इस सरकार में दलितों के ऊपर हमले और भी बढ़ गए हैं

दलितों के ऊपर बढ़ते हमले, महिला हिंसा, शैक्षिक संस्थानों में हो रहे भेदभाव, लोकतंत्र पर बढ़ते हमले के खिलाफ 20 मई को गोरखपुर में अम्बेडकरवादी छात्र सभा, वीरांगना उदादेवी समिति और रिहाई मंच करेगा सम्मेलन...

दलितों के ऊपर बढ़ते हमले, महिला हिंसा, शैक्षिक संस्थानों में हो रहे भेदभाव, लोकतंत्र पर बढ़ते हमले के खिलाफ 20 मई को गोरखपुर में अम्बेडकरवादी छात्र सभा, वीरांगना उदादेवी समिति और रिहाई मंच करेगा सम्मेलन

लखनऊ 17 मई 2018। गोरखपुर में 20 मई को तारामंडल रोड सत्यम लान में दलितों के ऊपर बढ़ते हमले, महिला हिंसा, शैक्षिक संस्थानों में हो रहे भेदभाव, लोकतंत्र पर बढ़ते हमले के खिलाफ अम्बेडकरवादी छात्र सभा, वीरांगना उदादेवी समिति और रिहाई मंच ‘आवाज़ सुनो, अधिकार चुनो’ सम्मेलन करेगा।

संयुक्त प्रेस नोट में वीरांगना उदादेवी समिति के अध्यक्ष अमर सिंह पासवान और रिहाई मंच प्रवक्ता अनिल यादव ने बताया कि प्राथमिक शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक बहुजन समाज के साथ भेदभाव होता रहा है और इस सरकार में यह भेदभाव और भी बढ़ गया है। रोहित वेमुला से लेकर नजीब तक यह सिलसिला जारी है। सिर्फ इतना ही नही इसके खिलाफ संघर्षरत लोगों के ऊपर हमले भी हो रहे हैं। संविधान प्रदत्त अधिकार में भी सरकार कटौती करने पर आमादा है। प्रदेश में कानून व्यवस्था जंगलराज में तब्दील हो गयी है, आये दिन महिला हिंसा, दलित उत्पीड़न की घटनाएँ हो रही हैं जिसमें जनप्रतिनिधि तक शामिल हैं। फर्जी मुठभेड़ के नाम पर दलितों पिछड़ों और मुसलामानों की दिन दहाड़े हत्या हो रही हैं। इन सारे सवालों पर सम्मेलन में आवाज़ बुलंद की जाएगी।

अम्बेडकरवादी छात्र सभा, वीरांगना उदादेवी समिति और रिहाई मंच ने अमन पसंद आवाम से अपील की कि 20 मई को गोरखपुर तारामंडल रोड सत्यम लान निकट सेन्ट्रल एकेडमी में उपस्थित होकर इन्साफ की लड़ाई को मजबूत करें।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।