नदियों की पवित्रता पर अखिलेश का कटाक्ष - फूल खिलाने का वादा करने वाली पार्टी सत्ता में आने पर जलकुंभी उगा रही है

मां गंगा के बुलावे पर काशी आए PM का कार्यकाल समाप्ति पर है पर गंगा पहले जैसी मैली...

लखनऊ, 23 अप्रैल। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकारों ने नदियों की पवित्रता और निर्मलता समाप्त करने में कुछ उठा नहीं रखा है। जल ही जीवन के मंत्र को भुलाकर नदियों को नालों में तब्दील किया जा रहा है। गंगा, यमुना, गोमती, हिंडन, वरूणा, कुंआरी नदी सभी का जल बुरी तरह प्रदूषित हैं। इनकी सफाई के नाम पर करोड़ो रूपयों का सिर्फ बंदरबांट हुआ है। फूल खिलाने का वादा करने वाली पार्टी सत्ता में आने पर जलकुंभी उगा रही है।

मां गंगा के बुलावे पर काशी आए PM का कार्यकाल समाप्ति पर है पर गंगा पहले जैसी मैली

श्री यादव ने कहा कि मां गंगा के बुलावे पर गुजरात से काशी आए प्रधानमंत्री जी का कार्यकाल समाप्ति पर है पर गंगा पहले जैसी मैली हैं। वे गुजरात के सूरत में कुंआरी नदी में जलकुंभी की काली छाया छोड़कर आए और काशी भी उससे अछूती नहीं रही। दिल्ली में यमुना का पानी काला और दुर्गन्धित हो गया है। हिंडन नदी भी प्रदूषण से नहीं बची है। भाजपा राज में नदियों की ऐसी दुर्दशा हुई है कि अब इनका जल आचमन करने लायक भी नहीं बचा है। आक्सीजन की लगातार घटती मात्रा से जलजीव भी नष्ट होते जा रहे हैं।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि राजधानी लखनऊ में आदि गंगा गोमती नदी पर भाजपा सरकार ने दाग लागने का पाप किया है। समाजवादी सरकार के समय वाराणसी की वरूणा नदी को प्रदूषण मुक्त एवं सुन्दरीकरण करना शुरू हुआ था। गोमती नदी की सफाई के साथ रिवरफ्रंट के सुन्दरीकरण का काम हुआ था। भाजपा सरकार की ऐसी बुरी नज़र पड़ी कि जनता के आकर्षण का केन्द्र बने रिवरफ्रंट की हरियाली खत्म हो गई है। बेशकीमती इम्पोर्टेड फाउंटेन कबाड़ होने को हैं। भाजपा सरकार ने तय कर रखा है कि समाजवादी सरकार के विकास कार्यों को बर्बाद किये बिना वह चैन से नहीं बैठेगी। भाजपा को यह समझ नहीं है कि शहर का गंदा पानी नहीं रूकेगा तथा ट्रीट नहीं होगा तब तक नदी की गंदगी समाप्त नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि गोमती के काफी बड़े हिस्से पर जलकुंभी फैल चुकी है। छोटे-बड़े दर्जन भर से ज्यादा नाले रोजाना गोमती नदी को मैला कर रहे हैं। इन नालों की गंदगी गोमती में न गिरे इसके लिए जो व्यवस्थाएं होनी चाहिए, भाजपा सरकार को उनकी फिक्र नहीं। गोमती के किनारे दुर्गन्ध से भर गए हैं। मुख्यमंत्री जी और उनके दूसरे मंत्री भी आंख बंद किए हुए हैं।

श्री यादव ने कहा कि पर्यावरण की रक्षा, नदियों की निर्मलता और सुन्दरीकरण की दिशा में समाजवादी सरकार ने जो कदम उठाए थे, उन्हें रोककर भाजपा ने जनता के साथ धोखा किया हैं। जनता इससे बहुत आक्रोशित है। वह प्रदेश की बेहतरी के लिए उठाए गए कदमों रोड़ा अटकाने वाली और बदनामी देने वाली भाजपा सरकारों को और ज्यादा बर्दाश्त नहीं करेगी। सन् 2019 में जनता भाजपा का हिसाब किताब चुकता कर देगी।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।