न्याय को न्याय मिलेगा !

जसबीर चावला

न्याय की देवी

—————

 

न्याय की देवी की आँखे खुली थी

न्याय ने प्रतिरोध किया

न्याय रोया

न्याय ने कहा न्याय करो

अन्याय दूर करो

 

न्याय ने कहे से ज्यादा अनकहा कहा

 

मंदिर के कँगूरों ने कहा न्याय होगा

पैरोकारों ने कहा न्याय होगा

दिशाओं ने कहा न्याय होगा

न्याय को न्याय मिलेगा

देवी की आँखो की पट्टी कस के बाँधी जायेगी

देवी पट्टी नहीं हटायेगी

 

न्याय अभी संभावना है 

 

☘ ज स बी र  चा व ला

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।