साहित्यिक शो में होंगी जलवायु परिवर्तन पर बातें

'क्लाइमेट चेंज : ए कॉल टू एक्शन' नामक सत्र में ऑस्ट्रेलिया के विद्वान डेरिल जोन्स, नॉर्वे की लेखिका माजा लुंडे और मृदुला रमेश के साथ पर्यावरण के मसले पर चर्चा करेंगे।...

एजेंसी

जयपुर, 23 जनवरी। 'धरती के सबसे बड़े साहित्यिक शो' कहे जाने वाले जी जयपुर साहित्योत्सव Jaipur Literature Festival 24 से 28 जनवरी चलेगा और इसमें दुनिया भर के लेखक, चिंतक, मानवतावादी, राजनेता, व्यवसाय जगत, खेल और मनोरंजन जगत की हस्तियां विभिन्न विषयों पर अपनी बेबाक राय देने के लिए जुटेंगी। आयोजकों की तरफ से जारी बयान के अनुसार, साहित्योत्सव में पर्यावरण से जुड़े मुद्दों Environmental issues को भी उठाया जाएगा, ताकि धरती पर मंडरा रहे जलवायु परिवर्तन के खतरे पर ध्यान आकर्षित किया जा सके।

जयपुर साहित्योत्सव गुरुवार से, जलवायु परिवर्तन पर होंगे सत्र

Jaipur Literature Festival will be on Climate Change from Thursday

बयान के अनुसार, 'क्लाइमेट चेंज : ए कॉल टू एक्शन' Climate Change: A Call to Action नामक सत्र में ऑस्ट्रेलिया की ग्रिफिथ यूनिवर्सिटी के विद्वान डेरिल जोन्स, नॉर्वे की लेखिका माजा लुंडे और भारतीय लेखिका मृदुला रमेश के साथ पर्यावरण के मसले पर चर्चा करेंगे। सत्र का संचालन आईएसईटी-इंटरनेशनल के संस्थापक, मार्कस मोएंच करेंगे। प्रतिष्ठित पर्यावरणविदों और जलवायु चिंतक अपने अनुभव और ज्ञान से बताएंगे कि बदलते वातावरण के अनुकूल कैसे बना जाए।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

 

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।