ए वतन की सादगी और भावनाएं हर पीढ़ी से जुड़ेंगी - शंकर-एहसान-लॉय

लक्ष्य और हिंदुस्तानी जैसे गीतों को कौन भूल सकता है, जिन्होंने भारतीयों में राष्ट्रवादी भावनाओ को जगाया था? अब, लगभग एक दशक बाद, प्रतिभाशाली संगीतकारों की तिकड़ी “शंकर-एहसान-लॉय” अपनी आगामी फिल्म राजी ...

एजेंसी
ए वतन की सादगी और भावनाएं हर पीढ़ी से जुड़ेंगी - शंकर-एहसान-लॉय
Shankar, Ehsaan , Loy

लक्ष्य और हिंदुस्तानी जैसे गीतों को कौन भूल सकता है, जिन्होंने भारतीयों में राष्ट्रवादी भावनाओ को जगाया था? अब, लगभग एक दशक बाद, प्रतिभाशाली संगीतकारों की तिकड़ी “शंकर-एहसान-लॉय” अपनी आगामी फिल्म राजी के देशभक्ति से भरपूर गाने “ए वतन” से दर्शकों के दिलो को जीत रहे हैं।

एहसान नूरानी, जिन्हें गीत के सफल होने का आत्मविश्वास था, उन्होंने कहा कि गीत की सादगी और भावना हर पीढ़ी से जुड़ पायेगी।

जब पूछा गया कि बॉलीवुड के अग्रणी संगीतकारों के टीम ने 'ए वतन' लिखते समय पर कोई विशेष ध्यान दिया है, तो उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि एक सिंपल आईडिया बहुत अच्छे से काम करता हैं! यह निश्चित रूप से सभी को पसंद आएगा. गीत को कंपोज़ करने के कोई सेट पैरामीटर नहीं हैं। मेरा मतलब है कि लक्ष्य और हिन्दुस्तानी से पहले भी हमने गीत बनाये हैं, जिन्हें काफी सराहा गया हैं। यह गीत भावनात्मक है और यह हर पीढ़ी से जुड़ जाएगा।"

2016 में ‘रॉक ऑन 2’ और ‘मिर्ज्या’ के बाद, तीनों अपनी आगामी फिल्म राज़ी (2018) के लिए काफी उत्साहित हैं।

अपने काम की प्रक्रिया के बारे में बात करते हुए एहसान बोले, “देशभक्ति भरे गीत पर काम करना बहुत मुश्किल है। यह ऐसा कुछ ऐसा नहीं होना चाहिए जो पहले किया जा चूका हैं, और विशेष रूप से फिल्म की स्थिति में, हमें देशभक्ति भरे गीत की आवश्यकता थी। हमें एक भावनात्मक गीत बनाना था क्योंकि यह कहानी की मांग थी”

एहसान ने बताया की फिल्म अल्बम में ऐसे गाने हैं जो भावनात्मकता ज्यादा हैं, “भावनाओं का होना बहुत जरूरी था, क्योंकि वह भारत के लिए जासूसी करने सीमा पार जा रही हैं, और शायद अपनी पूरी जिंदगी को जोखिम में डाल रही है।”

आलिया भट्ट अभिनीत जासूस थ्रिलर फिल्म के लिए प्रतिभाशाली संगीतकारों ने कश्मीरी लोक संगीत के साथ काफी एक्सपेरिमेंट किया है। जब तीनों से पूछा गया कि 'राज़ी' के गाने कंपोज़ करते समय उन्हें किस तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ा, महादेवन ने कहा, “हर प्रोजेक्ट अपनी चुनौतिया लेकर आता हैं. जब आपको एक संगीतकार के तौर पर कहानी को जस्टिफाई करना होता हैं, तो अपने आप ही गाने के हर छोटे-बड़े पहलू बहुत ध्यान देना पड़ता हैं, खासकर गाने की डिटेलिंग पर! राज़ी फिल्म में एक गाना हैं, दिल बरो, जिसके लिए हमें कश्मीरी लोक गीतों पर काफी रिसर्च करनी पड़ी! हमें गाने में कश्मीरी संगीत वाद्ययंत्र का उपयोग करना पड़ा। गाने में उस जगह की, समय की और परिस्थिति की झलक दिखाना सच में एक चुनौती है। अगर आप राज़ी के टाइटल देखेगे तो उसमे अफगानी और कश्मीरी फील हैं, लेकिन साथ में यह एक बॉलीवुड फिल्म हैं, तो एक कंपोजर को इन सभी चीजो का ध्यान रखना पड़ता हैं”

“राज़ी” हरिंदर सिक्का के नोवले “कॉलिंग सहमत” पर आधारित हैं, जिसमे सहमत नाम की लड़की की एक सच्ची और अविश्वसनीय कहानी हैं, लेखिका हरिंदर ने जिसकी पहचान छुपाने के लिए उसे सहमत नाम दिया हैं.

आलिया के किरदार का नाम सहमत हैं, विकी कौशल एक पाकिस्तानी अधिकारी की भूमिका में नजर आयेगे.

'राजी' को मेघना गुलजार ने निर्देशित किया है, करण जौहर और विनीत जैन ने इसे प्रोडूस किया हैं!

फिल्म 11 मई, 2018 को रिलीज होने वाली है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
hastakshep
>