अच्छे दिन : अनुपम खेर होंगे एफ टी आई आई के नए अध्यक्ष

 पुणे स्थित फिल्म इंस्टिट्यूट ऑफ़ इण्डिया के लिए अनुपम खेर को नए अध्यक्ष के तौर पर चुना गया है। इसके पहले गजेंद्र चौहान इस पद पर थे जिन्हें कई विरोधों का भी सामना करना पड़ा था...

एजेंसी
हाइलाइट्स

मोदी ब्रिगेड के अहम चेहरा समझे जाने वाले अनुपम खेर ने 500 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया है। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाज़े भी जा चुके हैं। जिससे कही न कही साबित होता है कि सरकार ने विद्यार्थियों की मांग जरूर सुनी है क्यूंकि पहले विद्यार्थियों का कहना था अध्यक्ष ऐसा होना चाहिए जिसे इस उद्योग के बारे में जानकारी हो।

मुंबई, 11 अक्टूबर 2017

 पुणे स्थित फिल्म इंस्टिट्यूट ऑफ़ इण्डिया के लिए अनुपम खेर को नए अध्यक्ष के तौर पर चुना गया है। इसके पहले गजेंद्र चौहान इस पद पर थे जिन्हें कई विरोधों का भी सामना करना पड़ा था। वर्ष 2015 में चुने जाने के बाद से ही ये लगातार चर्चा में बने रहे थे।

 गजेंद्र चौहान के दो वर्षों के कार्यकाल में विद्यार्थियों द्वारा लगभग 139 स्ट्राइक की गईं और उन विद्यार्थियों का कहना था की गजेंद्र चौहान की जगह कोई और आना चाहिए हालाँकि उन्हें उस पद से हटाया नहीं गया और मार्च 2017 में उनके कार्यकाल के खतम होने के बाद अनुपम खेर अब उस पद को संभालेंगे।

मोदी ब्रिगेड के अहम चेहरा समझे जाने वाले अनुपम खेर ने 500 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया है। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाज़े भी जा चुके हैं। जिससे कही न कही साबित होता है कि सरकार ने विद्यार्थियों की मांग जरूर सुनी है क्यूंकि पहले विद्यार्थियों का कहना था अध्यक्ष ऐसा होना चाहिए जिसे इस उद्योग के बारे में जानकारी हो।

 इसके पहले अनुपम खेर फिल्म प्रमाणीकरण और नॅशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के भी अध्यक्ष रह चुके हैं।वर्ष 2004 में पद्मश्री और 2014 में पद्मा भूषण अवार्ड से सम्मानित किये गए। किसी भी कलाकार के लिए यह पल बहुत ही खाश होता है कि उसे देश के सर्वोच्च सम्मान से नवाजित किया जाये।

 अनुपम खेर हाल में अपनी आगामी फिल्म रांची डायरीज के प्रमोशन में व्यस्त हैं। फिल्म सौंदर्य शर्मा, जिमि शेरगिल, अनुपम खेर और सतीश कौशिक द्वारा अभिनीत है। फिल्म का निर्देशन सतीश मोहंती द्वारा किया गया है और निर्मित अनुपम खेर द्वारा की गई है।

 फिल्म 13 अक्टूबर से सिनेमा घरो में प्रस्तुत होगी

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।