अटल जी के अस्थि कलश के सामने ठहाके लगाने के बाद विज्ञापनों में हंसते हुये फोटो छपवा रहे भाजपाई

अटल विकास यात्रा के विज्ञापनों से स्व. अटल बिहारी बाजपेयी की फोटो ही गायब...

अटल जी की अस्थि कलश के सामने ठहाके लगाने के बाद विज्ञापनों में हंसते हुये फोटो छपवा रहे भाजपाई

अटल विकास यात्रा के विज्ञापनों से स्व. अटल बिहारी बाजपेयी की फोटो ही गायब

भाजपा का अटल प्रेम घड़ियाली आंसू

रायपुर/05 सितंबर 2018। भारतीय जनता पार्टी पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की मृत्यु का चुनावी लाभ लेने प्रोपोगंडा कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि यही कारण है कि अटल जी की अस्थि कलश के सामने भाजपा नेता ठहाके लगाते हैं। फर्जी विकास के नाम पर निकाली जा रही विकास यात्रा का भाजपा सरकार ने विकास यात्रा का नाम तो दे दिया लेकिन इस अटल विकास यात्रा के विज्ञापनों से स्व. अटल बिहारी बाजपेयी की फोटो हटा दी गयी। एक विज्ञापन में उनकी फोटो लगाई भी गयी तो उनके चित्र को धुंधला कर दिया गया। झूठे विकास का प्रचार करने के लिये बनाये गये विकास रथ में भी अटल जी की फोटो लगाना भाजपाईयों को मंजूर नहीं है। अटल जी के प्रति भारतीय जनता पार्टी की थोथी श्रद्धा का आंकलन इसी से किया जा सकता है उनकी मृत्यु को अभी एक महिना भी पूरा नहीं हुआ है, मोदी, शाह, रमन सिंह की हंसते हुये फोटो विज्ञापनों में छपवाया गया है।

उन्होंने कहा कि पिछले 15 वर्षों के शासन काल में भ्रष्टाचार, कुशासन वायदा खिलाफी कर अटल जी के सपनों को चकना चूर करने वाली भाजपा अब मृत्यु के बाद उनकी मृत्यु को चुनाव प्रचार का माध्यम बनाने कुचेष्टा कर रही है। 9 वर्ष की बीमारी के दौरान भाजपाईयो ने अटल जी को भुला दिया था वे एकाकी जीवन व्यतीत कर रहे थे। उनके प्रधानमंत्री पद से हटने के बाद भाजपा में मोदी-शाह की शुरूआत से ही भाजपा ने उन्हें पार्टी के बैनर पोस्टर से हटा दिया था। अब चुनावी वर्ष में भाजपाईयों का अटल प्रेम घड़ियाली आंसू है। 

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।