देश में कारपोरेट की तानाशाही को स्थापित करने में लगी हुई है मोदी सरकार

मोदी सरकार आज देश में कारपोरेट की तानाशाही को स्थापित करने में लगी हुई है। देश में शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार में लगातार कटौती की जा रही है। ...

हाइलाइट्स

विकल्प की राजनीति को आगे बढ़ायेगा स्वराज अभियान

वीआईपी लूट के खिलाफ चलेगा अभियान

स्वराज अभियान की जिला ईकाई की हुई बैठक

सोनभद्र, 16 जुलाई 2017, मोदी सरकार आज देश में कारपोरेट की तानाशाही को स्थापित करने में लगी हुई है। देश में शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार में लगातार कटौती की जा रही है। अनौपचारिक क्षेत्र विशेषकर खेती किसानी को तबाह किया जा रहा है। पूरे देश भाजपा की केन्द्र और राज्य की सरकारें लोकतांत्रिक गतिविधियों पर रोक लगाने में लगी हुई है। लखनऊ में प्रेस क्लब से पत्रकार वार्ता में पूर्व आईजी और दलित चितंक एस आर दारापुरी को गिरफ्तार कर लिया गया। मंदसौर में सभा करने गए स्वराज अभियान के नेता योगेन्द्र यादव समेत कई सासंदों व पूर्व विधायकों की गिरफ्तारी की गयी। आज देश में इस तानाशाहीपूर्ण कार्यवाही करने का यदि मोदी और भाजपा की राज्य सरकारें साहस कर रही है तो इसका कारण देश में विपक्ष का अभाव है। ऐसी स्थिति में स्वराज अभियान देश में जनता के विकलप को निर्मित करने का प्रयास करेगा।

यह बातें आज स्वराज अभियान की जिला ईकाई की बैठक में राज्य कमेटी सदस्य दिनकर कपूर ने कहीं।

बैठक में प्रस्ताव में कहा गया कि योगी राज में भी जिले की प्राकृतिक सम्पदा की लूट जारी है। वीआईपी लूट के अवैध खनन का कारोबार और भी बढ़ गया है, आज तीन गुनी वीआईपी की वसूली की जा रही है। इस अवैध खनन के कारोबार में भाजपा के शीर्ष नेता लगे है। स्वराज अभियान इस लूट के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान चलायेगा। बैठक में वनाधिकार कानून के तहत दावा किए आदिवासियों और वनाश्रित जातियों को विधिक रूप से बिना उनका दावा निस्तारित जमीन से बेदखल करने की कार्यवाही को उच्च न्यायालय के आदेश की अवहेलना मानते हुए इसके खिलाफ न्यायालय में याचिका दाखिल करने का निर्णय हुआ। इसी प्रकार लिए प्रस्ताव में केरल की राज्य सरकार द्वारा न्यूनतम मजदूरी 600 रू0 प्रतिदिन करने के फैसले का स्वागत करते हुए प्रदेश में ठेका मजदूरों के 18000 रूपए वेतन करने पर आंदोलन करने का निर्णय हुआ।

बैठक की अध्यक्षता पूर्व सभासद का0 मारी ने और संचालन स्वराज अभियान के नेता राहुल कुमार ने किया। बैठक में राजेन्द्र सिंह गोंड़, अंजनी पटेल, तेजधारी गुप्ता, महेन्द्र प्रताप सिंह, मनोज भारती, राजाराम भारती, इंद्र देव खरवार, श्रीकांत सिंह, कैलाश चैहान, रामदुलारे प्रजापति, केशनाथ मौर्य, राजू चैधरी, मिठ्ठू बैगा ने अपनी बात रखी।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।