Breaking News
Home / समाचार / देश / भारत में छह में से एक दंपति कर रहा गर्भधारण में समस्या का सामना,  ऐसे बनाएं गर्भधारण को आसान
Health News

भारत में छह में से एक दंपति कर रहा गर्भधारण में समस्या का सामना,  ऐसे बनाएं गर्भधारण को आसान

भारत में छह में से एक दंपति कर रहा गर्भधारण में समस्या का सामना,  ऐसे बनाएं गर्भधारण को आसान

नई दिल्ली। किसी भी दंपति के लिए बच्चे के आगमन की योजना बनाना महत्वपूर्ण कदम है। चूंकि भारत में आज हर छह में से एक दंपति प्रजनन संबंधी समस्या (Reproductive problems) का सामना कर रहा है, ऐसे में कई दंपतियों के लिए बच्चे को दुनिया में लाने की यह प्रक्रिया कठिनाई भरी और तनावपूर्ण हो जाती है। हालांकि प्रजनन क्षमता से जुड़ी कुछ समस्याओं (Fertility problems) के मामले में निवारण संभव नहीं है, लेकिन कुछ महत्वपूर्ण कदम ऐसे हैं, जिन्हें उठाकर नई जिंदगी की शुरुआत की जा सकती है।

देशबन्धु पर प्रकाशित एक खबर के मुताबिक अगर आपके करीबी लोगों में से कोई गर्भधारण के लिए लंबे समय से प्रयासरत हैं, लेकिन सफलता नहीं मिल रही तो नारायणा हेल्थकेयर्स वीमंस एंड चाइल्ड इंस्टीट्यूट की स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉ. लावण्या किरण तथा एमएमजी जिला अस्पताल, गाजियाबाद के डॉ. अनिल प्रकाश ने छह महत्वपूर्ण सुझाव दिए हैं जो गर्भधारण को आसान बनाएंगे।

स्वास्थ्यपरक आहार का सेवन करें : Eat a healthy diet

कई दंपति इस बात पर ध्यान नहीं देते, जबकि भोजन और प्रजनन दोनों एक-दूसरे से गहराई से जुड़े हुए हैं। इसके लिए संतुलित और पोषक आहार का सेवन करें, जिसमें विटामिन और आयरन से भरपूर सब्जियां जैसे पालक, ब्रोकली तथा साबुत अनाज, जैसे साबुत गेहूं, ब्राउन राइस तथा बाजरा और पनीर, अंडा, मछली, सोयाबीन जैसे प्रोटीन वाले पदार्थ शामिल हों, प्रोसेस्ड फूड, मैदा और शक्कर से दूरी बनाकर रखें।

फिट और एक्टिव रहें : Stay fit and active

इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपना अधिकांश समय जिम में बिताए। लेकिन अपनी दिनचर्या में एक सामान्य एक्सरसाइज या फिजिकल एक्टिविटी को शामिल करें। इससे हार्मोन संतुलन और रक्त संचार को बनाए रखने एवं गर्भधारण के अवसरों को बढ़ाने में मदद मिलती है। आपके लिए ब्रिस्क वॉक, लाइट जॉगिंग, साइकिलिंग और स्वीमिंग जैसी एक्टिविटीज बेहतर साबित होगी।

फर्टिलिटी मॉनिटर का उपयोग करें : Use a fertility monitor

महिलाओं के प्रत्येक प्राकृतिक चक्र के दौरान केवल कुछ ही दिन ऐसे होते हैं, जब गर्भधारण की संभावना होती है। प्रत्येक दंपति के लिए यह आवश्यक है कि वे स्वयं को अपने गर्भधारण के सबसे अधिक संभावना वाले दिनों को लेकर सजग करें, क्योंकि प्रत्येक महिला का चक्र अलग होता है जो कि उनमें हार्मोन्स के स्तर के हिसाब से नियंत्रित होता है इसलिए फर्टिलिटी मॉनिटर का प्रयोग करने से बहुत बड़ी मदद मिल सकती है।

ये मॉनिटर आपकी साइकिल के कम से कम 6 सबसे अधिक गर्भधारण की संभावना वाले दिनों की पहचान कर सकते हैं। इनिटो, डेजी जैसे ब्रांड्स के फर्टिलिटी मॉनिटर आजकल बहुत लोकप्रिय हैं।

तनाव नहीं लें : Don’t stress. Both stress and anxiety decrease the release of fertility hormones.

तनाव और चिंता दोनों प्रजनन हार्मोन की रिलीज को घटाते हैं और ओवेल्यूशन की प्रक्रिया में बाधा डाल सकते हैं। तो तनाव महसूस होने पर मेडिटेशन या योग के द्वारा खुद को नियंत्रित करने का प्रयास अवश्य करें। अपनी भावनाओं को अपने जीवनसाथी, दोस्तों या परिवार संग साझा करें, इससे मन हल्का होता है।

कैफीन और अल्कोहल के सेवन से बचें : Avoid caffeine and alcohol consumption

कैफीन के सेवन को घटाना और अल्कोहल से दूरी बनाना भी गर्भधारण के अवसरों को बढ़ा सकता है। हालांकि थोड़ी मात्रा में चाय या कॉफी का सेवन सुरक्षित है, लेकिन इसकी अधिक मात्रा लेने से बचना चाहिए। दूसरी तरफ अल्कोहल हर तरह से बुरा असर डाल सकता है और इसकी वजह से अनियमित मासिक तथा ओवेल्यूशन में कमी जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।

About हस्तक्षेप

Check Also

Prof. Bhim Singh Jammu-Kashmir National Panthers Party जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक प्रो.भीमसिंह

अगर जेएंडके के हालात सामान्य हैं तो सांसदों सहित सैंकड़ों विपक्षी नेता हिरासत में क्यों ?

पैंथर्स सुप्रीमो का सवाल अगर जम्मू-कश्मीर के हालात सामान्य हैं तो सांसदों सहित सैंकड़ों विपक्षी …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: