Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र

आपकी नज़र

Guest writers views devoted to commentary, feature articles, etc.. अतिथि लेखक की टिप्पणी, फीचर लेख आदि

वे तो शहीद हुए हैं, मरा तो कुछ और है !! निर्लज्ज धूर्तता को मौजूदा हुक्मरान अपनी चतुराई मानते हैं…

badal saroj

किसान आंदोलन में शहादत देने वाले (Martyrs in the Peasant Movement) तो इतने सबल थे कि निरंकुश हठ का अहंकार तोड़ गए। बाकी सब भी ध्वस्त करेंगे। कृषि मंत्री के चुनिंदा स्मृति-लोप की क्रोनोलॉजी Chronology of selected amnesia of Agriculture Minister तीन कृषि कानूनों की वापसी (withdrawal of three agricultural laws) के लिए लड़ते-लड़ते किसान आंदोलन में शहीद (Martyr in …

Read More »

डाटालेस नादान सरकार

pm narendra modi

कानून वापसी हो गई पर नहीं हुई किसानों की घर वापसी देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today तीन कृषि कानूनों की वापसी का विधेयक (Bill to withdraw three agricultural laws) संसद में पारित करवा कर केंद्र सरकार ने यह मान लिया था कि अब एक साल से आंदोलनरत किसान अपने घरों को लौट जाएंगे। लेकिन कानून वापसी …

Read More »

ममता बनर्जी की सक्रियता : आखिर भाजपा की खुशी का राज क्या है ?

mamata banerjee

Mamata Banerjee’s Activism: What is the secret of BJP’s happiness? बमुश्किल छह माह पहले बंगाल के विधानसभा के चुनाव में भाजपा को बुरी तरह शिकस्त देने वाली तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress, which badly defeated BJP in Bengal assembly elections), जिसने समूचे विपक्ष को भी नई ऊर्जा से भर दिया था और भाजपा के खिलाफ शेष मुल्क में ‘बंगाल अनुभव’ दोहराने …

Read More »

कृषि कानूनों का निरस्तीकरण : संसद को आवारा होने से रोक दिया किसान आंदोलन ने

pm narendra modi

Farmers’ movement stopped Parliament from being a vagabond The Farm Laws Repeal Bill, 2021 के लोकसभा में पास होने के साथ ही आज देश के संसद में इतिहास बन गया, जब देश की सरकार को अपने बनाये गए तीन कृषि कानून वापिस लेने के लिए मज़बूर होना पड़ा। जी हां, यह बिल लोकसभा में बिना किसी चर्चा के पास हो …

Read More »

कृषि कानूनों का निरस्तीकरण : गाँव बसने से पहले ही आ पहुँचे उठाईगीरे

badal saroj

क़ानून वापसी के साथ-साथ कानूनों की पुनर्वापसी की जाहिर उजागर मंशा किसानों ने हठ, अहंकार और घमण्ड को चूर किया (Peasants crushed stubbornness, arrogance and pride) 19 नवम्बर की भाषणजीवी प्रधानमंत्री के तीनों कानूनों को वापस लेने की मौखिक घोषणा (Oral announcement to withdraw all three laws) पर कैबिनेट ने 5 दिन बाद 24 नवम्बर को मोहर लगाई और संसद …

Read More »

कोरोना ने बड़े पर्दे को किया किक आउट, ओटीटी की बल्ले-बल्ले

entertainment

Corona kicked out the big screen, OTT benefited सिनेमाघर बनाम ओटीटी प्लेटफॉर्म : क्या बड़े पर्दे की तरफ़ लौट पाएंगे दर्शक? सरदार उधम और जय भीम जैसी फिल्मों में ओटीटी पर रिलीज़ होने के बाद भी जिस तरह से सफलता पाई है, उसे देख अब फिल्मकारों का विश्वास ओटीटी पर ही बन गया है.          कोरोना की वज़ह से बड़े पर्दे …

Read More »

क्या ममता बनर्जी राष्ट्रीय स्तर पर असदुद्दीन ओवैसी होने जा रही हैं?

कांग्रेस को कमजोर कर भाजपा से कैसे लड़ेंगी ममता बनर्जी? How will Mamata Banerjee fight the BJP by weakening the Congress? कांग्रेस को कमजोर कर क्या देश में वैकल्पिक सियासत खड़ी हो सकती है?- यह सवाल अचानक महत्वपूर्ण हो गया है। अगर इसका जवाब ‘हां’ है तो ममता बनर्जी सही दिशा में कदम उठा रही हैं। और, अगर इसका जवाब …

Read More »

फिदेल कास्त्रो की माँ, धर्म और गरीबी

fidel castro

Fidel Castro’s Mother, Religion and Poverty फिदेल कास्त्रो से जुड़ी दिलचस्प बातें (Interesting facts about Fidel Castro in Hindi) धर्मसंबंधी निजी सवालों के उत्तर (Answers to Personal Questions About Religion) देते समय फिदेल कास्त्रो के अंदर कोई विभ्रम नजर नहीं आते फिदेल कास्त्रो को स्पष्टवादिता का संस्कार क्रांति से मिला। क्रांतिकारी होने के नाते वे हर बात को स्पष्ट ढंग …

Read More »

मण्डल मसीहा का सादर स्मरण, ओबीसी प्रधानमंत्री को भारत भाग्यविधाता वही बना गए

vishwanath pratap singh

करीब चार दशक की पेशेवर पत्रकारिता में मुझे रिपोर्टिंग का मौका बेहद कम मिला है, क्योंकि हमेशा अखबार निकालना मेरी जिम्मेदारी होती थी। इसलिए राजनेताओं से मेरा संवाद बहुत कम रहा है। न के बराबर। झारखण्ड में शिबू सोरेन, एके राय, विनोद बिहारी महतो आंदोलनों के साथी थे। जैसे सांसद प्रदीप टम्टा। कुछ लोग विश्वविद्यालयों के सहपाठी भी हुए। त्रिपुरा …

Read More »

‘संविधान दिवस’ कार्यक्रम : तिलमिला क्यों गए प्रधानमंत्री मोदी?

the prime minister, shri narendra modi addressing at the constitution day celebrations, at parliament house, in new delhi on november 26, 2021. (photo pib)

दिवस वहां, संविधान कहां! ‘संविधान दिवस’ के इस आयोजन से अनुपस्थित रहने का 14 विपक्षी दलों का फैसला : तिलमिला गए प्रधानमंत्री ‘Constitution Day’ program: Why did Prime Minister Modi go to tears? इस में हैरानी की कोई बात नहीं है कि सेंट्रल हाल में आयोजित सातवें ‘संविधान दिवस’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi at the 7th ‘Constitution Day’ …

Read More »

पं. जवाहर लाल नेहरू के लिए गुटनिरपेक्षता के सिद्धांत

jawahar lal nehru

NAM and Nehru’s Principled Stand: Part 2 गुटनिरपेक्ष आंदोलन और नेहरू का सैद्धांतिक रुख़ : II | The Non-Aligned Movement and Nehru’s Theoretical Stance: II पं. नेहरू के लिए गुटनिरपेक्षता के सिद्धांत | Principles of Non-Alignment for Pt. Nehru पं. जवाहर लाल नेहरू के लिए आम तौर पर निरस्त्रीकरण (disarmament) और ख़ास तौर पर परमाणु हथियारों का उन्मूलन (elimination of …

Read More »

जेवर एयरपोर्ट : भाजपा का चुनावी हित या विकास की राष्ट्रनीति ?

prime minister, shri narendra modi at the foundation stone laying ceremony of noida international airport, jewar

Jewar Airport: BJP’s electoral interest or national policy of development? देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today उत्तरप्रदेश में भाजपा की स्थिति (BJP’s position in Uttar Pradesh) मजबूत करने के लिए परियोजनाओं के उद्घाटन और शिलान्यासों के सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 25 नवंबर गुरुवार को जेवर में अंतरराष्ट्रीय विमानतल की नींव रखी। यह …

Read More »

मोदीनगर नगर पालिका ने व्हिसल ब्लोअर की जान ही खतरे में डाल दी

opinion debate

मोदीनगर नगर पालिका ने अतिक्रमण मामले की शिकायतकर्ता की जान खतरे में डाली Modinagar municipality put the whistle blower’s life in danger मोदीनगर नगर पालिका और तत्कालीन अधिशासी अधिकारी ने अवैध अतिक्रमण मामले की शिकायतकर्ता की ही जान को जोखिम में डालकर, सूचना प्रदाता (व्हिसल ब्लोअर) संरक्षण अधिनियम, 2014, की अवहेलना कर दी। प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर पालिका परिषद, …

Read More »

जानिए पीएम की बदनाम तीन किसान बिल वापसी की घोषणा का आंतरिक सत्य क्या है

the inner truth of pm's infamous three kisan bill withdrawal announcement

Farm laws explained: Know what is the inner truth of PM’s infamous Three Kisan Bill return announcement? कृषि कानून के वो कौन से विवाद थे कि मोदी सरकार की तपस्या फेल हो गई? नरेंद्र मोदी की मानसिकता जनविरोधी और किसान विरोधी है। आज 80 करोड़ लोग बिना खाए रहते हैं भारत में। आखिर क्यों वापस लिए गए कानून? नरेंद्र मोदी …

Read More »

गंजबसौदा : पत्थर खदानों में सिलिकोसिस के बीच टूटते सपने

opinion debate

मध्य प्रदेश की पत्थर खदानों में काम करने वाले मजदूरों में सिलिकोसिस की ताजा खबर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल(Bhopal, the capital of Madhya Pradesh) से 100 किमी दूरी पर बसे गंजबासौदा क्षेत्र में पत्थर खदानों की बड़ी संख्या (Number of stone quarries in Ganjbasoda area) है। अनुसूचित जाति, जनजातीय बाहुल्य बुनियादी सुविधाओं से वंचित यहाँ के गांवों मे लोगों …

Read More »

गुटनिरपेक्ष आंदोलन में जवाहरलाल नेहरू का योगदान

jawahar lal nehru

जानिए गुटनिरपेक्ष आंदोलन ने अंतर्राष्ट्रीय संबंधों को कैसे बदला? : भाग 1 Contribution of Jawaharlal Nehru in the Non-Aligned Movement उपनिवेशवाद और साम्राज्यवाद का संगठित विरोध (Organized opposition to colonialism and imperialism) 1920 के दशक के अंत में शुरू हुआ था। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू (Jawaharlal Nehru, the first Prime Minister of India) ने गुटनिरपेक्ष आंदोलन के ज़रिए …

Read More »

कृषि कानूनों का निरस्तीकरण : मोदीजी की माफीवीरता किसानों के संघर्ष और बलिदान की पहली उपलब्धि

deshbandhu editorial

कृषि कानूनों का निरस्तीकरण : किसानों के संघर्ष और बलिदान की पहली उपलब्धि Repeal of cruel agricultural laws: the first achievement of the struggle and sacrifices of the farmers देशबन्धु में संपादकीय आज | Editorial in Deshbandhu today 16 जून 2019 को भारत-पाक के बीच वर्ल्ड कप मैच (world cup match between india pakistan) के बाद पाकिस्तान के क्रिकेट प्रेमी …

Read More »

लालू जयकारा से शुरू होकर अखिलेश की जयकारा तक पहुँच गयी भाकपा (माले)

CPI ML

भाकपा (माले) की राजनीतिक वैचारिक गिरावट लगातार जारी… भाकपा (माले) की राजनीतिक वैचारिक गिरावट का बिहार से उत्तर प्रदेश में हुआ विस्तार The political ideological decline of CPI(ML) continues… हम बात यहाँ से शुरू करते हैं, जब हम नब्बे के दशक में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के छात्र थे और छात्रसंघ के चुनाव में जब सीपीआई का छात्र संगठन एआईएसएफ समाजवादियों …

Read More »

नेपाल डायरी : हमाम में सब नंगे क्या कांग्रेस क्या कम्युनिस्ट और माई लॉर्ड भी

nepal diary

Nepal Bar Association announces sit-in protest demanding Chief Justice Rana’s resignation. समकालीन नेपाल के सार्वजनिक जीवन (पब्लिक स्पेस) में एक अभूतपूर्व दृश्य उपस्थित है. करीबन एक महीने से नेपाल की सर्वोच्च न्यायिक संस्था सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस (Chief Justice of the Supreme Court of Nepal’s highest judicial body) के खिलाफ देश भर के वकीलों का संगठन नेपाल बार एसोसिएशन …

Read More »

कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले का ऐलान : एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारो!

pm narendra modi

किसानों के संघर्ष के आगे झुक गई मोदी सरकार Modi government bowed before the farmers’ struggle आखिरकार, किसानों के संघर्ष ने मोदी सरकार को झुकने को मजबूर कर दिया है। गुरु पर्व के मौके पर, राष्ट्र के नाम एक विशेष संबोधन के जरिए, प्रधानमंत्री मोदी ने न सिर्फ तीन विवादित कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले का ऐलान किया …

Read More »

क्या सत्यपाल मलिक की चेतावनी से रद्द हुए तीन कृषि कानून!

satyapal malik

क्या मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक द्वारा दी गई चेतावनी तीन कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए जिम्मेदार है? Is the stern warning given by Meghlaya Governor Satya Pal Malik responsible for the withdrawal of three farm laws? क्या मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक द्वारा दी गई चेतावनी (Warning given by Meghalaya Governor Satya Pal Malik) तीन कृषि कानूनों …

Read More »