अद्भुत ! 16 साल की उम्र से ही ये खिलाड़ी कर रहा है दोनों हाथों से गेंदबाजी

Akshay Karnewar from the age of 16, bowling with both hands. अद्भुत ! 16 साल की उम्र से ही ये किलाड़ी कर रहा है दोनों हाथों से गेंदबाजी...

एजेंसी

नई दिल्ली, 15 फरवरी। विदर्भ क्रिकेट संघ मैदान (Vidarbha Cricket Association ground) पर शेष भारत एकादश (Rest of India XI) के साथ जारी ईरानी कप (Irani Cup) मुकाबले के दौरान विदर्भ के ऑलराउंडर अक्षय कारनेवार (Vidarbha all-rounder Akshay Karnewar) ने दोनों हाथों से गेंदबाजी (bowling with both hands) करके सबको चौंका दिया। देखने वालों के लिए यह नई बात लगी लेकिन अक्षय 16 साल की उम्र से ही दोनों हाथों से गेंदबाजी कर रहे हैं। बीते 10 साल में उन्होंने प्रथम श्रणी, लिस्ट ए और टी-20 मैचों में कई मौकों पर दोनों हाथों से गेंदबाजी की है।

Akshay Karnewar from the age of 16, bowling with both hands

अहम बात यह है कि अक्षय हालात की जरूरत के हिसाब से दोनों हाथों से गेंदबाजी का चयन करते हैं। वैसे स्वाभाविक तौर पर वह लेफ्ट आर्म स्पिनर हैं लेकिन जब कोई बाएं हाथ का बल्लेबाज उनके सामने होता है तो वह राइट आर्म स्पिन गेंदबाजी करना पसंद करते हैं।

अक्षय को बीते 10 साल से करीब से जानने वाले विदर्भ क्रिकेट संघ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि महाराष्ट्र के यवतमाल जिले के पांडरकावड़ा गांव के निवासी अक्षय एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता महाराष्ट्र राज्य परिवहन निगम में ड्राइवर थे, जो अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं।

हालात से लड़कर अक्षय ने साढ़े पंद्रह साल की उम्र में नागपुर के नवकेतन क्रिकेट क्लब में पंजीकरण कराया। यह नागपुर के 10 ए-डिवीजन क्लबों में से एक है, जिसमें ज्यादातर रणजी खिलाड़ी खेला करते हैं। नवकेतन सालों से विदर्भ को रणजी खिलाड़ी देता रहा है।

अक्षय ने 2016 में केरल में सैयद मुश्ताक अली टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट के दौरान पहली बार किसी बड़े मैच में दोनों हाथों से गेंदबाजी की थी, तब उन्होंने काफी सुर्खियां बटोरी थीं। अक्षय अम्पायर को पहले इसकी जानकारी देते हैं और अम्पायर उनके एक्शन में बदलाव की जानकारी बल्लेबाज को दे देता है।

अक्षय ने नागपुर में बुधवार को शेष भारत एकादश की पारी के 63वें ओवर में दोनों हाथों से गेंदबाजी की। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल (बीसीसीआई) ने अपने आधिकारिक वेबसाइट पर कारनेवर की गेंदबाजी वीडियो शेयर किया है।

26 वर्षीय कारनेवार ने अपनी गेंदबाजी पर शेष भारत के स्टार गेंदबाज श्रेयस अय्यर को पगबाधा आउट भी किया। कारनेवार ने 15 ओवर में 50 रन देकर एक विकेट अपने नाम किया।

कारनेवार ने जहां दूसरे दिन दोनों हाथों से गेंदबाजी कर सुर्खियां बटोरीं तो वहीं उन्होंने तीसरे दिन विदर्भ के लिए शानदार शतकीय पारी खेली। कारनेवर ने 133 गेंदों पर 102 रन बनाए जिसमें उन्होंने 13 चौके और दो छक्के भी लगाए।

कारनेवार की इस शतकीय पारी के दम पर विदर्भ ने तीसरे दिन गुरुवार को अपनी पहली पारी में 425 रन का स्कोर बनाया और 95 रनों की बढ़त हासिल कर ली है।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।