जनता सांप्रदायिक विद्वेष और ‘राष्ट्रवाद’ का धतूरा पी कर धुत्त !

Narendra Modi new look

आर्थिक तबाही को सुनिश्चित करने वाला जन-मनोविज्ञान ! Public psychology that ensures economic destruction चुनाव में मोदी की भारी जीत लेकिन जनता में उतनी ही ज्यादा ख़ामोशी ! मोदी जीत …

Read More »

खेती के लिये जीरो बजट : उन्हें गांधी समझना मुश्किल, जिन्होंने स्वदेशी को तिलांजलि देकर गांधी से मतलब केवल सफाई में देखा

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

‘जीरो बजट खेती’ जिसका नामकरण अब सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती हुआ है, आज पूरे देश में चर्चा का विषय बनी है। खेती के लिये यह एक अच्छा संकेत है। समाज …

Read More »

स्वप्निल का संसार और उसमें ब्रह्मराक्षस की ताकाझांकी

Jaisa Maine Jeevan dekha स्वप्निल श्रीवास्तव की कविताओं की समीक्षा

स्वप्निल को कभी स्वप्न में भी ख़याल नहीं रहा होगा कि खूंखार कवि अनिल जनविजय के रहते मुझ सा नौसिखिया उनकी कविताओं की समीक्षा लिख मारेगा और उसकी धज कुछ …

Read More »

मोदी को बधाई हो ! ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री बंदी के कगार पर, अर्थव्यवस्था चौपट

Narendra Modi An important message to the nation

पीएम मोदी की कृपा से राम युग में (कारखाने बंद) लौट रहा है भारत ! अभी कारखाने बंद हो रहे हैं! ऑटोमोबाइल बंदी के कगार पर है। मनमोहन सिंह रामयुग …

Read More »

डरना किसी से भी नहीं, गुरू से भी नहीं, मंत्र से भी नहीं, लोक से भी नहीं वेद से भी नहीं – आचार्य हजारीप्रसाद द्विवेदी

Acharya Hazari Prasad Dwivedi

आज आचार्य हजारीप्रसाद द्विवेदी (Acharya Hazari Prasad Dwivedi) का जन्मदिन है- काशी की संस्कृति – विद्वत्ता और कुटिल दबंगई विश्वनाथ त्रिपाठी ने ‘व्योमकेश दरवेश’ में काशी के बारे में लिखा …

Read More »

कहीं अकेले न पड़ जाएं भूपेश बघेल, आज भी सोया हुआ है ओबीसी समाज

Bhupesh Baghel. (File Photo: IANS)

पिछले दिनों छत्तीसगढ़ में अन्य पिछड़ा वर्ग समाज का आरक्षण (Reservation of Other Backward Classes Society in Chhattisgarh) 14% से बढ़ाकर दोगुना 27% कर दिया गया। भूपेश बघेल मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ …

Read More »

कहीं पर निगाहें कहीं पर निशाना – यह राजनीति है या कूटनीति

Amit Shah Narendtra Modi

रामकथा का कथानक ऐसा कथानक है जिस पर लगभग तीन सौ रचनाएं लिखी गयी हैं जो सभी अनूठी हैं। यही कारण है कि राष्ट्रकवि मैथिली शरण गुप्त जिन्होंने खड़ी बोली …

Read More »

समाज की ‘फ्रोजन स्टेट’ को तोड़ने के लिए थिएटर ऑफ़ रेलेवंस’

Rajgati Theater of Relevance

समाज की ‘फ्रोजन स्टेट’ को तोड़ने के लिए थिएटर ऑफ़ रेलेवंस’ (Theater of Relevance to break the ‘frozen state’ of society) अपनी कलात्मकता से विवेक की मिटटी में विचार का …

Read More »

2014 की सार्क “हग डिप्लोमेसी” और बिम्सटेक से अक्षय ऊर्जा की उम्मीदें

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

वर्ष 2014 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यभार संभाला था तब उन्होंने अपने शपथ ग्रहण समारोह (Prime Minister Narendra Modi’s swearing in ceremony) में “हग डिप्लोमेसी” (Hug Diplomacy) के …

Read More »

अनुच्छेद 370 : संसद में हुआ भारत के संविधान का चीर हरण, सर्वोच्च न्यायालय से ही आस

Article 370

कश्मीरी जनता ही नहीं संवैधानिक प्राविधानों पर भी कुठाराघात किया गया है मोदी सरकार के इस क़दम से न केवल राज्य सरकारों बल्कि खुद राज्यों के वजूद पर ही प्रश्न …

Read More »

भारतीय राजनीति की बिसात पर गौमाता : हिन्दू और जैनी हैं देश के सबसे बड़े बीफ एक्सपोर्टर

COW

भारतीय राजनीति की बिसात पर गौमाता : हिन्दू और जैनी हैं देश के सबसे बड़े बीफ एक्सपोर्टर, Gaumata on the chessboard of Indian politics : Dr. Ram Puniyani’s article in Hindi …

Read More »

अमेरिकी आज भी अपनी जेब में चेकबुक रखता है और भारत में डिजिटल भुगतान (क्रिप्टो करेंसी) पर जोर !

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

क्रिप्टो करेंसी और राज्य Crypto currency and state देखते-देखते क्रिप्टो करेंसी (Crypto currency), अर्थात् तमाम राष्ट्रीय सरकारों की जद से मुक्त ऐसी सार्वलौकिक करेंसी के चलन पर विचार और क्रिया …

Read More »

कविता और राजनीति का अपने साहित्य में विलक्षण संबंध स्थापित किया खूब लड़ी मर्दानी वाली सुभद्रा कुमारी चौहान ने

Jagadishwar Chaturvedi

आज है खूब लड़ी मर्दानी वो तो झाँसी वाली रानी थी, की सुभद्रा कुमारी चौहान का जन्मदिन हिन्दी आलोचकों में मुक्तिबोध के अलावा किसी बड़े समीक्षक ने सुभद्राकुमारी चौहान पर …

Read More »

भगत सिंह ने जवाहरलाल नेहरू को अपना नेता क्यों माना? सुभाषचंद्र बोस ने महात्मा गांधी को ”राष्ट्रपिता” का संबोधन क्यों दिया?

happy Independence Day

स्वाधीनता और जनतंत्र का रिश्ता Relation of freedom and democracy आज हम आज़ादी के बहत्तर साल पूरे कर स्वाधीन मुल्क के तिहत्तरवें वर्ष में पहला कदम रख रहे हैं। इस मुबारक …

Read More »

मोदी-शाह ब्रांड की मार अकेले मुस्लिम नहीं, बहुसंख्यक भी झेल रहे हैं

Amit Shah Narendtra Modi

मोदी-शाह ब्रांड की काट सभी पीड़ितों को एक करने में है युवा, किसान, मजदूर, दलित, आदिवासी, महिलाओं किसी के लिए मोदी-शाह के पास ना तो कोई एजेंडा था और ना …

Read More »

स्वतंत्रता दिवस : विभाजन की पीड़ा और कोलकाता

Jagadishwar Chaturvedi

कोलकाता कुछ मामले में असामान्य शहर है। इस शहर ने जितनी राजनीतिक उथल-पुथल झेली है, वैसी अन्य किसी शहर ने नहीं झेली। यह अकेला शहर है जिसने दो बार भारत …

Read More »

मोदी जी ने सही कहा वे समस्याएं न टालते हैं, न पालते हैं, बल्कि समस्याओं को देश पर लादते हैं

The Prime Minister, Shri Narendra Modi addressing the Nation on the occasion of 73rd Independence Day from the ramparts of Red Fort, in Delhi on August 15, 2019

मोदी जी ने सही कहा वे समस्याएं न टालते हैं, न पालते हैं, बल्कि समस्याओं को देश पर लादते हैं। समस्याओं से वे देश को जोड़कर नहीं देखते, वे तो …

Read More »

स्वतंत्रता दिवस : हिटलरशाही के प्रतिरोध की राजनीति साधनी होगी

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

आज़ादी की 73वीं सालगिरह (73rd anniversary of independence) पर सभी मित्रों को हार्दिक बधाई । आज का दिन अपने देश की एकता और अखंडता के प्रति अपनी निष्ठा को दोहराने …

Read More »

स्वतंत्रता दिवस : आजादी की लड़ाई से प्रेरणा लेने की जरूरत सिर्फ बहुजनों को ही क्यों!

H L Dusadh -एच.एल.दुसाध (लेखक बहुजन डाइवर्सिटी मिशन के राष्ट्रीय आध्यक्ष हैं.)

1947 में आज ही के दिन अर्द्धरात्रि में कांग्रेसी पंडित जवाहर लाल नेहरू (Pandit Jawaharlal Nehru) ने अंग्रेजों से भारत की आजादी (India’s independence from the British) की घोषणा की …

Read More »

भारत की अर्थ-व्यवस्था को डुबाने में मोदी सरकार की विदेश नीति का बड़ा योगदान

Narendra Modi new look

विदेश नीति और हमारा आर्थिक संकट Foreign policy and our economic crisis नोटबंदी की तरह के घनघोर मूर्खतापूर्ण क़दम के अलावा भारत की अर्थ-व्यवस्था को डुबाने में मोदी सरकार की …

Read More »

कांग्रेस का परिवारवाद : ऐतराज भी, अनिवार्यता भी

congress

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में बुरी तरह से पराजित होने के बाद नैतिकता के आधार पर राहुल गांधी के अध्यक्ष पद छोड़ने के पश्चात काफी दिन बाद …

Read More »

श्यामा प्रसाद मुखर्जी भारत छोड़ो आंदोलन में अंग्रेजों का साथ दे रहे थे

syama prasad mukherjee in hindi

आजादी के विरोधी (anti-independence) और अंग्रेजी हुकूमत के पैरोकार (advocates of English rule) देशभक्त (patriot) नहीं गद्दार (traitor) हैं नई दिल्ली। आज की तारीख में उन क्रांतकारियों की आत्मा रो …

Read More »

धारा 370 का गला घोंट कर आरएसएस/भाजपा ने सरदार पटेल को किया शर्मसार : जानिए समकालीन सरकारी दस्तावेज़ों में निहित सच

भारत के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल (First Home Minister of India, Sardar Vallabhbhai Patel)

आरएसएस के बौद्धिक शिविरों (वैचारिक प्रशिक्षण शिविरों) में गढ़े जाने वाले “सत्य” में से एक यह भी है कि भारत पर अनुच्छेद 370 (Article 370) को पं. जवाहरलाल नेहरू (Pt. …

Read More »

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की सरकार ने संसद का उपयोग कर जम्मू व कश्मीर में सेना लगा कर लोकतंत्र खत्म कर दिया

Sandeep Pandey मैगसेसे पुरस्कार विजेता डॉ. संदीप पाण्डेय

जम्मू व कश्मीर की त्रासदी The tragedy of Jammu and Kashmir जम्मू व कश्मीर (Jammu and Kashmir) में जो किया गया है वह अप्रत्याशित है। बिना जम्मू व कश्मीर के एक …

Read More »

कश्मीर पर पैशाचिक अट्टहास : विभाजन की इस अंतहीन प्रक्रिया में खुद को आप जिस छोर पर देखते हैं

Madhuvan Dutt Chaturvedi मधुवन दत्त चतुर्वेदी लेखक वरिष्ठ अधिवक्ता हैं।

काश्मीर पर ! ठीक नोटबन्दी की तरह, अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक निर्णय है। देश के संघीय स्वरुप पर चोट भी है। ठीक नोटबन्दी की तरह, तानाशाही सनक का नतीजा है यह …

Read More »

क्रांति का सेंसेक्स : आजाद की मां दो रोटी को तरसे और मंगल पांडे बनने के लिए आमिर ने आठ करोड़ लिए

Rajeev mittal राजीव मित्तल, लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं।

क्रांति का सेंसेक्स : जब मुजफ्फरपुर में खुदीराम बोस को याद किया था अपने ही अखबार में बारह नंबर पेज पर जा रही खबरसे पता चला कि अस्सी साल पहले …

Read More »

तथ्य : सरदार पटेल 370 का प्रस्ताव लेकर आए, पंडित नेहरू विदेश में थे और श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने समर्थन किया

Article 370

सारा खेल पॉलिटिकल परसेप्शन (Political perception,) का है, और देश की बहुसंख्यक आबादी इस वक्त सत्ता के परसेप्शन गेम में पूरे तरीके से उलझी हुई है। इसे एक उदाहरण से …

Read More »

राष्ट्र के नाम संबोधन : प्रधानमंत्री ने जो नहीं कहा… वो जो सरकार के लिए दुर्भाग्यपूर्ण और देश के लिए अपशकुन है

Prime Ministers address to the nation

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आधे घंटे से कुछ ज्यादा ही समय तक राष्ट्र को संबोधित किया (Prime Minister’s address to the nation) लेकिन देश यह समझने में असफल रहा कि …

Read More »

टीपू सुल्तान : नायक या खलनायक?

Tipu Sultan

हाल में कर्नाटक में दलबदल और विधायकों की खरीद-फरोख्त (Change of party and purchase of MLAs in Karnataka) का खुला खेल हुआ जिसके फलस्वरूप,  कांग्रेस-जेडीएस सरकार गिर गई और भाजपा …

Read More »

स्वतंत्रता दिवस : तय तो यह (नहीं) हुआ था

Narendra Modi new look

सबसे पहले बायां हाथ कटा फिर दोनों पैर लहूलुहान होते हुए टुकड़ों में कटते चले गए खून दर्द के धक्के खा-खाकर नसों से बाहर निकल आया था।  -शरद बिल्लौरे तय …

Read More »

नेहरू ने कहा था, सबसे जरूरी है लोगों का दिल जीतना, कानून उसके बाद बनाये जा सकते हैं… आईए, समझें धारा 370 को

धार्मिक राष्ट्रवाद (Religious nationalism) के नशे में गाफिल रहने वालों को आमजनों की क्षेत्रीय व नस्लीय आकाँक्षाएँ दिखलाई नहीं देतीं। विभिन्न रंगों के अति राष्ट्रवादी भी इसी दृष्दिोष से पीड़ित रहते …

Read More »

आजादी के आंदोलन का धुर विरोधी रहा है आरएसएस, केंद्र सरकार का 370 पर कदम आतंकवाद को बढ़ायेगा ही : अखिलेंद्र

Akhilendra Pratap Singh अखिलेंद्र प्रताप सिंह राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य स्वराज अभियान

जम्मू कश्मीर राज्य के पुनर्गठन और उसके विशेष राज्य के दर्जे को समाप्त किए जाने के संदर्भ में दो बातें :Two things in the context of the reorganization of the …

Read More »

भारत छोड़ो आंदोलन का इतिहास : डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने आंदोलन को कुचलने के लिए की थी अंग्रेजों की मदद

syama prasad mukherjee in hindi

आरएसएस/भाजपा के नए ‘देश-भक्त‘ डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बारे में 6 सच्चाइयां 6 truths about the new ‘patriot’ of the RSS / BJP Dr. Syama Prasad Mukherjee RSS/BJP ने …

Read More »

मोदीजी उन्माद के बल पर राष्ट्र का निर्माण नहीं, सिर्फ विध्वंस ही किया जा सकता है, अरुण माहेश्वरी का पीएम को खत

Narendra Modi An important message to the nation

स्वतंत्रता दिवस से पहले प्रधानमंत्री जी के नाम एक खुला पत्र An open letter to the Prime Minister before Independence Day आदरणीय प्रधानमंत्री जी, कल रात हम काफी देर तक …

Read More »

कश्मीरी पंडितों के गुनहगार : महाराजा हरि सिंह, भाजपा, जगमोहन और मुफ्ती

Dr. Ram Puniyani's article in Hindi on the plight of Kashmiri Pandits

राजनीति एक अजब-गजब खेल है। इसके खिलाड़ी वोट कबाड़ने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। इन खेलों से हमें संबंधित खिलाड़ी की राजनैतिक विचारधारा का पता तो …

Read More »

खुदा खैर करे… अगर कश्मीर गृह युद्ध की तरफ बढ़ा तो इसके भयंकर परिणाम भारत-पाकिस्तान दोनों की जनता भुगतेगी

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

धारा 370 और 35 A को तोड़ना इंसानियत-जम्हूरियत-कश्मीरियत के खात्मे की तरफ बढ़ना … 5 अगस्त 2019 भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में काला दिन (Black day in the history of …

Read More »

बहुसंख्यकवादी शूरवीरता का कश्मीरी आख्यान :  मोदी महाशूरवीर, अमित शाह उनसे भी बड़े शूरवीर

Amit Shah Narendtra Modi

मैं जब कश्मीर (Kashmir) गया तो वहां एकदम शान्ति थी। इस शान्ति को देखकर ही मैंने जाने का मन बनाया, लेकिन मन में यह समझ काम कर रही थी कि …

Read More »

मर्डर इन द कैथेड्रल और न्यू इंडिया : नाटक जो लिखा इलियट ने वह काल्पनिक नहीं इतिहास है 

Palash Biswas पलाश विश्वास पलाश विश्वास। लेखक वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं । आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की आवाज बनना ही पलाश विश्वास का परिचय है। हिंदी में पत्रकारिता करते हैं, अंग्रेजी के लोकप्रिय ब्लॉगर हैं। “अमेरिका से सावधान “उपन्यास के लेखक। अमर उजाला समेत कई अखबारों से होते हुए अब जनसत्ता कोलकाता में ठिकाना

मर्डर इन द कैथेड्रल (Review of Murder in the Cathedral in Hindi) गीति नाट्य विधा (opera) में लिखी गयी अंग्रेज कवि और आलोचक नोबेल पुरस्कार विजेता टीएस इलियट (play by …

Read More »

क्या शासकों को आईना दिखाना बंद कर दें देश के प्रमुख नागरिक ?

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

क्या प्रमुख नागरिकों को शासकों को आईना नहीं दिखाना चाहिए? Should the prominent citizens not show the mirror to the rulers? देश के 49 प्रमुख नागरिकों, जिनमें फिल्मी हस्तियां, लेखक …

Read More »

इस 15 अगस्त पर चिंता व चिंतन का विषय क्या भारत का आर्थिक सत्ता संचालन, भारत के हाथ में है ? 

arun tiwari अरुण तिवारी वरिष्ठ पत्रकार, पर्यावरणविद् और सामाजिक कार्यकर्ता हैं।

हासिल स्वतंत्रता, किसी के लिए भी निस्संदेह एक गर्व करने लायक उपलब्धि होती है और स्वतंत्रता दिवस (Independence day), स्वतंत्रता दिलाने वालों की कुर्बानी (sacrifices of those who get freedom) …

Read More »

क्या ये पुण्य प्रसून का संघी था, जो बाहर आ गया ?

Punya Prasun Bajpai

पुण्य प्रसून क्यों किसी ‘उद्धारकर्ता‘ के झूठे अहंकार में फंस रहे है ? —अरुण माहेश्वरी कल रात ही धारा 370 को हटाये जाने के बारे में पुण्य प्रसून वाजपेयी की …

Read More »

धारा 370 : घाटी और देश में हिंसा और मौतों का सिलसिला और तेज होगा, लेकिन मोदी सरकार का तो भला होगा !

Jammu and Kashmir On the way to Final Solution.jpg

जम्मू-कश्मीर : ‘फाइनल सोल्यूशन’ के रास्ते पर ! Jammu and Kashmir: On the way to ‘Final Solution’! ‘17 जून के हंगामे के बाद लेखक यूनियन के सचिव ने बंटवाए पर्चे… …

Read More »

जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र के खात्मे में सरकार के साथ अलगाववादियों की भूमिका पर भी सीधा सवाल करना चाहिए

Socialist thinker Dr. Prem Singh is the National President of the Socialist Party. He is an associate professor at Delhi University समाजवादी चिंतक डॉ. प्रेम सिंह सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हैं। वे दिल्ली विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर हैं

जम्मू-कश्मीर पर सरकार का फैसला : कुछ तात्कालिक विचार… Government’s decision on Jammu and Kashmir: some immediate thoughts अब जम्मू-कश्मीर का संविधान की धारा 370 के तहत विशेष राज्य का दर्जा …

Read More »

जानिए अगर पं. नेहरू न होते तो कश्मीर कभी भी भारत का न होता

How much of Nehru troubled Modi

वरिष्ठ पत्रकार राजीव मित्तल  का आलेख “नेहरू, कश्मीर और कश्मीरियत को यहाँ से समझें” मूलतः 21 जून 2018 को हस्तक्षेप पर प्रकाशित हुआ था। पं. नेहरू और कश्मीर के संबंध को …

Read More »

जम्मू व कश्मीर के लोगों के साथ विश्वासघात : कश्मीर पर पकड़ा गया मोदी सरकार का झूठ

Sikar: Prime Minister and BJP leader Narendra Modi addresses during a public meeting in Rajasthan's Sikar, on Dec 4, 2018. (Photo: IANS)

भारत सरकार द्वारा संविधान के अनुच्छेद 370 व 35ए, (Articles 370 and 35A of the Constitution) जो 1947 में भारत और कश्मीर के महाराजा हरि सिंह (Maharaja Hari Singh of …

Read More »

नोटबंदी और जीएसटी तथा कॉरपोरेटी आर्थिक नीतियों के दुष्परिणामों से ध्यान हटाने के लिए धारा 370 का राग

Amit Shah

जम्मू और कश्मीर का भारत में विलय (Jammu and Kashmir merged with India) 15 अगस्त 1947 को नहीं हुआ था, औपनिवेशिक शासनों ने सत्ता के हस्तांतरण में देशी रजवाड़ों को …

Read More »

यह कश्मीर को भारत में मिलाने का नहीं, उससे अलग करने का निर्णय है

Narendra Modi new look

यह कश्मीर को भारत में मिलाने का नहीं, उससे अलग करने का निर्णय है कश्मीर संबंधी जो धाराएँ भारतीय जनतंत्र और संघीय ढाँचे का सबसे क़ीमती गहना थी, उन्हें उसके …

Read More »

रवीश को विश्व के क्रूरतम हत्यारे के नाम का करोड़पति सम्मान मिल गया तो आप खुश होइए, मैं नहीं होता !

Ravish Kumar

मैं मीडिया के चमचमाते करोड़पति चेहरे रवीश को नहीं पसंद करता हूँ। इसकी जगह जल जंगल जमीन माफियाराज के खिलाफ़ लड़ाई में फर्जी मुकदमों के कारण जेल में बन्द, बेघर, …

Read More »

कश्मीर हमारा कश्मीरी तुम्हारा…. लानत है हम पर…

Rajeev mittal राजीव मित्तल, लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं।

#कश्मीर_हमारा_कश्मीरी_तुम्हारा (तीन साल पहले लिखा था..आज फिर जरूरत है इसकी) आज़ादी के बाद से ही दिल्ली की सरकारों की कमोबेश यही सोच रही है। 1948 में खूंखार कबाइलियों की घुसपैठ …

Read More »

सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा, जब नेहरू का बनाया सब बेच चुकेंगे तब मोदी क्या बेचेंगे ?

Narendra Modi An important message to the nation

एक तथ्य जिसपर मीडिया और इस वजह से लोगों ने भी ध्यान नहीं दिया वह था कि जब नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) गुजरात के मुख्य मंत्री होते हुए 2014 में …

Read More »

सरकारी विद्यालयों में पढ़ाई की दुर्दशा पर गीता गांधी : नीति आलोचना की आड़ में निजी हित !

Dr. Sandeep Pandey on fast

गीता गांधी किंग्डन (Gita Gandhi Kingdon), जो यूनिवर्सिटी कालेज, लंदन में प्रोफेसर और लखनऊ के सिटी मांटेसरी स्कूल की प्रबंधक (Manager of City Montessori School of Lucknow) हैं ने हाल …

Read More »

अफ़सोस किताबों के लिखने वाले भी किताबों के सफ़हों में दफ़्न हैं किसी सूखे गुलाब की तरह

Munshi Premchand

खड़ा हूँ आज भी रोटी के चार हर्फ़ लिए। सवाल यह है कि किताबों ने क्या दिया मुझको ? अफ़सोस किताबों के लिखने वाले भी किताबों के सफ़हों में दफ़्न …

Read More »

मोदीराज में अर्थ-व्यवस्था के विध्वंस के लिये बारूद का व्यापक जाल बिछा दिया गया लगता है

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

वित्त सचिव सुभाष गर्ग (Finance Secretary Subhash Garg) को केंद्र में रख कर शुरू हुए विवादों का जो चारों ओर से भारी शोर सुनाई दे रहा है, वह इतना बताने …

Read More »

ऐसे तो हर आंदोलनकारी को देशद्रोही बना देंगे ये लोग

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

लंबे समय से अराजक एजेंडे पर काम कर रहे संघी मानसिकता के लोग लगातार अपने मकसद में कामयाब हो रहे हैं। संघियों के स्थापित होने के पीछे समाजवादियों का परिवारवाद, …

Read More »

‘वर्ण-संघर्ष’ के सिवा कुछ नहीं था बुद्ध और ब्राह्मण का संघर्ष

Kabir कबीर

नोट – प्रसिद्ध दलित चिंतक  कॅंवल भारती का यह आलेख “कबीर का ब्राह्मण से संवाद” September 4, 2012 को हस्तक्षेप पर प्रकाशित हुआ था ब्राह्मण गुरु जगत का, साधु का …

Read More »

अच्छे दिन : बिहार में शुरू हुआ तालिबानी न्याय

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

जब देश में सरकारें और संवैधानिक संस्थाएं (Constitutional institutions) कमजोर पड़ जाती हैं, अपने पथ से भटक जाती हैं। भ्रष्टाचार में लिप्त हो जाती हैं। अपनी जिम्मेदारी न समझते हुए …

Read More »

मोदी जी के संघी साथियों के दिमाग की उपज से हमारी अर्थ-व्यवस्था का गला घुट रहा है

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

सुभाष गर्ग गये, पर अर्थनीति का क्या ? कल ही सरकार के एक और प्रमुख आर्थिक सलाहकार, आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष गर्ग (Economic Affairs Secretary Subhash Garg) की बेहद …

Read More »

कर्नाटक में एक बार फिर जनता की पराजय, लोकतंत्र की हार हुई

HD Kumaraswamy. (File Photo: IANS)

गांधी या गैर गांधी, अध्यक्ष कोई भी हो, लेकिन अब कांग्रेस को फैसला ले ही लेना चाहिए। कर्नाटक के सियासी प्रहसन (Political tragedy of Karnataka) का पहला भाग 23 जुलाई …

Read More »

अर्थव्यवस्था के लिए संकट बन चुके हैं मोदी, जाने के पहले भारत की सार्वभौमिकता को बेच कर जायेंगे

Narendra Modi An important message to the nation

अर्थ-व्यवस्था के भारी संकट के लिये मोदी निजी तौर पर ज़िम्मेदार है आज भारत की समग्र राजनीतिक परिस्थितियाँ अनपेक्षित न होने पर भी कुछ अजीब सी बन चुकी है। वरिष्ठ …

Read More »

अब मुसलमानों को सुना जाना चाहिए, उन्हें भी अपनी ’मन की बात’ कहने का अधिकार है

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

मुस्लिम प्रतिनिधित्व का सवाल Question of Muslim representation भारत के मुस्लिम (Muslims of India) एक वंचित समुदाय (Deprived communities,) हैं जिनका दुनिया के सबसे बड़े संसदीय लोकतंत्र (parliamentary democracy) में …

Read More »

असम में एनआरसी : मानवता पर हमला (भाग-2)

citizenship amendment bill 2019 NRC.jpg

कालेजों और स्कूलों के अध्यापकों को एनआरसी के काम में तैनात किया गया है परंतु उनके स्थान पर अन्य शिक्षकों की नियुक्ति नहीं की जा रही है. इससे पूरे प्रदेश …

Read More »

सरकार की अराजकता और विपक्ष के नकारेपन के खिलाफ जनता को खड़ा होना ही होगा

Narendra Modi An important message to the nation

ऐसा लग रहा है कि जैसे लोग भांग खाये घूम रहे हों। पूंजीपतियों के दबाव में मोदी सरकार ने किसानों को उसके खेत में और मजदूरों को फैक्टरियों, निजी कार्यालयों …

Read More »

संत राजनीतिज्ञ क्रांतिकारी मजदूर नेता थे धनबाद के पूर्व सांसद कॉमरेड एके राय जो सांसद की पेंशन नहीं लेते थे

Comrade AK Roy

धनबाद के पूर्व सांसद कॉमरेड एके राय को श्रद्धांजलि Tribute to Comrade AK Roy, former MP of Dhanbad Former MP from Jharkhand’s Dhanbad and Marxist veteran Comrade AK Roy passed …

Read More »

पाठ्यपुस्तकों में आरएसएस : संघ का राष्ट्र निर्माण से कभी कोई लेनादेना रहा ही नहीं

RSS Half Pants

राष्ट्रवाद (Nationalism) एक बार फिर राष्ट्रीय विमर्श के केन्द्र में है. पिछले कुछ वर्षों में हमने देखा कि किस तरह सरकार के आलोचकों को राष्ट्रद्रोही घोषित कर दिया गया. हमने …

Read More »

जनसंहार के बाद चार दिन बाद भी प्रधानमंत्री खामोश !

Narendra Modi An important message to the nation

जनसंहार के बाद चार दिन बीत गए। भारत के प्रधानमंत्री का कोई बयान या ट्वीट सामने नहीं आया। क्या आदिवासी भारतवासी नहीं हैं? नए भारतीय राष्ट्रवाद की परियोजना में क्या …

Read More »

उत्तर प्रदेश में ज़मीन के सवाल को हल करे योगी सरकार, उभा जैसे नरसंहार के लिए माया-मुलायम कम जिम्मेदार नहीं, जानिए कैसे

S.R. Darapuri

हाल में सोनभद्र जिले के उभा गाँव में ज़मीन के कब्जे को लेकर हुए नरसंहार (Massacre for taking possession of land in Ubha village of Sonbhadra) से, जिसमें 10 लोग …

Read More »

युवराज कथा अनंता : घर का घर पाप छिपा रखने के लिए एकजुट होना/ जितना बड़ा घर होगा, उतना ही खाएगा देश को…

Amalendu Upadhyaya hastakshep अमलेन्दु उपाध्याय लेखक वरिष्ठ पत्रकार, राजनैतिक विश्लेषक व टीवी पैनलिस्ट हैं।

यह ख़बर मूलतः अक्टूबर 2010 में लिखी गई थी और इसमें बताया गया था कि किस तरह वंशवादी राजनीति (Dynastic politics) सभी दलों की बीमारी बन गई है। 2009 के …

Read More »

शेष नारायण सिंह का आलेख – कांग्रेस को सशक्त विपक्ष की भूमिका अदा करनी ही पड़ेगी

Shesh Narain Singh शेष नारायण सिंह

कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी (Congress President Rahul Gandhi) इस्तीफा दे चुके हैं, उनको मनाने की कोशिशें अब तक नाकाम रही हैं लेकिन अब कौन कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष हो, …

Read More »

साठ साल का देशबन्धु

Lalit Surjan ललित सुरजन। लेखक वरिष्ठ पत्रकार, स्तंभकार व साहित्यकार हैं। देशबन्धु के प्रधान संपादक

‘प्रिंटर्स डेविल’ (Printer devils) याने छापाखाने का शैतान अखबार जगत (Newspaper industry) में और पुस्तकों की दुनिया में भी एक प्रचलित मुहावरा रहा है। छपी हुई सामग्री (Printed material) में …

Read More »

जलते मजदूर, सोती सरकार

National news

शनिवार को सुबह रोज की तरह फ्रेंडस कॉलोनी गली नं. 4 में चहल-पहल थी। इसी गली में कॉरस बाथ नामक फैक्ट्री है, जो कि पीतल और प्लास्टिक की टूटी बनाने …

Read More »

समाजवाद ही कर सकता है हर समस्या का समाधान

23 जून 1962 को डॉ लोहिया का नैनीताल में भाषण, Speech of Dr. Lohia Nainital on 23 June 1962

समाजवाद : सफलता विफलता और संभावनाएं Socialism: Success Failures and Prospects जब भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन चल रहा था तो उसमें समाजवादी धारा (Socialist stream in Indian National Movement) के नेताओं आचार्य …

Read More »

मुर्गी चुराने की सजा छह महीने पर एक मरीज के जीवन से खिलवाड़ करने के लिए कोई दोषी नहीं

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

मरीज एवं डॉक्टर के बीच रिश्तों का धुंधलाना उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Uttar Pradesh’s Chief Minister Yogi Adityanath) ने रविवार को एक कार्यक्रम में मरीजों और डॉक्टरों के …

Read More »

जलवायु आपातकाल की स्थिति, ग्लेशियर्स पिघलने से दुनिया के जल संतुलन पर खतरा

Environment and climate change

Glacier melting threatens the water balance of the world, climate emergency situation हिमनद यानी ग्लेशियर्स पिघलने से समुद्र का स्तर (Sea level) बढ़ रहा है, मूँगा चट्टानें मर रही हैं …

Read More »

‘‘न्यू इंडिया’’- 5 ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था : ये सुहाने जुमले हैं, जुमलों का क्या!

Rajendra Sharma राजेंद्र शर्मा। लेखक वरिष्ठ पत्रकार व स्तंभकार हैं।

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर राज्यसभा में बहस (motion of thanks on the President’s address, in Rajya Sabha) में कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद ने झारखंड में तबरेज …

Read More »

क्या यह दो संविधानों का टकराव है : मनुस्मृति और भारतीय संविधान दोनों साथ साथ नहीं चल सकते।

Sakshi Mishra Ajitesh Controversy

Sakshi Mishra Ajitesh Controversy : Is it a conflict of two constitution गत दिनों उत्तर प्रदेश के एक ब्राह्मण विधायक की बेटी ने एक दलित युवक से विवाह कर लिया …

Read More »

डॉ. राम पुनियानी का लेख – तबरेज़ अंसारी, जय श्रीराम और नफरत-जनित हत्याएं

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

संयुक्त राष्ट्रसंघ मानवाधिकार परिषद् की 17वीं बैठक (17th meeting of UN Human Rights Council) में, भारत में मुसलमानों और दलितों के विरुद्ध नफरत-जनित अपराधों और मॉब लिंचिंग का मुद्दा (The …

Read More »

खुलने लगे मोदी 0.1 के घोटाले, बैंकों से जनता के 71 हजार करोड़ रुपये लूट लिये घोटालेबाजों ने

Sikar: Prime Minister and BJP leader Narendra Modi addresses during a public meeting in Rajasthan's Sikar, on Dec 4, 2018. (Photo: IANS)

हमारे देश का आम आदमी ईमानदार बनकर तरह-तरह की परेशनियों को झेलते हुए देश को आगे बढ़ना देखना चाहता है, देश के लिए वह सब कुछ लुटवाने के लिए तैयार …

Read More »

क्या छात्रों को आरएसएस के अभिलेखागार में बंद राष्ट्रविरोधी दस्तावेज़ों को पढ़ने का मौक़ा मिलेगा?

RSS Half Pants

नागपुर विश्वविद्यालय पाठ्यक्रम में आरएसएस का अध्ययन शामिल प्रजातान्त्रिक-धर्मनिरपेक्ष भारत के इतिहास (History of democratic-secular India) में पहली बार नागपुर के ‘राष्ट्र-संत राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज विश्वविद्यालय’ (Rashtrasant Tukadoji Maharaj Nagpur …

Read More »

धन्यवाद मोदीजी ! आपने माना आपको देश में सबका विश्वास प्राप्त नहीं है

Narendra Modi An important message to the nation

नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने सबका साथ, सबका विकास (Sabka Sath, Sabka Vikas) में एक और टुकड़ा जोड़ा है ‘सबका विश्वास’ (Sabka Vishwas)। यह टुकड़ा उन्होंने अपने दूसरे कार्यकाल में …

Read More »

कश्मीर के प्रश्न पर हमें अमेरिका और ब्रिटेन ने लगातार ब्लैकमेल किया

L. S. Hardenia

अभी हाल में लोकसभा में भाषण देते हुए केन्द्रीय गृह मंत्री एवं भाजपा अध्यक्ष श्री अमित शाह (Speech by Shri Amit Shah, Union Home Minister and BJP President in Lok Sabha) ने …

Read More »

अरुंधति रॉय और डॉ. राम विलास शर्मा की आँखों से गांधी और अंबेडकर देखना

अरुंधति रॉय की किताब 'एक था डॉक्टर और एक था संत', (Arundhati Roy's book Ek Tha Doctor Ek Tha Sant)

विमर्शमूलक विखंडन और कोरी उकसावेबाजी में विभाजन की रेखा बहुत महीन होती है अरुंधति रॉय की किताब ‘एक था डॉक्टर और एक था संत‘, (Arundhati Roy’s book Ek Tha Doctor …

Read More »

अति पिछड़ों के साथ भाजपा-आरएसएस कर रही है धोखाधड़ी !

BJP Logo

अन्य पिछड़ा वर्ग में से अलग आरक्षण कोटा (Separate reservation quota from OBC) ही है लाभप्रद और संवैधानिक समाधान लखनऊ, 02 जुलाई 2019. इधर कई दिनों से अखबार की सुर्खियों …

Read More »

बैंकिंग प्रणाली पर संकट और हमारी दिशाहीन सरकार

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

वित्त मंत्री और प्रधानमंत्री, दोनों पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से उनके घर पर जा कर मिलें। 5 जुलाई को बजट पेश होगा। इसके ठीक पहले मनमोहन सिंह से इनकी मुलाक़ात …

Read More »

मॉब लिंचिंग की घटनाओं में राज्य/पुलिस की आपराधिक भूमिका… मॉब लिंचिंग भाजपा की नफरत की राजनीति का एक महत्वपूर्ण अंग

S.R. Darapuri

मॉब लिंचिंग की घटनाओं में राज्य/पुलिस की आपराधिक भूमिका… मॉब लिंचिंग भाजपा की नफरत की राजनीति का एक महत्वपूर्ण अंग इधर कोई भी दिन ऐसा नहीं गुजरता जबकि किसी न …

Read More »

यह अघोषित इमर्जेंसी है, जो इंदिरा गांधी की घोषित इमर्जेंसी से ज्यादा खतरनाक है

Rajendra Sharma राजेंद्र शर्मा। लेखक वरिष्ठ पत्रकार व स्तंभकार हैं।

इमर्जेंसी की 44वीं सालगिरह पर लोकसभा में अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi’s address in the Lok Sabha on the 44th anniversary of the Emergency) अगर …

Read More »

आपातकाल के भुक्तभोगी की जुबानी, कैसे रिश्वतखोरों और जमाखोरों को ठीक करने का अनुशासन पर्व ही थी इमरजेंसी

Shri Ram Tiwari श्रीराम तिवारी

श्रीमती इंदिरा गांधी ने 25 जून 1975 को देश में आपातकाल लगाया (Mrs. Indira Gandhi imposed Emergency on 25th June, 1975 in the country)। इससे संविधान और लोकतंत्र का बाल …

Read More »

जवाब तो आपको ही देना है मोटा भाई, क्योंकि कश्मीर में पहली गोली चलने के 25 साल पहले, नेहरू मर चुके हैं

Chittorgarh: BJP chief Amit Shah addresses during a public meeting in Chittorgarh, Rajasthan, on Dec 3, 2018

कश्मीरी आतंक (Kashmiri terror) की शुरुआत वीपी सिंह के कार्यकाल (VP Singh’s tenure) में, 1989 में हुई, जब आप वीपी सिंह के साथ खड़े थे।। रुबिया कांड में घुटने टेकना …

Read More »

Dr. Ram Puniayni’s Article in Hindi : क्या तीन तलाक को अपराध घोषित किया जाना चाहिए?

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

‘मुस्लिम बहनों’ के साथ लैंगिक न्याय (Gender Justice with ‘Muslim Sisters’) करने के लिए मोदी सरकार द्वारा संसद में हाल (जून 2019) में प्रस्तुत एक विधेयक, देश भर में चर्चा …

Read More »

वे गांधी का नाम तो लेते हैं, मगर मंदिर गोडसे का बनाते हैं… न मूर्तियों से गोडसे जिंदा होंगे, न गोलियों से गांधी मर सकते हैं

Mahatma Gandhi statue in the Parliament premises. (File Photo: IANS)

नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) पर फिर से बहस हो रही है. पहले फिल्म अभिनेता कमल हासन (Film actor Kamal Haasan) ने उसे आजाद भारत का पहला आतंकवादी (Free India’s first …

Read More »

आपातकाल विरोधी आंदोलन से आरएसएस की ग़द्दारी

RSS Half Pants

भारत में आपातकाल घोषणा की 44वीं वर्षगांठ : आपातकाल विरोधी आंदोलन से आरएसएस की ग़द्दारी भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Prime Minister Indira Gandhi) ने 25-26 जून, 1975 को …

Read More »

विपक्ष के लिए प्रेरणादायी बन सकता है नेहरू सरकार के खिलाफ किया गया लोहिया का संघर्ष

23 जून 1962 को डॉ लोहिया का नैनीताल में भाषण, Speech of Dr. Lohia Nainital on 23 June 1962

किसी भी सरकार के नकेल कसने के लिए विपक्ष का मजबूत होना बहुत जरूरी होता है। लोकतंत्र में यह माना जाता है कि यदि विपक्ष कमजोर पड़ जाता है तो …

Read More »

महाशक्ति (!) बनते भारत में मानव जीवन के मूल्य ? योग करने रांची पहुंचे प्रमं. मुजफ्फरपुर जाने का समय न निकाल पाए

Sikar: Prime Minister and BJP leader Narendra Modi addresses during a public meeting in Rajasthan's Sikar, on Dec 4, 2018. (Photo: IANS)

भारतवर्ष विश्व की महाशक्ति (World power) बनने की ओर अग्रसर है। इस आशय का वातावरण देश की सरकार तथा उसके प्रोपेगंडा तंत्र द्वारा बनाया जा रहा है। भारत (India) ने …

Read More »

लोकतांत्रिक ढंग से हो कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव, खत्म किया जाए नामजदगी का कल्चर

congress

राहुल गांधी पद मुक्त हो सकते हैं ज़िम्मेदारी से नहीं, अध्यक्ष न रहें नेता तो सदैव रहेंगे आम चुनाव 2019 (General election 2019) में हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल …

Read More »

स्वामी विवेकानंद का भारत और राष्ट्रवाद, दूसरों के प्रति घृणा नहीं फैलाता, उनका राष्ट्रवाद भारतीयों को बेहतर मनुष्य बनाता है

swami vivekananda

स्वामी विवेकानंद और उनका मानववाद Swami Vivekananda and his humanism. आज जिस भारत में हम रह रहे हैं, उसमें धर्म और धार्मिक पहचान ने सार्वजनिक जीवन में महत्वपूर्ण स्थान हासिल …

Read More »

योग इवेंट हर बार करोड़ों रूपये कारपोरेट घरानों के पॉकेट में पहुँचा देता है

Jagadishwar Chaturvedi

21 जून अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस, June 21 International Yoga Day नए भारत में योग, राजनीतिक हथियार है, सत्ता की राजनीति का अंग है। भारत के प्राचीन-मध्यकालीन इतिहास में योग कभी …

Read More »

मरे हुए लोकतंत्र की लाश ढोते हुए हम राम नाम सत्य हैं जहां-जहां जगेंद्र बोलेंगे जिंदा जला दिये जायेंगे

Palash Biswas पलाश विश्वास पलाश विश्वास। लेखक वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं । आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की आवाज बनना ही पलाश विश्वास का परिचय है। हिंदी में पत्रकारिता करते हैं, अंग्रेजी के लोकप्रिय ब्लॉगर हैं। “अमेरिका से सावधान “उपन्यास के लेखक। अमर उजाला समेत कई अखबारों से होते हुए अब जनसत्ता कोलकाता में ठिकाना

पलाश विश्वास– वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं । आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की आवाज बनना ही पलाश विश्वास का परिचय है। हिंदी में पत्रकारिता करते हैं, अंग्रेजी …

Read More »

जम्हूरियत के सबसे बड़े पैरोकारों ने आज एक बार फ़िर से जम्हूरियत का क़त्ल कर दिया

Egypt’s ex-President Mohamed Morsi dies after court appearance Mohamed Morsi Former President of Egypt जम्हूरियत के सबसे बड़े पैरोकारों ने आज एक बार फ़िर से जम्हूरियत का क़त्ल कर दिया.. …

Read More »

अभिजात्य निर्ममता से ग्रस्त हैं मोदी ! ‘चमकी’ से मर रहे बच्चों के लिए नरेंद्र मोदी की कोई संवेदना अभी तक नहीं

Modi go back

अभिजात्य निर्ममता से ग्रस्त हैं मोदी ! (Modi is suffering from arbitrary ruthlessness!) ‘चमकी’ से मर रहे बिहारी बच्चों के लिए नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की कोई संवेदना अभी तक …

Read More »

बिहार में चमकी बुखार से मर रहे बच्चों की लाशों को रौंदती सरकारें और समाज की संवेदनहीनता

क्या हो गया है हमारे समाज को। आज की तारीख में शासन-प्रशासन और मीडिया से तो कोई उम्मीद लगाना ही बेकार है। इसके लिए भी हम ही जिम्मेदार हैं। हां …

Read More »

शुद्ध रूप से एक विधवा की प्रेम कथा है, प्रणय-प्रेम गाथा है मनीषा कुलश्रेष्ठ का उपन्यास ‘मल्लिका’

Manisha Kulshreshtha's novel 'Mallika'

भारतेन्दु बाबू के प्रणय-प्रेम की एक कथा — ‘मल्लिका‘ आज मनीषा कुलश्रेष्ठ का हाल में प्रकाशित उपन्यास ‘मल्लिका’ (Manisha Kulshreshtha’s novel ‘Mallika’) पढ़ गया। मल्लिका, बंकिम चंद्र चटोपाध्याय की ममेरी …

Read More »

डॉ. राम पुनियानी का लेख – “कश्मीर: शांति की जुस्तजू”

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

हालिया लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में जबरदस्त बहुमत हासिल करने के बाद, मोदी सरकार (Modi Govt.) मजबूती से देश पर शासन करने की स्थिति में है. ऐसा …

Read More »

मोदी जी के गुजरात में सात सफाई मजदूरों की मौत, कुंभ में प्रमं. ने किया था ‘चरणामृत’ !

Narendra Modi washing feet of safai karamcharis

दुःखद ! सीवर सफाई मजदूरों की मौत (Sewer cleaning workers death) राष्ट्रीय समस्या (National problem) है। ताजी खबर है बड़ोदरा से सात मजदूरों की मौत की। स्वच्छ भारत अभियान के …

Read More »

प्रधानमंत्री मोदी मुस्लिमों का भरोसा ऐसे कैसे जीत पाएंगे ?

संसद के सेंट्रल हॉल में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की बैठक (Nda’s meeting in the central hall of Parlament of India) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime minister Narendra Modi) द्वारा अल्पसंख्यकों …

Read More »

‘हिंदी, हिंदू, हिंदुस्तान’ : एक फासिस्ट और नाजी परिकल्पना, जिसने मनुष्यता को सिवाय तबाही और बर्बादी के कुछ नहीं दिया

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

हिंदी, हिंदू, हिंदुस्तान‘ की पूरी परिकल्पना (Whole hypothesis of ‘Hindi, Hindu, Hindustan‘) एक काल्पनिक और वैचारिक निर्मिति है। इसके मूल में है हिन्दू फासीवाद की विचारधारा (ideology of Hindu fascism)। …

Read More »

डॉ. राम पुनियानी का लेख – धर्मनिरपेक्षता, प्रजातान्त्रिक समाज और अल्पसंख्यक अधिकार

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

हम एक ऐसे दौर से गुजर रहे हैं जब सामाजिक मानकों और संवैधानिक मूल्यों का बार-बार और लगातार उल्लंघन हो रहा है. पिछले कुछ वर्षों में दलितों पर बढ़ते अत्याचार …

Read More »

हीट वेब : प्रकृति का सत्यानाश करके अकूत मुनाफा कमाएं कॉरपोरेट्स और उसके दुष्परिणाम भुगते आम जनता !

Amalendu Upadhyaya hastakshep अमलेन्दु उपाध्याय लेखक वरिष्ठ पत्रकार, राजनैतिक विश्लेषक व टीवी पैनलिस्ट हैं।

उत्तर भारत, मध्य भारत व दक्षिण के कुछ शहर गर्मी में झुलस रहे हैं और ये शहर दुनिया के सबसे गर्म शहरों में से एक हैं। इस ग्रीष्म लहर के …

Read More »

क्या है पत्रकार रूपेश कुमार सिंह की गिरफ्तारी का सच ?

Rupesh Kumar Singh

7 जून 2019 को अखबार में एक खबर छपी कि विस्फोटक के साथ तीन हार्डकोर नक्सली रूपेश कुमार सिंह, मिथिलेश कुमार सिंह और मुहम्मद कलाम को शेरघाटी-डोभी पुलिस द्वारा गिरफ्तार …

Read More »

मिल गया-मिल गया टुकड़े टुकड़े गैंग का सही पता मिल गया

Why Modi Matters to Indias Divider in Chief

जब किसी राजनीतिक दल के प्रचारकों द्वारा उछाले गये जुमले को देश का प्रधानमंत्री दुहराने लगे तो यह निश्चित है कि या तो मामला बहुत गम्भीर है या प्रधानमंत्री गैर …

Read More »

एक पूर्वाग्रह-ग्रस्त अव्यवस्थित विचार-बुद्धि के उदाहरण राम चंद्र गुहा

आज के टेलिग्राफ़ में रामचंद्र गुहा का लेख (Ramchandra Guha’s article in the Telegraph) है – ‘शाश्वत बुद्धिमत्ता’ (Timeless Wisdom)। इस लेख के मूल में है 14 वीं सदी के …

Read More »

मोदी-1 के मुकाबले ज्यादा बहुसंख्यकवादी और ज्यादा अल्पसंख्यकविरोधी-जनतंत्रविरोधी होगा मोदी-2

Rajendra Sharma राजेंद्र शर्मा। लेखक वरिष्ठ पत्रकार व स्तंभकार हैं।

मोदी-2: भिन्न होने के मुगालते मोदी की भाजपा (Modi’s BJP) तथा एनडीए की जबर्दस्त और एक हद तक अप्रत्याशित जीत के बाद से, मीडिया का एक हिस्सा बड़ी शिद्दत से …

Read More »

दुनिया में भारत की असभ्य इमेज बनाने वाले तत्व हैं हिंदुत्व – आरएसएस का प्रचार और कारपोरेट मीडिया

Jagadishwar Chaturvedi

नया भारत और नई चुनौतियां (New India and New Challenges) जो लोग इतनी तबाही के बाद भी मोदी-मोदी के नशे में चूर हैं, उनके लिए हम तो यही कहना चाहेंगे …

Read More »

मार्क्सवाद सर्वशक्तिमान है

Karl Marx

लेनिन ने मार्क्स के बारे में अपने प्रसिद्ध निबंध ‘मार्क्सवाद के तीन स्रोत तथा तीन संघटक तत्व’ (1913) में लिखा था कि “मार्क्स की प्रतिभा इस बात में निहित है …

Read More »

आरएसएस के महापुरुष, हिन्दुत्व के जनक ‘वीर’ सावरकर के 1913 और 1920 के माफ़ीनामों का मूल-पाठ

Veer Savarkar

आरएसएस के महापुरुष, हिन्दुत्व के जनक ‘वीर‘ सावरकर के 1913 और 1920 के माफ़ीनामों का मूल-पाठ वी. डी. सावरकर (अभियुक्त नं. 32778) की अर्ज़ी में (जिसे गवर्नर जनरल की काउंसिल …

Read More »

बंगाल में पापुलिज्म की भिड़न्त : पांच सांसदों वाले वाम की पांच ऐतिहासिक भूलें

Jagadishwar Chaturvedi

वामदलों को सन् 2019 के लोकसभा चुनाव (Parliamentary elections of 2019) में अब तक की सबसे बुरी पराजय का सामना करना पड़ा है। सन् 2014 में वामदलों के 10 सांसद …

Read More »

अगले 5 साल मोदी-2, पूत के पाँव पालने में दिख रहे…

Narendra Modi An important message to the nation

जी हाँ, विश्व के सबसे बड़े लोकतान्त्रिक देश (World’s largest democratic country) भारत के मतदाताओं ने 2019 के आम चुनावों में फैसला दिया है कि नरेंद्र मोदी ही अगले 5 …

Read More »

रिस्क लेना सीख रहा है मुसलमान : सपा-बसपा को निरीह मुसलमान ही अच्छे लगते हैं

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

शाहनवाज आलम  उत्तर प्रदेश चुनाव में भाजपा की लगभग एकतरफा जीत और योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद मुसलमानों पर दो नजरियों से बात हो रही है। पहला नजरिया …

Read More »

संघ-भाजपा हारे, मोदी जीते, अहम् ब्रह्मास्मि मोदीवाद का पहला सूत्र

Narendra Modi An important message to the nation

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने एक वाक्य में पूरी कहानी कह दी है कि  ”यह मोदीवाद की जीत …

Read More »

निराशा के कर्तव्य : लोहिया के इस भाषण को बार-बार पढ़ने की दरकार है

23 जून 1962 को डॉ लोहिया का नैनीताल में भाषण, Speech of Dr. Lohia Nainital on 23 June 1962

23 जून 1962 को डॉ लोहिया ने नैनीताल में एक ऐतिहासिक भाषण दिया था। ये पूरा भाषण (Speech of Dr. Lohia Nainital on 23 June 1962) ‘राममनोहर लोहिया समता न्यास …

Read More »

मार्क्सवादी प्रगतिशीलों की वैचारिक विक्षिप्तता : जातिवादी अस्मिताएँ पूंजीवाद के विरुद्ध कभी संघर्ष के मजबूत आधार नहीं बन सकतीं

Arun Maheshwari अरुण माहेश्वरी, लेखक प्रख्यात वाम चिंतक हैं।

बहुलता के हुड़दंगी परिदृश्य में से तानाशाही के सही प्रत्युत्तर की तलाश लखनऊ के हिंदी के आलोचक वीरेन्द्र यादव (Hindi critic Virendra Yadav) की फेसबुक टाइमलाइन पर 22 मई को …

Read More »

सावरकर का वो सच जो सरकार आपको नहीं बताएगी

Veer Savarkar

स्तंभकार डॉ. राम पुनियानी का आलेख “नेताजी बोस, नेहरू और उपनिवेश विरोधी संघर्ष” मूलतः 08 नवंबर 2018 को हस्तक्षेप पर प्रकाशित हुआ था। आज 28 मई को विनायक दामोदर सावरकर …

Read More »

एक स्वयंसेवक ने खोला राज, वामपंथी कैसे भाजपा की मदद करते हैं !

Shri Ram Tiwari श्रीराम तिवारी

वे संघी हैं, हमारे पड़ोसी हैं। भले ही बंद दिमाग वाले हैं, किंतु बिना स्वार्थ के, पहले जनसंघ का फिर जनता पार्टी का और अब भाजपा का झंडा उठाये घूमते …

Read More »

देश नशे में है .. अफीम की खेती ही फूलेगी फलेगी…तमाशा ख़त्म हुआ ..चलो बजाओ…ताली…

kavita Arora डॉ. कविता अरोरा

महीनों से चल रहा मेला उखड़ने लगा.. खर्चे-वर्चे, हिसाब-विसाब, नफ़े-नुक़सान के कुछ क़िस्से कौन सा घाट किसके हिस्से… अब बस यही फ़ैसला होगा… बंदर बाट होगी काट छाँट होगी… बस …

Read More »

जनता के पास विकल्प ही क्या है ?

Between protest Modi assures Citizenship Bill will not harm Assam and Northeast

जनविरोधी (Anti-public) सत्तालोलुप (Power greed) क्षत्रपों के इस मौकापरस्त गठबंधन में मनुष्य और प्रकृति का भविष्य देखने वाले विद्वतजनों की दृष्टि, प्रतिबद्धता, इतिहासबोध की बलिहारी। इन चेहरों में से किसी …

Read More »

दिग्विजय ही करेंगे बेड़ा पार !

digvijaya singh

सत्रहवीं लोकसभा चुनाव (Seventh Lok Sabha election) में भाजपा (BJP) प्रचंड बहुमत के दम पर हिंदुत्व और राष्ट्रवाद (Hindutva and nationalism) को खुद को पर्याय बनाने में भले ही सफल …

Read More »

कांग्रेस की जिम्मेदारी नहीं थी बुआ-बबुआ को जिताती, आप हारे हैं तो आत्ममंथन करिए

Bengaluru: Bengaluru: SP leader Akhilesh Yadav and BSP chief Mayawati during the swearing-in ceremony of Karnataka Chief Minister H.D. Kumaraswamy, at Vidhana Soudha in Bengaluru on May 23, 2018. (Photo: IANS)

लोकसभा चुनाव 2019 परिणाम का एक विश्लेषण : क्या कांग्रेस ने यूपी में चुनाव लड़कर गलत किया? Did Congress do wrong by contesting elections in UP? गुजरात के चुनाव में …

Read More »

भाजपा-संघ के उभार में सोशलिस्टों व छद्म अम्बेडकरवादियों का बड़ा हाथ

Lucknow: Samajwadi Party (SP) chief Akhilesh Yadav greets Bahujan Samaj Party (BSP) chief Mayawati on her 63rd birthday in Lucknow, on Jan 15, 2019. (Photo: IANS)

स्वराज अभियान के योगेंद्र यादव का “काँग्रेस मस्ट डाई” बयान (Yogendra Yadav’s “Congress Must Die” statement) गैर राजनीतिक व मिडिल क्लास रिएक्शन से ज्यादा कुछ नहीं लोकसभा के 2019 के …

Read More »

राजीव गांधी की हत्या, उसकी जांच से जुड़े कुछ अनसुलझे सवाल

Rajiv Gandhi

आज ही के मनहूस दिन सन 1991 में एक युवा, प्रगतिगामी भारत के सपने का असामयिक अवसान हो गया था। राजीव गाँधी (Rajiv Gandhi) नेता नहीं थे लेकिन वे एक …

Read More »

कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी की विरासत : लो, और तेज हो गया उनका रोजगार/ जो कहते आ रहे/ पैसे लेकर उतार देंगे पार

Socialist thinker Dr. Prem Singh is the National President of the Socialist Party. He is an associate professor at Delhi University समाजवादी चिंतक डॉ. प्रेम सिंह सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हैं। वे दिल्ली विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर हैं

भारतीय समाजवादी आंदोलन (Indian Socialist Movement) के पितामह आचार्य नरेंद्रदेव (Acharya Narendra Dev) की अध्यक्षता में कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी-Congress Socialist Party (सीएसपी) के गठन (17 मई 1934,पटना) के समय दो …

Read More »

एग्जिट पोल के संकेत उनकी सच्चाई से कहीं ज़्यादा अवसादकारी हो सकते हैं

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

हमारे जैसे जिन सब लोगों ने यह उम्मीद लगाई थी कि इस बार के चुनाव में मोदी शासन से मुक्ति बिल्कुल संभव होगी, एग्जिट पोल (Exit Polls) से उन सबमें …

Read More »

नंगी तलवारें अब खिलिखिलाते कमल हैं… हिटलर को भी आखिर खुदकुशी करनी होती है

Palash Biswas पलाश विश्वास पलाश विश्वास। लेखक वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं । आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की आवाज बनना ही पलाश विश्वास का परिचय है। हिंदी में पत्रकारिता करते हैं, अंग्रेजी के लोकप्रिय ब्लॉगर हैं। “अमेरिका से सावधान “उपन्यास के लेखक। अमर उजाला समेत कई अखबारों से होते हुए अब जनसत्ता कोलकाता में ठिकाना

वरिष्ठ पत्रकार और हस्तक्षेप के सम्मानित स्तंभकार पलाश विश्वास का यह आलेख मूलतः 30 जुलाई 2015 को प्रकाशित हुआ था। यह आलेख आज भी प्रासंगिक है क्योंकि “यूं समझिये कि …

Read More »

अलवर गैंगरेप की घटना की तहकीकात : दबंग जातियों के दबदबे का नतीजा

So sad

मास्टर प्लान खेड़ली अलवर जिले का छोटा सा कस्बा खेड़ली यानी मंडी. राजस्थान सरकार (Rajasthan government) ने कस्बाई विकास के लिए २०११ से २०३१ तक सुनियोजित विकास प्रारूप तैयार किया. …

Read More »

भारत में लोकतंत्र का भविष्य

Election Commission of India. (Facebook/@ECI)

देश के उदारवादी तबके के बुद्धिजीवी और प्रगतिशील लोगों के साथ साथ आमजनों का भी बहुत बड़ा तबका है जो भारत में लोकतंत्र के भविष्य (future of democracy in India) …

Read More »

2019 चुनावी परिदृश्य पर एक शुद्ध दार्शनिक चर्चा : मोदी की बुरी हार सुनिश्चित है

Why Modi Matters to Indias Divider in Chief

2019 चुनावी परिदृश्य पर एक शुद्ध दार्शनिक चर्चा (A pure philosophical discussion on the 2019 election scenario); परिस्थिति के जीवंत भेदाभेदमूलक स्वरूप में मोदी का कोई स्थान संभव नहीं है …

Read More »

2019 चुनाव के संकेत : भाजपा के साथ-साथ मोदी की विदाई तय

Breaking news

2019 के आम चुनाव (General election of 2019) लगभग समाप्ति की ओर हैं, और परिणामों की उत्सुकता से प्रतीक्षा की जा रही है। किसी भी पार्टी की जीत की संभावना …

Read More »

अपना रामराज बौद्ध हो गया और राजनीतिक भी, इसलिए हमें उससे परहेज करना चाहिए? ये सवाल खुद से हैं और आपसे भी!

Dr. Udit Raj

लू (hot wind) और काल बैसाखी (Kal Baisakhi) के मध्य तैंतीस साल बाद एक मुलाकात! दलित मूलनिवासी आंदोलन (Dalit Mulniwasi Movement) को छोटी-छोटी मामूली सामाजिक घटनाओं से कुछ सबक लेना …

Read More »

जब सन् 47 में निहत्थे ख़ुदाई खि़दमतगार अपने हिन्दू, सिख भाइयों की जान बचाने सड़कों पर निकले

Things you should know aisee baat jo aapako jaananee chaahie

साम्राज्यवादी अंग्रेज़ों (Imperialist English) को न तो मुसलमानों से कोई मोहब्बत (Love with Muslims) थी, न हिन्दुओं से कोई नफ़रत (No hate to Hindus)। उनको तो बस अपने सियासी और …

Read More »

जानिए कौन हैं ईश्वरचंद्र विद्यासागर

Who is ishwar chandra vidyasagar

Who is ishwar chandra vidyasagar ।  जानिए कौन हैं ईश्वरचंद्र विद्यासागर बंगाल में लड़कियों को स्कूल ले जाने वाली गाड़ी, पालकियों तथा शिक्षण संस्थाओं की दीवारों पर मनुस्मृति का एक …

Read More »

देश में आग लगाने का षड़यंत्र : पत्रकार जब चारण हो जाए तो समझ लीजिये देश पर संकट है

Vidya Bhushan Rawat

अंबेडकरवादी मानवाधिकार कार्यकर्ता (Ambedkarwadi human rights activist) विद्या भूषण रावत (Vidya Bhushan Rawat) का यह आलेख “उत्पीड़न की संस्कृति के विकल्प की जरूरत : पत्रकार जब चारण हो जाए तो …

Read More »

शिक्षा किसे दी जाये, कितनी दी जाये और क्या दी जाये, यह शासक वर्ग तय करता है

So sad

डा. विजय विशाल, लेखक शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े हैं एवं स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं, उनका यह लेख मूलतः 10 जुलाई 2018 के प्रकाशित हुआ था। हस्तक्षेप के पाठकों की माँग …

Read More »

पंडित नेहरू का जमाना जब डर दिखा कर वोट लेना बहुत गलत काम माना जाता था

How much of Nehru troubled Modi

आजादी के शुरुआती पन्द्रह वर्षों में जवाहरलाल नेहरू (Jawahar Lal Nehru) ने जो बुनियाद डाली उसी का नतीजा है किस आज दुनिया में भारत का सर ऊंचा है। वरिष्ठ पत्रकार …

Read More »

मोदी सरकार की पाकिस्तान नीति की घोर विफलता और अजीत डोवाल का अंध-राष्ट्रवाद

Prakash Karat भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के नेता प्रकाश कारात

भारत-पाकिस्तान संवाद : एक कदम आगे (भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के नेता प्रकाश कारात का यह लेख  “मोदी सरकार की पाकिस्तान नीति की घोर विफलता और अजीत डोवाल का …

Read More »

विद्या-भंजकों का प्रदर्शन; यह बंगाल की अस्मिता पर भाजपा का हमला है

Chittorgarh: BJP chief Amit Shah addresses during a public meeting in Chittorgarh, Rajasthan, on Dec 3, 2018

कल अमित शाह (Amit Shah) जब मध्य कोलकाता के धर्मतल्ला (Dharmatullah of central Kolkata) से उत्तरी कोलकाता में विवेकानंद के निवास (residence of Vivekananda in North Kolkata) तक ‘जय श्री …

Read More »

एंटायर पॉलिटिकल साइंस के ज्ञान से बचें, जानें भाखड़ा नंगल बांध का निर्माण किसने कराया

“भाखड़ा नंगल बांध सर छोटूराम ने बनवाया था ना कि नेहरू ने।” समझ ही गये होंगे दो दिन पहले यह ज्ञान किसने दिया होगा। बस यह जान लें कि सर …

Read More »

संविधान और मनुस्मृति को आगे कर जातीय संघर्ष की तैयारी

Mayawati shared with Narendra Modi and Atal Bihari Vajpayee

लोग भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, गरीबी, पाखण्ड (Corruption, unemployment, poverty, hypocrisy) जैसे मुद्दों को लेकर आंदोलित न हो जाएं, एकजुट होकर इनके खिलाफ मोर्चा न खोल दें, इसके बचाव में जाति और …

Read More »

डॉ. राम पुनियानी का लेख “वैश्विक आतंकवाद: बिगड़ रहे हैं हालात”

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

वैश्विक आतंकवाद (Global terrorism) ने भयावह स्वरूप अख्तियार कर लिया है. 9/11/ 2001 से हालात बिगड़ने शुरू हुए और यह सिलसिला अब भी जारी है. ट्विन टावर्स पर हमले (Attack …

Read More »

गुंडई के बल पर बंगाल विजय का दिवस्वप्न देख रही भाजपा बुरी तरह से फँस गई है, खाता भी न खुलेगा

Why Modi Matters to Indias Divider in Chief

बंगाल में चुनाव पर एक सामान्य चर्चा A general discussion on election in Bengal –अरुण माहेश्वरी बंगाल में चुनाव के परिणामों (Election results in Bengal) के बारे में लिखने की …

Read More »

फिर से मोदी सरकार बनने पर किसान खेत में और मजदूर फैक्टरियों में हो जाएंगे बंधुआ

Modi go back

लोकसभा चुनाव अंतिम चरण (Lok Sabha election last phase) में है। जहां एनडीए फिर से सरकार बनने के प्रति आश्वस्त दिखाई दे रहा है वहीं विपक्ष ने फिर से मोदी …

Read More »

हताश मोदी भाजपा के बुरे दिनों का संकेत देने लगे हैं

Narendra Modi An important message to the nation

प्रसिद्ध मनोविश्लेषक जॉक लकान (French psychoanalyst Jacques Lacan) ने आदमी में हताशा की गति ( Dialectics of Frustration) का एक चार्ट बनाया था जिसमें बताया गया था कि किसी में …

Read More »

मोदी के कुतर्कों को जनता समझ रही है और खुद मोदी जी भी समझ रहे हैं तभी उनकी भाषा स्तरहीन हो चुकी है

Rajiv Gandhi Narendra Modi

नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) और उनके सलाहकार अगर नेहरू और राजीव गाँधी के विरुद्ध चुनाव लड़ रहे हैं तो कांग्रेस के नेताओं ने भी कोई कमी नहीं की कि विश्वनाथ …

Read More »

मोदी की स्तरहीन भाषा : कुरुक्षेत्र से लोकतंत्र के खिलाफ मोदी की जंग का ऐलान

Sikar: Prime Minister and BJP leader Narendra Modi addresses during a public meeting in Rajasthan's Sikar, on Dec 4, 2018. (Photo: IANS)

मोदी की सवर्ण परस्ती से पैदा हुये लोकतंत्र के ढांचे के विस्फोटित होने लायक हालात! सत्रहवीं लोकसभा का चुनाव समापन की ओर अग्रसर है. अब इसके सिर्फ दो चरण बाकी …

Read More »

सत्ता की सूली : न्यायपालिका में हमेशा न्याय नहीं होता! कभी-कभी सिर्फ जजमेंट होता है!

Satta Ki Suli सत्ता की सूली, लोया की गाटेगांव यात्रा

सत्ता की सूली : अनसुलझी हत्याओं और अन्याय की कड़वी यादों को हमारे जेहन में जीवित रखती है बाम्बे हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश बी जी कोलसे पाटिल (B.J. Kolse Patil, …

Read More »

हिमाचली परिदृश्य : दरकते पहाड़ों की अकथनीय व्यथा

Himachali mountain tunnel Mining mafia Development project

कुछ दिन पूर्व जब उच्चतम न्यायालय ने अपने एक निर्णय में प्रदेश में विकास योजनाओं के लिए कटने वाले पेड़ों के कटान पर प्रतिबन्ध जारी रखने का निर्णय दिया तो …

Read More »

अडिग प्रेम : सच्चे प्रेम, दर्द और एक ऐसी रात की कहानी जिसका रोमांच कोई नारी शरीर ताउम्र नहीं भूल सकता

Seema Aseem Saxena Novel Adig Prem सीमा सक्सेना असीम का उपन्यास "अडिग प्रेम"

एक स्त्री के मन की यात्रा करने जैसा है सीमा सक्सेना असीम का उपन्यास “अडिग प्रेम” पढ़ना सीमा सक्सेना “असीम” का उपन्यास “अडिग प्रेम” पढ़ना एक स्त्री के मन की …

Read More »

भारतीय राजनीति से मोदी की अंतिम विदाई का चुनाव होगा 2019

Narendra Modi An important message to the nation

पेशेवर राजनीतिक विश्लेषणों (Professional political analyzes) की समस्या है कि वे समग्र राजनीतिक परिदृश्य (Overall political scenario) में अलग-अलग ताक़तों की पृथक उपस्थिति को देखने पर इतना अधिक बल देने …

Read More »

नफ़रत की उम्र छोटी होती है, मोहब्बत की कहानियाँ आने वाली पीढ़ियां याद रखती हैं

Rajiv Gandhi Narendra Modi

18 अक्टूबर, 2008 को प्रियंका गांधी नलिनी से मिलने जेल गयीं. नलिनी राजीव गांधी की हत्या के मुख्य षड्यंत्रकर्ताओं में से एकमात्र जीवित व्यक्ति हैं. गिरफ्तारी/मुकदमे के दौरान वह गर्भवती …

Read More »

यह जिम्मेदारी न्यायाधीशों की है कि न्यायपालिका पर खतरे को स्पष्ट करे

Supreme Court Chief Justice Ranjan Gogoi

न्यायपालिका (Judiciary,) एक स्त्री वाचक शब्द है। न्याय की विश्व प्रसिद्ध मूर्ति भी एक महिला की है। जिसे न्याय की देवी कहा जाता है। उसके एक हाथ में तराजू है …

Read More »

भारत रत्न राजीव गाँधी पर मोदी की अशालीन टिप्पणी : मोदी के खिलाफ सबसे कारगर हथियार, बहुजनों की सापेक्षिक वंचना

Rajiv Gandhi Narendra Modi

इस लेख को लिखे जाने के दौरान सत्रहवीं लोकसभा के पांचवें चरण का चुनाव (Seventh-phase Lok Sabha election) चल रहा है. अब तक हुए चुनावों के आधार पर राजनीतिक विश्लेषकों …

Read More »

धूल भरे मौसमों की ख़ुमारी पर दो बूँद की बारिश….

Ishq

धूल भरे मौसमों की ख़ुमारी पर दो बूँद की बारिश…. सौंधी महक से बौराई.. फ़िज़ां में…. शबनमी अल सुबहा के जोगिया लशकारे.. दरख़्तों के चेहरों से सरकते हैं.. तो.. अलसाये …

Read More »

बलिदान की गौरवशाली परम्परा

Today's 183rd day of fasting of Brahmachari Swami Atmbodhanand

इस देश के स्वतंत्रता संग्राम (Freedom Struggle) ने जुनूनी युवाओं के एक ऐसे समूह को देखा है जो अपना जीवन न्योछावर करने को तैयार था। भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, राम …

Read More »

फर्स्ट सर्जिकल स्ट्राइक : डियर मोदीजी मनमोहन सिंह ने हाफिज सईद को 14 दिन के भीतर अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करा दिया था

New Delhi: Former Prime Minister Dr. Manmohan Singh at the launch of his book "Changing India" in New Delhi on Dec 18, 2018. (Photo: IANS)

फर्स्ट सर्जिकल स्ट्राइक : डियर मोदीजी मनमोहन सिंह ने हाफिज सईद को 14 दिन के भीतर अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करा दिया था पुलवामा, उरी, पठानकोट आतंकी हमले (Terrorist Attack) के …

Read More »

एक अशिक्षित नेतृत्व से भारत को मुक्त करने का समय आ गया है

Narendra Modi An important message to the nation

आदमी के गठन में उसके इर्द-गिर्द के लोगों की उससे की जाने वाली अपेक्षाओं की बड़ी भूमिका होती है। आतंकवादियों की सोहबत (organization of terrorists) में रहने वाला आदमी हमेशा …

Read More »

चुनाव आयोग मानता है ईवीएम (EVM) से स्वतंत्र मतदान में बाधा होती है

Election Commission of India. (Facebook/@ECI)

आयोग ईवीएम (EVM) से चुनाव की जिद छोड़े मेनका गांधी (Maneka Gandhi) ने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अपने संसदीय चुनाव क्षेत्र (Parliamentary constituency) में पहले मुस्लिम मतदाताओं (Muslim voters) …

Read More »

आपको मौत का डर सता रहा है, हरेक तानाशाह इसी तरह डर डरकर प्रतिक्षण मरता है

Narendra Modi new look

आपको मृत्यु का भय सता रहा है, हरेक तानाशाह इसी तरह डर डरकर प्रतिक्षण मरता है मौत का डर और अवसाद (Fear and Depression of Death) – कांग्रेस (Congress) ने …

Read More »

चौथे राउंड के बाद चुनाव परिणामों के सटीक अनुमान का एक सूत्र जो ऑटिज्म पीड़ित चौकीदार को कर देगा बेहोश !

Narendra Modi An important message to the nation

लोकसभा चुनाव 2019 : चुनावी परिदृश्य पर एक सोच दिन रात खुद ही मोदी-मोदी (Modi-Modi) रटने वाले आत्म-मुग्ध मोदी (Self-enchanted Modi) इतने आत्मलीन हो गये हैं कि उनमें बाकी दुनिया …

Read More »

कोई बुआ-भतीजा-दीदी नहीं, भाजपा को रोकेगी केवल कांग्रेस ही, वरना आएगा तो मोदी ही

Lok sabha election 2019

भाजपा को सत्ता से दूर करना कांग्रेस के लिए बेहद कठिन काम Removing the BJP from power is very difficult for the Congress एच. एल. दुसाध -एच.एल.दुसाध (लेखक बहुजन डाइवर्सिटी …

Read More »

भगवा आतंकवाद पर काँग्रेस रक्षात्मक क्यों? यह सत्य की हार और असत्य की जीत है !

Sadhvi Pragya Thakur Digvijaya Singh

2019 के आम चुनाव (General Elections of 2019) में प्रत्याशी म.प्र. के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) काँग्रेस (Congress) के कुछ विरले नेताओं में से एक हैं जो कांग्रेसी …

Read More »

पेप्सिको का साथ, किसानों का विनाश : किसानों के विनाश का भाजपाई मॉडल बनकर उभरा मोदी का गुजरात मॉडल

Gujarat government BL1601 PEPSICO

जिस गुजरात (Gujarat) राज्य को भाजपाई विकास के मॉडल (model of development) के रूप में पेश किया जाता है, वहीं से खबर आई है. खबर यह है कि बहुराष्ट्रीय कंपनी …

Read More »

क्या जिन्ना एरोगेंट थे ? जानिए जिन्ना, कायदे आजम कैसे बने

Mohammad Ali Jinnah

मोहम्मद अली जिन्ना (Mohammad Ali Jinnah) को लेकर बहुत भ्रम है। chanchal bhu जिन्ना को चर्चिल का मोहरा (Pawn of Churchill) कहते हैं, लेकिन चर्चिल के मोहरे अगर जिन्ना थे …

Read More »

मोदी ने देश का चौतरफा बंटाधार कर दिया है इसे सुधारने में वर्षों लगेंगे

Sikar: Prime Minister and BJP leader Narendra Modi addresses during a public meeting in Rajasthan's Sikar, on Dec 4, 2018. (Photo: IANS)

गैर भाजपा सरकार (Non-BJP government) के सामने सब से बड़ी चुनौती समाजी तानाबाना और संवैधानिक संस्थाओं की साख (Credentials of constitutional institutions) बहाली होगी नयी लोक सभा और उसके बाद …

Read More »

संघ परिवार ने स्वीकार कर लिया है कि सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का कमल मोदी के नेतृत्व में भ्रष्ट और अश्लील पूंजीवाद के कीचड़ में खिलता है

Narendra Modi new look

नरेंद्र मोदी : पात्रता की पड़ताल नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने प्रधानमंत्री के रूप में अपनी पात्रता के पक्ष में विभिन्न कोनों/स्रोतों से लगातार स्वीकृति और समर्थन हासिल किया है. …

Read More »

और फिर से छतों से तुम्हें प्यार हो जायेगा…

Poetry on Kite by Kavita Arora

….पतंग उड़ा कर तो देखो.. तुम डोर संग हवाओं के रिश्ते महसूस करोगे… फ़लक तक रंगीन फरफराहटों में.. यक़ीनन काग़ज़ी टुकड़े नहीं, तुम उड़ोगे.. वो ख़्वाब चिड़ियों के परों वाले.. …

Read More »

धर्मयुद्ध के समक्ष हिन्दू हृदय सम्राट दिग्विजय सिंह !

Sadhvi Pragya Thakur Digvijaya Singh

सत्रहवीं लोकसभा का चुनाव (Seventh Lok Sabha election) अपना आधा सफ़र पूरा करने जा रहा है. अबतक तीन चरणों के चुनाव पूरे हो चुके हैं और विपक्ष का हौसला बुलंद …

Read More »

जानिए क्यों फैलाया जाता है भरम सारे राजनीतिक दल एक जैसे हैं

National News

गैर राजनीतिक बनाम राजनीतिक (Non-Political vs. Political)। राजनीतिक दल /पार्टियां सारी एक जैसी नही होतीं। सारे राजनीतिक दल (Political party) एक जैसे हैं या एक ही हैं, ये बहुत बड़ा …

Read More »

आज की ये 4 बड़ी खबरें जिन्हें पढ़कर कोई भी भला आदमी सिहर उठेगा कैसे मोदी ने पूरे भारत को सड़ा दिया है

Narendra Modi An important message to the nation

भारत की अभी क्या स्थिति है (What is the situation of India), इसे आज के ‘टेलिग्राफ़’ (Telegraph India) की ख़बरों से जाना जा सकता है। चारों ओर झूठ और धोखाधड़ी …

Read More »

हू किल्ड करकरे : सवाल यहाँ से खत्म नहीं, शुरू होते हैं

कबीर दास ने बहुत पहले ही साधु और जोगियों को मिलने वाले सम्मान और श्रद्धा के लालच में साधुओं का बाना पहिन लेने वालों में से कतिपय लोगों के प्रति …

Read More »

मोदी के जनाधार के चरित्र को जानें

Narendra Modi An important message to the nation

मोदी के जनाधार के चरित्र को जानें मध्यवर्ग की खूबी (Merit of middle class) है इसमें अधिकांश लोग विवेक से कम और मीडिया माहौल से ज्यादा संचालित होते हैं। अधिकांश …

Read More »

हिंदुत्व और सेक्युलर राजनीति के बीच पिसते मुसलमान

Vidya Bhushan Rawat

अभी कुछ दिनों पहले कोलकाता से प्रकाशित अख़बार टेलीग्राफ (Newspaper Telegraph published from Kolkata) में अलीगढ़ से इमरान सिद्दीकी की एक रिपोर्ट कहती है के कैसे मुस्लिम मतदाता (Muslim voter) …

Read More »

क्या यह राफेल मामले में न्यायिक सक्रियता पर एक तरह की “जज लोया” प्रतिक्रिया है ?

Supreme Court Chief Justice Ranjan Gogoi

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई (Supreme Court Chief Justice Ranjan Gogoi) की चेतावनी को हल्के में न लें। उन्होंने कहा कि न्यायपालिका की स्वतंत्रता (Independence of judiciary) खतरे …

Read More »

हिन्दू धर्म का मल ही हिन्दुत्व का चन्दन है !

Sadhvi Pragya Thakur

हिन्दू धर्म का मल ही उन्हें चन्दन है ! हिंदुत्व की राजनीति (Hindutva politics) हिन्दू धर्म के मलादि उत्सर्जन को चन्दन की तरह माथे पर मलती है, आतंकवाद के आरोप की …

Read More »

नरेंद्र मोदी को न एनडीए की परवाह है, न भाजपा की, और न पितृसंस्था संघ की

Narendra Modi An important message to the nation

एक ओर अभूतपूर्व शोर-शराबा, दूसरी तरफ असाधारण चुप्पी। सत्रहवीं लोकसभा (Seventh Lok Sabha) के चुनावी परिदृश्य (Electoral scenario) को शायद इस एक वाक्य में समेटा जा सकता है! इतना शोर …

Read More »

इक गढ़े सच पर अंधा राष्ट्र चल रहा है.. भक्त सोचते हैं देश बदल रहा है

RSS Half Pants jaya prada Mohd Azam Khan

इक गढ़े सच पर अंधा राष्ट्र चल रहा है.. भक्त सोचते हैं देश बदल रहा है ओ इतिहास पर पलने वाली दीमकों.. बस भी करो.. अब छिजी हुई भारतीयता में …

Read More »

मोदीजी आपका विरोध न करूं, ये कैसे सम्भव है ? आपने 5 साल में वो किया जो लोग सौ साल में नहीं कर पाते !

Narendra Modi new look

आप मोदी विरोधी क्यों हैं ? : पूजा श्रीवास्तव आखिर आप मोदी कितना विरोध क्यों करते हो ? ये एक ऐसा सवाल है जो मुझसे अनगिनत बार पूछा जाता है। …

Read More »

अस्मिता विमर्श को इतना आत्मघाती न बनाइए कि आंबेडकर की Annihilation of caste एक प्रहसन में तब्दील हो जाए

Kanhaiya Kumar NDTV Prime Time

सुदर्शन की एक बहुचर्चित कहानी है ‘हार की जीत’, जिसमें खड्गसिंह नामक डाकू बाबा भारती से विश्वासघात करके उनका घोड़ा जबरदस्ती हथिया लेता है। घोड़ा छीने जाने के बाद बाबा …

Read More »

सत्ता की लालसा में दल-बदल की राजनीति

Party Defection politics

बिके करोड़ों में यहां, नेतागण श्रीमान/ सब कुछ बिकता है यहां, बचा कहां ईमान वर्तमान राजनीति में विधायकों और सांसदों के दल बदलने की प्रक्रिया (Party change process) जैसे बेहद …

Read More »

लोया की गाटेगांव यात्रा

Satta Ki Suli सत्ता की सूली, लोया की गाटेगांव यात्रा

महाराष्ट्र का लातूर एक विनाशकारी भूकंप के लिए जाना जाता है। 30 सितंबर,1993 कीउस तबाही को याद कर लोगों की आज भी रूह कांप जाती है। जज लोया 30 हजार …

Read More »

जालियांवाला बाग़ क़त्लेआम की साझी शहादत साझी-साझी विरासत की वो गौरव गाथा जो सरकार नहीं बताएगी

Jallianwala Bagh जालियांवाला बाग़

जालियांवाला बाग़ क़त्लेआम की 100साला बरसी : साझी शहादत साझी–साझी विरासत की गौरव गाथा जो सरकारी बस्तों में बंद पड़ी है! विश्व इतिहास की पहली साम्राज्यवादी शक्ति (The first imperialist …

Read More »

अस्मिता, अंबेडकर और रामविलास शर्मा

Jagadishwar Chaturvedi

रामविलास शर्मा (Ram Vilas Sharma) के लेखन में अस्मिता विमर्श को मार्क्सवादी नजरिए (Marxist Attitudes) से देखा गया है। वे वर्गीय नजरिए से जाति प्रथा (caste system) पर विचार करते …

Read More »

जानिए वे कन्हैया कुमार से नफ़रत क्यों करते हैं ?

Kanhaiya Kumar

वे कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) से नफरत क्यों करते हैं ? यह सवाल हमें बार-बार पूछना चाहिए। जितनी बार इस सवाल पर सोचेंगे नए कारण हाथ लगेंगे। कन्हैया कुमार ने …

Read More »

केसरी फिल्म : अक्षय कुमार को खुला पत्र

akshay kumar Kesari

श्रीमान, अक्षय कुमार। आपकी केसरी फिल्म (Akshay Kumar’s Kesari Film) देख कर आ रहा हूँ। क्या जबरदस्त फिल्माकंन है। फिल्म पर अच्छी मेहनत की गयी है। लोकेशन और ड्रेसिंग भी …

Read More »

बाबा साहेब अंबेडकर : भारत में सामाजिक क्रांति के सबसे बड़े नायक

Baba Saheb Ambedkar The biggest hero of the social revolution in India बाबा साहेब अंबेडकर : भारत में सामाजिक क्रांति के सबसे बड़े नायक

बाबा साहेब अंबेडकर जयंती (Ambedkar Jayanti) पर सभी को जय भीम. आज के दिन भी चुनाव आचार संहिता (Election Code of Conduct) के नाम पर कार्यक्रमों को रोकने की कोशिश …

Read More »

सांप्रदायिक ताम-झाम है, देशभक्ति का नारा

Rajendra Sharma राजेंद्र शर्मा। लेखक वरिष्ठ पत्रकार व स्तंभकार हैं।

देशभक्ति का नारा : 2019 के लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) में पहला वोट पडऩे तक ही, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक और रिकार्ड कायम कर चुके थे। वह स्वतंत्र …

Read More »

जलियांवाला बाग : कुर्बानी के सौ साल, शहीदों को सलाम!  

Socialist thinker Dr. Prem Singh is the National President of the Socialist Party. He is an associate professor at Delhi University समाजवादी चिंतक डॉ. प्रेम सिंह सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हैं। वे दिल्ली विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर हैं

आज 13 अप्रैल (April 13) 2019 को जलियांवाला बाग नरसंहार (Jalianwala Bagh Massacre) का सौवां साल है. वह बैसाखी के त्यौहार (festival of Baisakhi) का दिन था. आस-पास के गावों-कस्बों …

Read More »

लोकसभा चुनाव 2019 : यूपी में लड़ाई गठबंधन बनाम कांग्रेस हुई

Lok sabha election 2019

सात चरणों में पूरा होने वाले 17 वीं लोकसभा चुनाव (17th Lok Sabha election) के पहले चरण में 18 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों की 91 सीटों पर मतदान …

Read More »

नेहरू ने कितना परेशान किया मोदीजी को!

How much of Nehru troubled Modi

भाजपा (BJP) ने हाल में लोकसभा चुनाव 2019 व   के लिए अपना घोषणापत्र जारी किया। सरसरी निगाह से देखने पर ही इस दस्तावेज के बारे में दो बातें बहुत स्पष्ट …

Read More »

जनहित में मजबूत नेता नहीं मजबूर सरकार चुनें

Vidya Bhushan Rawat

आज स्वतन्त्र भारत के सबसे महत्वपूर्ण आम चुनावों (Lok Sabha Elections 2019) की शुरुआत होने जा रही है. हमें उम्मीद है देश के जन मानस आज अपनी समझदारी से बदलाव …

Read More »

खुला और छिपा नस्लवाद और साम्प्रदायिकता

Irfan Engineer

गत 15 मार्च 2019 को क्राईस्टचर्च, न्यूजीलैंड की मस्जिद अल-नूर और लिंनवुड एवेन्यू मस्जिद (Christchurch, New Zealand’s Masjid al-Noor and Lynwood Avenue Mosque) में जुम्मे की नमाज अदा कर रहे …

Read More »

प्रियंका गांधी के हनुमानगढ़ी जाने पर हनुमान जी को दलित बताने वाली भाजपा के पेट में दर्द क्यों ?

Priyanka Gandhi Vadra. (File Photo: IANS)

अयोध्या में रोड शो (Road show in Ayodhya) के क्रम में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Congress general secretary Priyanka Gandhi Vadra) के वहां की हनुमानगढ़ी जाने को लेकर भारतीय …

Read More »

लोकसभा चुनाव 2019 : भाजपा वर्ग-शत्रु तो कांग्रेस बहुजनों का वर्ग-मित्र है

bjp vs congress

इस लेख को लिखे जाने के दौरान प्रथम चरण का चुनाव प्रचार (First phase election campaign of Lok Sabha Elections 2019) ख़त्म हो चुका है। इस दरम्यान भाजपा के विरुद्ध …

Read More »

साफ़ दिखाई देने लगी है मोदी की पराजय… मोदी की सूरत बदहवासी में कैसी दिखाई देने लगी है !

Narendra Modi An important message to the nation

 जिस बात का दो साल पहले ही अनुमान लगाया जा सकता था कि अब फिर मोदी के लौट कर आने की संभावना नहीं रही है, समय बीत चुका है, वह …

Read More »

हारे हुए राष्ट्रविरोधी राष्ट्रवाद की हुंकार भर रह गए हैं मोदी

Modi go back

हारे हुए राष्ट्रवाद की हुंकार भर रह गए हैं मोदी जी। मोदी-शाह गिरोह जिस राष्ट्रवाद को इस चुनाव के केंद्रीय विमर्श में लाने के लिए यहाँ वहां फिफियाये घूम रहा …

Read More »

आतंकवाद का धर्म से कोई लेनादेना नहीं है

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

9/11, 2001 की दिल को हिला देने वाली त्रासदी, जिसमें करीब 3,000 निर्दोष लोग मारे गए थे, के बाद, अमरीकी मीडिया ने एक नया शब्द गढ़ा, ‘इस्लामिक आतंकवाद’. यह पहली …

Read More »

‘न्याय’ : भाजपा की शंका के मुकाबले कांग्रेस के वायदे पर एतबार क्यों है ?

Lalit Surjan ललित सुरजन। लेखक वरिष्ठ पत्रकार, स्तंभकार व साहित्यकार हैं। देशबन्धु के प्रधान संपादक

[siteorigin_widget class=”ai_widget”][/siteorigin_widget] ‘न्याय’ : भाजपा की शंका के मुकाबले कांग्रेस के वायदे पर एतबार क्यों है ? कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Congress President Rahul Gandhi) ने न्यूनतम आय योजना (Minimum …

Read More »

आरएसएस/भाजपा का हिंदू-राष्ट्र धर्मनिरपेक्षता के चोर बाज़ार में बनता है

Socialist thinker Dr. Prem Singh is the National President of the Socialist Party. He is an associate professor at Delhi University समाजवादी चिंतक डॉ. प्रेम सिंह सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हैं। वे दिल्ली विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर हैं

लोकसभा चुनाव 2019 : विपक्षी एकता के लिए एक नज़रिया (2) मौजूदा दौर की भारतीय राजनीति (Indian politics of the current) में नीतियों के स्तर पर सरकार और विपक्ष के …

Read More »

राहुल की “न्यूनतम आय गारंटी योजना” : ‘न्याय’ से न्याय की उम्मीद बेमानी नहीं—–

Rahul Gandhi

पिछले एक दशक के दौरान गरीब और गरीबी (Poor and poverty) दोनों इस कदर सरकार की नीतियों (Government policies) और राजनीति के केंद्र (Center of Politics) से गायब रहे हैं …

Read More »

तो स्वार्थ सिद्धि कर रहा है मोदी विरोधी मीडिया भी

National news

17वीं लोकसभा के चुनाव प्रचार (17th Lok Sabha election campaign) ने जोर पकड़ लिया है। मोदी के पांच साल के शासन (Modi’s five year rule) में संविधान और लोकतांत्रिक संस्थाएं …

Read More »

लोकतंत्र के उल्टे कदम

Narendra Modi new look

लोकतंत्र (Democracy) सबसे अच्छी शासन प्रणाली (governance system) है, बशर्ते वह अपनी मूल भावना के अन्दर काम कर पा रही हो। हमारे देश में इस के नाम पर जैसे जैसे …

Read More »

भाजपा से आयातित नेताओं को कैसे स्वीकारें सामाजिक न्याय के समर्थक ?

Vidya Bhushan Rawat

नयी सरकार को बने अभी एक साल ही हुआ था और पूरे नेता मोदी (Modi) रंग में रंगे हुए थे. समाजवाद (Samajwad) के सहारे संसद में पहुंचे मौसम विज्ञानियों ने …

Read More »

फासीवाद अब नजरों के सामने हैं, विपक्ष अपनी भूमिका अदा करें !

Narendra Modi An important message to the nation

हर बीतते दिन के साथ नरेन्द्र मोदी अपने हिटलरी रूप (Hitleri form of Narendra Modi) पर से एक-एक कर सारे आवरण उतारते चले जा रहे हैं। अब वे खुले आम …

Read More »

सिर्फ़ चुनावी आवाज नहीं कन्हैया…. कन्हैया से तेजस्वी घबराए हुए हैं

Kanhaiya Kumar कन्हैया कुमार

बेगुसराय लोकसभा सीट(Begusarai Lok Sabha seat) का अन्य लोकसभा क्षेत्रों में सबसे महत्वपूर्ण हो जाना और सबसे अधिक चर्चा में होना अनायास ही नहीं है. यह लोक सभा सीट अपने …

Read More »

एंटी सैटेलाइट मिसाइल का राजनीतिकरण : नरेंद्र मोदी का घोर पाप

Narendra Modi An important message to the nation

भारत अब आधिकारिक रूप से उन देशों के क्लब में शामिल हो गया है, जिनके पास अंतरिक्ष में किसी सैटेलाइल को मार गिराने की क्षमता (Ability to kill any satellite …

Read More »

और अंत में लोहिया! विडम्बना या पाखंड की पराकाष्ठा? 

Narendra Modi new look

23 मार्च को डॉ. राममनोहर लोहिया का जन्मदिन (Dr. Ram Manohar Lohia’s Birthday) होता है. हालांकि कहा जाता है वे अपना जन्मदिन मनाते नहीं थे. क्योंकि उसी दिन क्रांतिकारी भगत …

Read More »

और अंत में लोहिया के व्यापारी! विडम्बना या पाखंड की पराकाष्ठा? 

Socialist thinker Dr. Prem Singh is the National President of the Socialist Party. He is an associate professor at Delhi University समाजवादी चिंतक डॉ. प्रेम सिंह सोशलिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हैं। वे दिल्ली विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर हैं

23 मार्च को डॉ. राममनोहर लोहिया का जन्मदिन (Dr. Ram Manohar Lohia’s Birthday) होता है. हालांकि कहा जाता है वे अपना जन्मदिन मनाते नहीं थे. क्योंकि उसी दिन क्रांतिकारी भगत …

Read More »

सोनिया, राहुल और प्रियंका को गाली देने वाले गलीज संघियों इस ब्राह्मणी की भी सुनो

Sonia Gandhi

कभी सोनिया के जीवन को देखो , कितना गरियाया गया , कितना कोसा गया , कितना सरापा गया , किस बात के लिए ? अपने जन्म भूमि के लिए जिस …

Read More »

कामचोर नहीं हैं… बीएसएनएल के कर्मचारी

BSNL

जब कभी भी कर्मचारियों के, मेरा मतलब शासकीय, अर्द्ध शासकीय कार्यालयों और कारखानों के कर्मचारियों (Employees of government, semi government offices and factories) के कामचोरी की बात होती है तो मुझे थोड़ा आश्चर्य …

Read More »

मोदी की मनोदशा और भाजपा के लिये उसके अशनि संकेत

Chowkidar Narendra Modi

मोदी जिस प्रकार से बिना सोचे-समझे अपने सब लोगों को चौकीदार बनाने में लग गये हैं, मनोविश्लेषण की भाषा में इसे जुनूनी विक्षिप्तता (obsessional neurotic) कहते हैं। और, जब नेता विक्षिप्त हो जाए …

Read More »

भगतसिंह का लेख – लाला लाजपत राय और नौजवान

Shaheed E Azam Bhagat Singh

(यह वह दौर था जब कौंसिल के चुनावों में लाला लाजपत राय ने कांग्रेस का साथ छोड़कर उसकी मुख़ालफ़त करनी आरम्भ कर दी थी और अनेक ऐसी बातें कहीं जो …

Read More »

पुण्य प्रसून प्रकरण और प्रतिष्ठित पत्रकारिता के संकट पर एक सोच

Punya Prasun Bajpai

पुण्य प्रसून वाजपेयी (Punya Prasun Bajpai) ने जबसे मोदी सरकार की कमियों और घोटालों(Modi Government’s scandals and shortcomings) पर खुल कर बोलना शुरू किया है, तभी से एक पेशेवर पत्रकार (Professional journalist) के रूप में …

Read More »

प्रजातंत्र की चाट-पकौड़ी

P. K. Khurana

खबर है कि जेट एयरवेज़ (Jet airways) के सिर्फ 41 विमान उड़ान भरने के लिए बचे हैं, इसके कर्मचारियों को दिसंबर से ही पूरा वेतन नहीं मिल रहा है अत: …

Read More »

महान शहीद भगत सिंह, राजगुरू, सुखदेव और बेशर्म हिंदुत्व टोली

Martyrs Bhagat Singh, Rajguru, Sukhdev and the shameless Hindutva Gang.jpg

23 मार्च 2019 को भगत सिंह (Bhagat Singh), राजगुरू (Rajguru) और सुखदेव (Sukhdev) का 88वां शहादत दिवस था। उन्हें अँगरेज़ सरकार ने लाहौर जेल (अब पाकिस्तान में) इस जुर्म में …

Read More »

झूठ का तूफान और मोदी सरकार : RSS की नयी मैकार्थियन रणनीति, राष्ट्रवाद के नाम पर भय पैदा करो

पुलवामा की आतंकी घटना के साथ ही भाजपा अपने मैकार्थियन एजेण्डे को आगे बढ़ाते हुए नई कड़ी के तौर पर ''गद्दार बनाम देशभक्त'' की थीम पर प्रचार अभियान आरंभ कर …

Read More »

मोदी जी हैं तो जुमलेबाजी मुमकिन है, पर अब उनका प्रधानमंत्री नहीं बन पाना मुमकिन है

JaiShankar Gupta जय शंकर गुप्ता वरिष्ठ पत्रकार हैं।

सोशल मीडिया पर एक नया नारा (A new slogan on social media) चला है, ‘मोदी है तो मुमकिन है.’ (Modi hai to Mumkin hai). हमारे पत्रकार मित्र संजय सिंह के …

Read More »

और न्यूज चैनलों ने पाकिस्तान फतह कर लिया

Amit Maurya अमित मौर्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से प्रकाशित होने वाले समाचारपत्र “गूंज उठी रणभेरी” के संपादक हैं।

अखबारी काम और लोगों से मिलते जुलते रात के ग्यारह बज गए थे। घर पहुँचा तो बच्चे सो चुके थे। बीबी ने अर्धनिद्रित अवस्था में मुझे देखते ही ऊंघते हुए …

Read More »

आज मार्क्सवादी अंतोनियो ग्राम्शी का जन्मदिन है, जिन्होंने कहा था सभी मनुष्य दार्शनिक हैं

antonio gramsci

आज अन्तोनियो ग्राम्शी का जन्मदिन (Antonio Gramsci’s Birth Day) है। मार्क्स-लेनिन (Marx-Lenin) के बाद जिस मार्क्सवादी (Marxist) ने सबसे ज्यादा सारी दुनिया के मार्क्सवादियों को प्रभावित किया वे हैं ग्राम्शी। …

Read More »

सामाजिक आतंक के खिलाफ थे स्वामी विवेकानंद, संघ का असली लक्ष्य हिंदुत्व की रक्षा नहीं

swami vivekananda

जगदीश्वर चतुर्वेदी आरएसएस का प्रधान लक्ष्य (RSS target) है भारत को अंधविश्वास में बांधे रखना। सामाजिक रूढ़ियों के सर्जकों-संरक्षकों को बढ़ावा देना, सार्वजनिक मंचों से स्वाधीनता आंदोलन (Independence movement) और …

Read More »

कहानी को अस्मिता की राजनीति से सबसे पहले मोहन राकेश ने जोड़ा

Mohan Rakesh

आज मोहन राकेश के जन्मदिन पर विशेष Special on the birthday of Mohan Rakesh जगदीश्वर चतुर्वेदी आज मोहन राकेश का जन्मदिन (Mohan Rakesh’s Birthday) है। सन् 1925 में आज के ही …

Read More »

धर्म लोकप्रचलित तर्कपद्धति है, धर्म उत्पीड़ित प्राणी की आह है, एक हृदयहीन संसार का हृदय है – कार्ल मार्क्स

Karl Marx

धर्म लोकप्रचलित तर्कपद्धति है, धर्म उत्पीड़ित प्राणी की आह है, एक हृदयहीन संसार का हृदय है – कार्ल मार्क्स जगदीश्वर चतुर्वेदी अनेक लोग हैं जो कार्ल मार्क्स के धर्म संबंधी …

Read More »

हरेक अक्लमंद मोदीजी का साथ छोड़कर भाग रहा है

Modi go back

हरेक अक्लमंद मोदीजी का साथ छोड़कर भाग रहा है प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद से अर्थशास्त्री सुरजीत भल्ला के त्यागपत्र पर त्वरित टिप्पणी Quick comment on resignation of economist Surjeet …

Read More »

कम्युनिस्ट दल जब तक हिंदी का महत्व नहीं समझते, वे हिंदी क्षेत्र में संकट में रहने को अभिशप्त हैं

भाकपा, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, CPI, Communist Party of India,

कम्युनिस्ट दल जब तक हिंदी का महत्व नहीं समझते, वे हिंदी क्षेत्र में संकट में रहने को अभिशप्त हैं जगदीश्वर चतुर्वेदी कम्युनिस्ट पार्टी के लोग राष्ट्रभाषा हिंदी और कम्युनिकेशन की …

Read More »

मोदी में अभी तक पीएम के सामान्य लक्षण, संस्कार, आदत और भाषण की भाषा नहीं

मोदी में अभी तक पीएम के सामान्य लक्षण, संस्कार, आदत और भाषण की भाषा नहीं हिन्दुत्ववादी "तानाशाही" के 15 लक्ष्य 15 goals of Hindutva "dictatorship" जगदीश्वर चतुर्वेदी जो लोग फेसबुक …

Read More »

साधारण मनुष्य की महानता का महाख्यान 1917 की अक्तूबर क्रांति

साधारण मनुष्य की महानता का महाख्यान 1917 की अक्तूबर क्रांति सन् 1917 की अक्तूबर क्रांति के मौके पर – साधारण मनुष्य की महानता का महाख्यान October Revolution of 1917 जगदीश्वर …

Read More »

जेएनयू : लिबरल विश्वविद्यालय का अंत

जेएनयू : लिबरल विश्वविद्यालय का अंत JNU: End of Liberal University ideology सत्ता के वर्चस्व व प्रतिरोध का विद्यालयी वातावरण पर पड़ने वाले प्रभाव जगदीश्वर चतुर्वेदी मोदी सरकार आने के …

Read More »

खतरे में मोदी-शाह की सियासत

P. K. Khurana

खतरे में मोदी-शाह की सियासत Khatre Main Modi-Shah Ki Siyasat  पी. के. खुराना मोदी सरकार की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं। चार जजों की प्रेस कान्फ्रेंस, अडानी समूह को टैक्स …

Read More »

प्रकृति से खिलवाड़ और हमारे लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ पर मैं भी … ! #MeToo

MeToo Movement Reaches the Police in Gujarat

प्रकृति से खिलवाड़ और हमारे लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ पर मैं भी … ! मैं भी … ! तूफान का रूप ले चुका है   पी. के. खुराना भारतवर्ष इस …

Read More »

दुनिया का सबसे बड़ा नशा है ‘विकास’, औद्योगिक क्रांति से आर्थिक विषमता बढ़ी है

Environment and climate change

पर्यावरण, मानव और मानवता को रौंदता विकास, क्या है भारत में जलवायु परिवर्तन को लेकर मिशन दुनिया का सबसे बड़ा नशा है ‘विकास’ विवेकानंद माथने ‘विकास’ दुनिया की सबसे बड़ा …

Read More »

वक्त की ज़रूरत है कश्मीर को क्रूर सियासत से बचाना

News Analysis and Expert opinion on issues related to India and abroad

वक्त की ज़रूरत है कश्मीर को क्रूर सियासत से बचाना उबैद उल्लाह नासिर एक ऐसे समय में जब खून के दरिया में गोते लगा रहे कश्मीर में शांति स्थापित करने …

Read More »

नाम में क्या रखा है? बहुत कुछ : अंबेडकर के नाम में ‘रामजी‘ पर जोर

Ram Puniyani राम पुनियानी, लेखक आई.आई.टी. मुंबई में पढ़ाते थे और सन् 2007 के नेशनल कम्यूनल हार्मोनी एवार्ड से सम्मानित हैं।)

इन दिनों कई दलित संगठन (Dalit organization), उत्तर प्रदेश सरकार (Government of Uttar Pradesh) द्वारा उसके आधिकारिक अभिलेखों में भीमराव अंबेडकर के नाम में ‘रामजी‘ शब्द (The word ‘Ramji’ in …

Read More »

“बोसी बसवा” से होशियार, ताकत से विचार को मारना चाहता है

Masihuddin sanjari, मसीहुद्दीन संजरी

सच बताओ तुम किस ओर खड़े हो? आदमी या आदमखोर की तरफ? मसीहुद्दीन संजरी “बोसी बसवा” (bosi-basava) कन्नड़ भाषा (Kannada language) का एक शब्द जिसका मतलब होता है ‘जब भी …

Read More »