Breaking News
Home / समाचार / सरकारी आंकड़े बताते हैं मोदीराज में बढ़े आतंकी हमले और शहीद जवानों की संख्या

सरकारी आंकड़े बताते हैं मोदीराज में बढ़े आतंकी हमले और शहीद जवानों की संख्या

नई दिल्ली, 16 फरवरी। स्वयं केंद्र सरकार के आंकड़े चुगली कर रहे हैं कि केंद्र में नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की अगुवाई वाली भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) की सरकार बनने के बाद देश में न सिर्फ आतंकी हमले (Terrorist attack) बढ़े हैं बल्कि जवानों के शहीद होने की संख्या (number of martyrs of soldiers) में भारी बढ़ोत्तरी हुई है।

गृह मंत्रालय का अपना आंकड़ा (figures from the Home Ministry) है कि 2014 से 2018 में कश्मीर में आतंकी हमले (terror attacks in Kashmir) 176% बढे हैं, और शहीदों की संख्या (number of martyrs) 93%.

प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (PIB Delhi) द्वारा 05 FEB 2019 सायं 5:25PM पर प्रकाशित गृह मंत्रालय की विज्ञप्ति (Release ID: 1562722) के मुताबिक मोदी सरकार आने के बाद आतंकी हमलों का ब्यौरा निम्नलिखित है –

साल         शहीद            हमले 

2014      47               222

2015      39               208

2016      82               322

2017     80                342

2018     91                 614

विज्ञप्ति के अनुसार देश में वर्ष 2014 और 31.12.2018 तक हुई आतंकवादी / विद्रोही / उग्रवादी घटनाओं का विवरण इस प्रकार है:

  1. देश का भीतरी इलाका (Hinterland of the country)

वर्ष

आतंकवादी हमले की संख्या

मारे गए नागरिकों की संख्या

मारे गए सुरक्षा बल के जवानों की संख्या

मारे गए आतंकवादी की संख्या

2014

03

04

Nil

Nil

2015

01

03

04

03

2016

01

01

07

04

2017

2018

1

3

(2)       जम्मू और कश्मीर (Jammu & Kashmir)

वर्ष

आतंकवादी घटनाओं की संख्या

No. of terrorist incidents

मारे गए नागरिकों की संख्या

मारे गए सुरक्षा बल के जवानों की संख्या

मारे गए आतंकवादी की संख्या

2014

222

28

47

110

2015

208

17

39

108

2016

322

15

82

150

2017

342

40

80

213

2018

614

38

91

257

 (3)       North Eastern Region

वर्ष

उत्तर पूर्व में उग्रवाद से संबंधित घटनाओं की संख्या  Number of incidents relating to insurgency in the North East

मारे गए नागरिकों की संख्या

मारे गए सुरक्षा बल के जवानों की संख्या

No. of extremist killed

2014

824

212

20

181

2015

574

46

46

149

2016

484

48

17

87

2017

308

37

12

57

2018 

252

23

14

34

(4)     वामपंथी उग्रवाद   Left Wing Extremism (LWE)

वर्ष

वामपंथी उग्रवाद से संबंधित घटनाओं की संख्या

Number of incidents relating to  Left Wing Extremism

मारे गए नागरिकों की संख्या

मारे गए सुरक्षा बल के जवानों की संख्या

No. of Left Wing extremists killed

2014

1091

222

88

63

2015

1089

171

59

89

2016

1048

213

65

222

2017

908

188

75

136

2018   

833

173

67

225

वरिष्ठ पत्रकार भारत शर्मा कहते हैं कि भक्तों को शर्म मगर कहाँ आएगी कि सर्जिकल स्ट्राइक के दावे के बाद भी शहादतें भी बढ़ी हैं हमले भी! और भगवान के लिए आतंकी भी ज़्यादा मारे गए हैं वाली बेशर्मी न करे कोई – पर्सेंटेज में वो 2013 में 63 ही रहते थे!

श्री शर्मा कहते हैं कि सवाल हमारे जवानों की जान और आतंकियों की बढ़ गई हिम्मत, और ख़ुफ़िया एजेंसियों से लेकर सरकारों की असफलता तक का है कि भाजपा राज में कश्मीर में इतना अलगाव कैसे पैदा हो गया कि 2014 में 222 से 2018 में 622 हमले हो गए! ये भी कि ख़ुफ़िया तंत्र क्या कर रहा था जो रोक नहीं पाया!

कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें

ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

About हस्तक्षेप

Check Also

Justice Markandey Katju

काटजू ने नामग्याल को क्या बोल दिया, नाराज हो जाएंगे नामग्याल, कन्हैया, शेहला, उमर खालिद भी

काटजू ने नामग्याल को क्या बोल दिया, नाराज हो जाएंगे नामग्याल, कन्हैया, शेहला, उमर खालिद …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: