मेरे दिल के करीब है फिल्म डमरू - रजनीश मिश्रा

न्यूज़ हेल्पलाइन

फिल्म निर्माता प्रदीप शर्मा  अपनी आगामी फिल्म, डमरू, के साथ नई मिसाल स्थापित करने के लिए तैयार हैं। जिसे 'बाबा मोशन प्राइवेट लिमिटेड' के बैनर के तहत बनाया गया हैंl 

देवो के देव महादेव - बुराई को नष्ट करने वाले, शायद हिंदू धर्म में सबसे शक्तिशाली देवताओं में से एक है और आगामी फिल्म 'डमरू', ईश्वर के प्रति निष्ठा और विशवास की अनोखी कहानी हैं, जिसे रोमांस के परिदृश्य के माध्यम से दर्शाया गया हैंl 'डमरू', दर्शकों में बनी भोजपुरी सिनेमा की छबि को पूरी तरह से बदल देगी l

फिल्म के बारे में बात करते हुए दिग्दर्शक रजनीश मिश्रा  कहते हैं,

"यह फिल्म मेरे दिल के बहुत करीब है क्योंकि बचपन से मैं महादेव की कहानियाँ  सुनता आ रहा हूं और उसकी कल्पना करता रहा हूँ। एक दिन मेरे मन में एक विचार आया और मैंने इस पर एक फिल्म बनाने का फैसला किया।"

Poster of Film Damruडमरू की कहानी केशरी लाल यादव के किरदार के आसपास घूमती है, जो भगवान महादेव के भक्त हैं और स्थानीय जमींदार की बेटी के साथ प्यार करते हैं, जिसे भोजपुरी फिल्म की नई हीरोइन यशिका कपूर निभा रही हैं!

अपनी भूमिका के बारे में बात करते हुए, केशरी लाल यादव ने कहा,

"यह मेरे लिए कठिन भूमिका थी। महादेव के  भक्त की भूमिका के साथ न्याय करना आसान नहीं था। मैंने इस फिल्म द्वारा इस संदेश को दर्शकों तक भेजने की कोशिश की हैं कि उनकी भक्ति कितनी शक्तिशाली हो सकती है।"

फिल्म निर्माता प्रदीप शर्मा, जो इस डमरू के साथ भोजपुरी फिल्म में प्रवेश कर रहे हैं, कहते हैं,

"जब रजनीश इस स्क्रिप्ट को मेरे पास लाये तो मैं मंत्रमुग्ध हो गया, मैं खुद महादेव का एक बहुत बड़ा भक्त हूँ, और मैंने फिल्म बनाने का फैसला किया। यह मेरी पहली भोजपुरी फ़िल्म है और मुझे उम्मीद है कि हम दर्शकों तक यह मेसेज पूरे जोर और स्पष्ट रूप से पंहुचा पायेंगे।"

'बाबा मोशन प्राइवेट लिमिटेड' इस वर्ष मराठी और बॉलीवुड फिल्मे भी लेकर आ रहे हैं। उनकी पहली बॉलीवुड फिल्म का नाम "एक्स-रे (इनर इमेज)" है, जो इस साल रिजील होगी।

डमरू इस साल मार्च में सिनेमाघरो  में रिलीज़ होगी।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।