प्रधानमंत्री महाभारत के धृतराष्ट्र की भूमिका निभाना बंद करें

प्रो.भीमसिंह ने राष्ट्रपति से जम्मू-कश्मीर सरकार को तत्काल बर्खास्त करने और वहाँ के राज्यपाल को विधानसभा भंग करके राज्य में राज्यपाल शासन लगाने का सुझाव देने की अपील की......

जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन की एकमात्र समाधान: भीमसिंह

नई दिल्ली/जम्मू/श्रीनगर, 10 जनवरी। नेशनल पैंथर्स पार्टी के मुख्य संरक्षक एवं सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता प्रो.भीमसिंह ने भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से जम्मू-कश्मीर के लागों के, जो धारा 370 की तलवार के बावजूद भी भारत के नागरिक हैं और जम्मू-कश्मीर से कन्याकुमारी तक पूरे देश के हित के बारे में सोचने की अपील की।

प्रो.भीमसिंह ने राष्ट्रपति से जम्मू-कश्मीर सरकार को तत्काल बर्खास्त करने और वहाँ के राज्यपाल को विधानसभा भंग करके राज्य में राज्यपाल शासन लगाने का सुझाव देने की अपील की, जिससे राज्य के लोगों को विश्वास में लेकर नए सिरे से चुनाव कराए जा सकें।

पैंथर्स सुप्रीमो ने राष्ट्रपति पर जोर दिया कि वे अपने संवैधानिक अधिकारों का प्रयोग करते हुए सभी केंद्रीय सेवाओं के लोगों की एक समिति बनाई जाए, न कि राज्यों से, जो हर राज्य में उन तथाकथित कानून को न मानने वालों और खतरनाक लोगों अनुरोधों/ अपीलों/याचिकाओं को जायजा लें। यह समिति जम्मू-कश्मीर समेत उन सभी राज्यों का दौरा करें, जहां के नौजवान आतंकवाद या हिंसक गतिविधियों में लिप्त हैं। यह समिति इन युवाओं को समर्पण करके उन्हें मुख्यधारा में शामिल होने का अवसर प्रदान करे। उन्होंने कहा कि जब श्री जयप्रकाश नारायण अशिक्षित डकैतों से बंदूक छुड़ाकर उन्हें मुख्यधारा में शामिल कर सकते हैं तो हम ऐसा क्यों नहीं कर सकते, जबकि आज का युवा साक्षर है, बस थोड़ी सी राह भटक गए हैं। उन्होंने कहा कि हमें उनसे बंदूक छुड़वाकर उन्हें बैलट के रास्ते पर जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि देश में ऐसे सैंकड़ों नौजवान है, जो देश को और अधिक मौत और विध्वंस से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।