Breaking News
Home / समाचार / दुनिया / हाउडी मोदी में पीएम मस्त, न्यूयॉर्क टाइम्स बोला – अंडरवीयर से लेकर कारों तक, भारत की अर्थव्यवस्था चरमरा रही है
Modi Air India

हाउडी मोदी में पीएम मस्त, न्यूयॉर्क टाइम्स बोला – अंडरवीयर से लेकर कारों तक, भारत की अर्थव्यवस्था चरमरा रही है

नई दिल्ली, 22 सितंबर 2019। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय अमेरिका यात्रा पर हैं। उनके हाउडी मोदी ईवेंट (Howdy Modi) को लेकर भारतीय मीडिया और हिन्दुत्तवादियों में अति उत्साह है। लेकिन इस बीच द न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक खबर का शीर्षक दिया है कि “अंडरवीयर से लेकर कारों तक, भारत की अर्थव्यवस्था चरमरा रही है” (From Underwear to Cars, India’s Economy Is Fraying)

अखबार लिखता है कि देश (भारत) एक समय में दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था था, लेकिन इसे वैश्विक और घरेलू ताकतों ने पस्त कर दिया है। भारत की मुसीबतें अन्य विकासशील देशों के लिए एक चेतावनी भरा संकेत हैं।

अखबार में इस खबर में कहा गया है कि जब एलन ग्रीनस्पैन  (Alan Greenspan) एक परामर्श फर्म चलाते थे और यह जानना चाहते थे कि अर्थव्यवस्था कहाँ है, तो वह अक्सर एक गाइड के रूप में पुरुषों के अंडरवियर की बिक्री (Alan Greenspan’s Underwear Drawer,) को देखते थे।

श्री ग्रीनस्पैन, जिन्होंने बाद में फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया था, का मानना था कि जब समय कठिन होता है, तो पुरुष अन्य खरीद में कटौती से पहले फटा अंडरवियर की जगह नया लेना बंद कर देते हैं, जिसे कोई भी नहीं देख सकता है। इस आधार पर भारतीय अर्थव्यवस्था एक गंभीर मंदी में है।

दक्षिण भारत के त्रिपूर के एक अंडरगारमेंट विक्रेता के हवाले से खबर में बताया गया है कि पुरुषों के अंडरवियर की बिक्री 50 प्रतिशत गिर गई है। साथ ही बताया गया है कि यह सिर्फ अंडरवियर का ही हाल नहीं है, बल्कि कार की बिक्री अगस्त में 32 प्रतिशत गिर गई, जो दो दशकों में सबसे बड़ी गिरावट है, और कार निर्माता एक मिलियन कर्मचारियों की छंटनी की चेतावनी दे रहे हैं क्योंकि दुकानदार बढ़ती कीमतों से गंजे हो गए हैं और स्कीट लोनर्स से ऋण प्राप्त करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

तो जोर से बोले मोदी-मोदी।

About हस्तक्षेप

Check Also

Madhya Pradesh Progressive Writers Association

विचार के बिना अधूरी होती है रचना

प्रलेसं के एक दिवसीय रचना शिविर में कविता, कहानी, लेखन पर हुआ विमर्श वरिष्ठ रचनाकारों …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: