माइनस छह डिग्री तापमान में कनाडा की सबसे बड़ी कॉफ़ी-चाय-नाश्ते-खाने की दुकान के सामने प्रदर्शन की ये है वजह

आज आपको इस तस्वीर के पीछे की कहानी सुनाते हैं। माइनस छह डिग्री तापमान में ये मतवाले आखिर कनाडा की सबसे बड़ी कॉफ़ी-चाय-नाश्ते-खाने की दुकान (टिम होर्टोंस) के सामने प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं?...

हाइलाइट्स

शैतानों का शैतान पूंजीवाद...

क्या एक अँधा दूसरे को रास्ता दिखा सकता है ?...

सीईओ की तनख्वाह में 29.5 मिलियन डॉलर का इजाफा, कर्मचारियों को धेला नहीं...

क्या है टिम होर्टोंस का इतिहास

'Greed is not OK': Backlash grows against Tim Hortons worker benefit cuts

Critics claim Tim Hortons needs to take a stand on the issue or risk losing customers

टिम होर्टोंस के दक्षिणपंथी रूप को बेनकाब करना जरूरी है

कनाडा से शम्शाद इलाही शम्स की रिपोर्ट

चलिए आज आपको इस तस्वीर के पीछे की कहानी सुनाते हैं। माइनस छह डिग्री तापमान में ये मतवाले आखिर कनाडा की सबसे बड़ी कॉफ़ी-चाय-नाश्ते-खाने की दुकान (टिम होर्टोंस) के सामने प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं?

हुआ यूं कि पिछले साल कनाडा के सबसे बड़े और सबसे धनवान सूबे ओंटारियो की लिबरल हुकूमत ने भारी जनदबाव के चलते प्रति घंटा न्यूनतम मजदूरी 11.40 से बढ़ा कर 15 डॉलर करने का ऐलान किया था, जिसे 1 जनवरी 2018 से चरणबद्ध तरीके से लागू किया जाना था.(जनवरी 1, 2018 को 14 और अगले साल 15 डॉलर होनी है)।

जाहिर है सरकार के इस प्रस्ताव के बाद से ही पक्ष और विपक्ष में बहस शुरू हो गयी। कम्युनिस्ट पार्टी आफ कनाडा ने न्यूनतम मजदूरी 19 डॉलर प्रति घंटे की मांग की है। भागते भूत की लंगोटी सही। इन्हें शर्म आयी कि 15 कर दी हालाँकि 15 डॉलर में सिर्फ गुजारा हो सकता है सम्मानजनक जीवन नहीं जिया जा सकता।

मामले ने तब तूल पकड लिया जब टिम होर्टोंस के मालिकों (रोन जोयस जूनियर ) ने अपने कर्मचारियों को एक पत्र भेजा, जिस पर उन्हें अपनी रजामंदी के दस्तखत करने थे जिसमें कहा गया है कि अब काम के दौरान लिए जाने वाले ब्रेक पेड़ नहीं होंगे। मतलब 9 घंटे काम करने के बाद 8 घन्टे की कीमत मिलेगी। पांच साल से पुराने कर्मियों को डेंटल-हेल्थ इश्योरेंस की मद का आधा हिस्सा खुद भरना होगा। छह महीने से पांच साल से कम अवधि वालों को 75% खर्च खुद करना होगा. हाँ यदि वह ये बेनिफिट्स नहीं चाहते तो मना कर सकते है।

ये घोषणा करते हुए रोन जोयस ने खेद व्यक्त किया कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि बढ़ी हुई तनख्वाह के चलते धंधे की गति प्रभावित न हो।

क्या है टिम होर्टोंस का इतिहास

चलिए अब टिम होर्टोंस पर एक निगाह डाल ली जाए। रोन जोयस के परिवार की संपत्ति इस वक्त 1.57 अरब डॉलर की है। कनाडा में टिम होर्टोंस के 3665 (2016) स्टोर्स हैं। दुनिया के नौ देशो में इसके पास 4613 (2016) स्टोर्स हैं, जिसका 2016 में 4 अरब डॉलर का रेवेन्यू था।

2014 में टिम होर्टोंस को बर्गर किंग नाम के अमेरिकी फ़ूड चेन जायंट ने 11.4 अरब डॉलर का खरीद लिया था।

रेस्टोरेंट ब्रांड्स इंटरनेशनल नाम की अमेरिकी कम्पनी बर्गर किंग, पोपईस और टिम होर्टोंस की मालिक है जिसका शुद्ध मुनाफ़ा 2016 में 955 मिलियन (तकरीबन 1 अरब डॉलर ) था।

सीईओ की तनख्वाह में 29.5 मिलियन डॉलर का इजाफा, कर्मचारियों को धेला नहीं

पिछले सप्ताह अमेरिका से एक बड़ी खबर और आयी। विख्यात बैंक जे पी मार्गंस चेज ने अपने सीईओ जैमी डिमों की तनख्वाह में तकरीबन 6 फीसदी इजाफा करके 29.5 मिलियन डॉलर का भुगतान 2017 में किया जबकि बैंक के 2,35,000 कर्मचारियों की तनख्वाह बढ़ाने का मात्र आश्वासन दिया गया। इसके 18,000 अमरीकी कर्मचारी अभी 10.15 डॉलर प्रति घन्टे की दर पर कम करते हैं, बॉस अब 12.50 करने की सोच रहे हैं और 2019 तक 16.50 कर देंगे।

जाहिर है पूरी दुनिया में पूंजीपतियों के इस दक्षिणपंथी स्वभाव का सबसे पहला शिकार उनके कर्मचारी ही होते हैं जो रात दिन मेहनत करके अपने अतिरिक्त श्रम से इनकी तिजोरियां भरते हैं.

क्या एक अँधा दूसरे को रास्ता दिखा सकता है ?

टिम होर्टोंस के मालिको के इस श्रम विरोधी व्यवहार को जगमीत सिंह के नेतृत्व वाली एनडीपी जैसी कथित वर्कर्स पार्टी इसे देख -समझ पायेगी ? ऐसी सोच रखने वाले जनता को दरअसल गुमराह ही कर रहे हैं, क्योकि वह खुद गुमराह हैं। एक अँधा दूसरे को भला क्या रास्ता दिखा सकता है ?

कम्युनिस्ट पार्टी आफ कनाडा, पूंजी के इस मजदूर विरोधी चरित्र को बखूबी पहचानती है और उसके खिलाफ जितनी भी उसकी शक्ति है, पूरे विरोध के साथ मैदान में है। गत शुक्रवार जनवरी 19 को नेशनल एक्शन डे के आह्वान के साथ टिम होर्टोंस के कर्मचारियों के पक्ष में उसने टिम होर्टोंस स्टोर्स के परिसरों पर प्रदर्शन किया।

देखना होगा टिम होर्टोंस के कर्मचारियों को दूसरे श्रमिक वर्गों के साथ अपनी समझ कहाँ तक बढ़ती है। बहरहाल पार्टी का काम दिशा देने का है, यह काम वह मुस्तैदी से करती रहेगी।

शैतानों का शैतान पूंजीवाद

पश्चिमी अर्थव्यवस्थाओं के प्रमुख प्रवक्ता अर्थशास्त्री जॉन मेनार्ड कीन्स ने कहा था ' पूंजीवाद वह विस्मयकारी विचार पद्धति है जिसमें शैतानों का शैतान अपनी सबसे बड़ी शैतानी से ऐसा काम कर सकता है जिसमे सबका भला हो'

टिम होर्टोंस के मालिक रोन जोयस ने अपनी शैतानी से किसी का भला नहीं किया - पूंजी से शुद्ध शोषण कारी मुनाफा कमाने वाली प्रवृति के अनुरूप वह अपने भले में लगा हुआ है तथापि कीन्स इस धरती से अब तिरोहित हो चुका है।  

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
hastakshep
>