फिल्मों में एक ही शैली के किरदार में नहीं दिखना चाहते मनोज बाजपेई

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी भी अपने नकारात्मक किरदार के लिए जाने जाते हैं, लेकिन रोमांटिक फिल्म में काम करने के बाद वह चाहते हैं कि हमेशा रोमांटिक फ़िल्में ही करें।...

एजेंसी
हाइलाइट्स

मनोज बाजपेई फिल्म में पिता का किरदार निभा रहे है और फिल्म शेफ भी पिता और पुत्र की कहानी पर आधारित है। जब मनोज पूछा गया कि यह फिल्म शेफ से कितनी अलग है तो उन्होंने कहा,

“मैंने अभी तक फिल्म नहीं देखी है पर मैं इतना जरूर कह सकता हूँ कि दोनों ही फिल्मों की कहानी बिलकुल अलग हैं। मैं फिल्म में पिता के किरदार में नजर आऊंगा और यह मेरे लिए बहुत ही कठिनाई भरा था क्यूंकि मैं पूरी तरह से अपने आप को दर्शा नहीं पा रहा था।“

( न्यूज़ हेल्पलाइन )

मुंबई, 11 अक्टूबर, 2017

नकारात्मक किरदार की शैली में छा गए अभिनेता, मनोज बाजपेई ने अपनी आगामी फिल्म 'रुख' के प्रमोशनल इंटरव्यू दौरान कहा, " मैं फिल्मों में एक ही शैली में नज़र आने में बिलकुल भी विश्वास नहीं रखता।

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी भी अपने नकारात्मक किरदार के लिए जाने जाते हैं, लेकिन रोमांटिक फिल्म में काम करने के बाद वह चाहते हैं कि हमेशा रोमांटिक फ़िल्में ही करें। जब इस पर बाजपेई से पूछा गया कि क्या आप भी रोमांटिक फिल्म करना चाहेंगे तो उन्होंने कहा, "मैं किसी एक ही किरदार या फिर किसी एक ही रूप में नजर आने में विश्वास नहीं रखता। हर चीज का अपना एक दौर होता है, कॉमेडी से लेकर रोमांस तक का समय होता है। सबका सोचने का नज़रिया अलग अलग होता है। मैं अपने ढंग से काम करता हूँ। अगर नवाज़ भाई को कोई काम पसंद आया होगा तो यह निश्चित है कि वो उस काम को अद्भुत ढंग से करेंगे।

मनोज बाजपेई फिल्म में पिता का किरदार निभा रहे है और फिल्म शेफ भी पिता और पुत्र की कहानी पर आधारित है। जब मनोज पूछा गया कि यह फिल्म शेफ से कितनी अलग है तो उन्होंने कहा,

“मैंने अभी तक फिल्म नहीं देखी है पर मैं इतना जरूर कह सकता हूँ कि दोनों ही फिल्मों की कहानी बिलकुल अलग हैं। मैं फिल्म में पिता के किरदार में नजर आऊंगा और यह मेरे लिए बहुत ही कठिनाई भरा था क्यूंकि मैं पूरी तरह से अपने आप को दर्शा नहीं पा रहा था।“

अपने चरित्र के बारे में आगे बात करते हुए उन्होंने कहा,

" किरदार बहुत अच्छा है, मैं फिल्म में अपने पिता के बहुत करीब होता हूँ और उनके जैसे ही अपने बेटे बनना चाहता हूँ। मैं एक ऐसा पिता बनना चाहता हूँ की अपनी समस्याओं के बारे में बात ना करू।

फिल्म 'रुख' एक ड्रामा है जो अतानु मुखर्जी द्वारा निर्देशित है। फिल्म की कहानी में दर्शाया गया है कि 18 वर्ष के ध्रुव को उसके पिता की मौत की खबर मिलती है और कहा जाता है कि उन्होंने आत्महत्या की है। इस बात पर ध्रुव को विश्वास नहीं होता और इसकी जाँच पड़ताल में लग जाता है।

फिल्म मनोज बाजपेई, आदर्श गौरव, स्मिता ताम्बे और कुमुद मिश्रा द्वारा अभिनीत है।

दृश्यम फिल्म द्वारा प्रस्तुत फिल्म रुख 27 अक्टूबर को रिलीज होगी।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।