राफेल लड़ाकू विमान सौदे को कांग्रेस ने बताया शताब्दी का सबसे बड़ा घोटाला

राफेल लड़ाकू विमान सौदे को शताब्दी का सबसे बड़ा घोटाला करार देते हुए कांग्रेस ने कहा है कि इसमें भ्रष्टाचार का आरोप सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर है ...

राफेल लड़ाकू विमान सौदे कांग्रेस ने बताया शताब्दी का सबसे बड़ा घोटाला

नई दिल्ली, 23 सितम्बर। राफेल लड़ाकू विमान सौदे को शताब्दी का सबसे बड़ा घोटाला करार देते हुए कांग्रेस ने कहा है कि इसमें भ्रष्टाचार का आरोप सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर है इसलिए अपने बचाव में मंत्रिमंडल के सहयोगियों को आगे करने की बजाए उन्हें खुद इसका जवाब देना चाहिए।

आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने राफेल के पुराने करार को खारिज कर रक्षा सौदे खरीद प्रक्रिया का उल्लंघन कर नये ढंग से करार किया है और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी एचएएल को सौदे से अलग कर चहेती कंपनी को ठेका दिया है। इस सौदे में बड़ा घोटाला हुआ है इसलिए सरकार इससे जुड़े आरोपों पर जांच भी नहीं कर रही है।

श्री शर्मा ने कहा कि मामला सीधे तौर से प्रधानमंत्री से जुड़ा है। श्री मोदी पर घोटाले का आरोप है लेकिन वह बचाव में वित्त मंत्री अरुण जेटली, कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद तथा रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को आगे कर रहे हैं। मंत्रिमंडल के उनके ये सभी सहयोगी बार बार प्रधानमंत्री की वकालत करते हुए इस सौदे में उन्हें पाकसाफ बताने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन वे जितना बचाव करते हैं मामला उतना ही उलझ जाता है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि श्री मोदी अक्सर सभी मुद्दों पर बेबाक अपनी बात रखते हैं। वह हर मुद्दे पर बोलते हैं लेकिन यहां सीधा आरोप उन पर है और वह चुप्पी साधे हुए हैं। उनकी चुप्पी कई सवाल खड़े करती है इसलिए उन्हें इस बारे में लगाए जा रहे आरोपों का जवाब देना चाहिए।

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।