एक महीने में हुए बंद 14,000 फेसबुक अकाउंट, आपका भी हो जाएगा बंद अगर करेंगे ये गड़बड़

अगर आप चाहते हैं कि आपका फेसबुक एकाउंट सही सलामत चलता रहे तो थोड़ी सावधानी बरतें, सोशल मीडिया पर अपनी खाल में रहें, “जिओ और जीने दो” का मंत्र आभासी दुनिया में भी अपना लें। ...

ट्रंप को गोली मार दो नहीं चलेगा पर उस कुतिया का गला काट दो चलेगा

हाल ही में व्हाट्सऐप का सर्वर डाउन हो गया था तो सारी आभासी दुनिया में खलबली मच गई थी। अब समझ लीजिए अगर आपका फेसबुक या व्हाट्सऐप एकाउंट बंद हो जाए तब आपकी क्या स्थिति होगी? अगर आप चाहते हैं कि आपका फेसबुक एकाउंट सही सलामत चलता रहे तो थोड़ी सावधानी बरतें, सोशल मीडिया पर अपनी खाल में रहें, “जिओ और जीने दो” का मंत्र आभासी दुनिया में भी अपना लें।   

एक महीने में हुए बंद 14,000 फेसबुक अकाउंट

द गार्जियन की नई रिपोर्ट Leaked guidelines on cruel and abusive posts also show how company judges who ‘deserves our protection’ and who doesn’t में बताया गया है कि फेसबुक ने जनवरी 2017 में 14,000 ऐसे यूजर्स के अकाउंट को बंद किया है जो फेसबुक पर हिंसा, द्वेषपूर्ण भाषण, आतंकवाद, कामोत्तेजक चित्र (पोर्नोग्राफी) और खुद को नुकसान पहुंचाने वाले पोस्ट करते थे।

दरअसल इस बात का पता फेसबुक के हालिया लीक हुए दस्तावेजों से चला है।

रिपोर्ट बताती है कि डिजिटल सेक्सुअल इमेज भी फेसबुक पर शेयर नहीं किए जा सकते हैं, हालांकि न्यूड आर्ट पर फेसबुक ने कोई रोक नहीं लगाई है।

द गार्जियन को मिले दस्तावेज के अनुसार मैं बिल्ली खाने जा रहा हूं, हेल्लो लेडिज, शक माय कॉक जैसे पोस्ट तब तक ब्लॉक नहीं किए जाएंगे तब तक इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं मिलती है। इसके अलावा ‘ट्रंप को गोली मार दो’ जैसे स्टेटस हटा दिए जाएंगे, क्योंकि यह किसी देश के नेता और सम्मानित व्यक्ति के खिलाफ है।

वहीं फेसबुक के मॉडरेटर ‘उस कुतिया का गला काट दो’ या फिर ‘मर जा’ जैसी पोस्ट को रिमूव नहीं करेंगे क्योंकि इसमें कोई खतरा नहीं है। वहीं जानवरों को नुकसान पहुंचाने वाली फोटो आप शेयर कर सकते हैं, लेकिन इसमें ज्यादती होने पर फेसबुक डिस्टर्बिंग मार्क कर सकता है और आपके अकाउंट को भी ब्लॉक कर सकता है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।