#BhimaKoregaonViolence : बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की फासीवादी विचारधारा का प्रतीक

राहुल ने कहा, संघ व भाजपा की सोच की केंद्र बिंदु है कि दलित भारतीय समाज के सबसे निचले पायदान पर बने रहें।...

200 साल पुरानी भीमा कोरेगांव की लड़ाई की बरसी पर महाराष्ट्र में फैली हिंसा को लेकर सियासत लगातार गरमाती जा रही है। एक तरफ जहां बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने पुणे में फैली हिंसा को लेकर भाजपा और आरएसएस पर करारा वार किया है वहीं इसी कड़ी में अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर भाजपा और संघ को आड़े हाथ लिया है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, पुणे की घटना रोकी जा सकती थी। सरकार को कोरेगांव-भीमा में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था करनी चाहिए थी। लेकिन वहां पर भाजपा की सरकार है और उन्होंने वहां हिंसा कराई है। उन्होंने कहा, लगता है कि इस घटना के पीछे भाजपा, संघ और वहां की जातिवादी ताकतों का हाथ है।

महाराष्ट्र के घटनाक्रम के संदर्भ में प्रतिक्रिया देते हुए राहुल गांधी ने आरएसएस और भाजपा पर फासिस्ट सोच होने का आरोप लगाते हुए ट्वीट किया ।

राहुल गांधी ने उना और हैदराबाद केंद्रीय विश्व विद्यालय की घटनाओं का जिक्र करते कहा कि महाराष्ट्र के पुणे में हुई घटना भाजपा-संघ के कथित फासिस्ट सोच के खिलाफ प्रतिकार का ताजा उदाहरण है।

राहुल ने कहा, संघ व भाजपा की सोच की केंद्र बिंदु है कि दलित भारतीय समाज के सबसे निचले पायदान पर बने रहें।

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।