मोदी ने तो कहा था गन्ना किसानों का बकाया भुगतान हो गया, फिर बकाये की मांग करने वाले ये किसान देशद्रोही हैं ?

उप्र : गन्ना बकाया भुगतान के लिए किसानों ने 3 घंटे रेल ट्रैक जाम रखा...

एजेंसी

मुरादाबाद, 09 जनवरी। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में किसानों ने बकाया गन्ना भुगतान को लेकर मंगलवार रेलवे ट्रैक जाम कर दिया। किसानों के इस उग्र आंदोलन (Fierce agitation of farmers) को देखते हुए यहां प्रशासन अलर्ट हो गया। किसानों को समझाने का प्रयास किया जाने लगा लेकिन किसान तत्काल गन्ना बकाया भुगतान (Cane arrears payment) की मांग पर अड़े रहे।

उप्र : गन्ना बकाया भुगतान के लिए किसानों ने 3 घंटे रेल ट्रैक जाम रखा

मुरादाबाद (Moradabad) के नजदीक अगवानपुर रेलवे स्टेशन पर जुटे सैकड़ों किसानों ने मुरादाबाद-हरिद्वार-सहारनपुर रेलवे ट्रैक पूरी तरह से जाम कर दिया। इस दौरान करीब तीन घंटे रेल रूट बाधित रहा। दर्जनों गाड़ियां जहां-तहां खड़ी कर दी गईं। यहां पहुंचे प्रशासनिक अफसर किसानों को समझाने का प्रयास कर रहे, मगर तीन घंटे की मशक्कत के बाद किसानों ने आश्वसन मिलने पर रेल रूट खाली किया।

किसानों द्वारा अगवानपुर रेलवे स्टेशन पर कब्जा करने पर रेलवे विभाग और जिला प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए थे। प्रशासन के द्वारा लगातार समझाने के बाद भी किसान मानने को तैयार नहीं थे। किसानों द्वारा यहां कहा गया कि जब तक उनके गन्ना बकाया का भुगतान नहीं किया जाता वह तब तक रेलवे ट्रैक से नहीं उठेंगे।

मंगलवार दोपहर से ही यहां किसान अपने बकाया गन्ना भुगतान की मांग लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद समेत कई जिलों में लगातार मिल स्वामियों से गन्ना भुगतान की मांग की जाती रही है लेकिन मिल स्वामियों द्वारा किसानों का भुगतान नहीं किए जाने पर मंगलवार को किसानों का गुस्सा फूट गया। अपनी मांगों को लेकर यहां प्रदर्शन कर रहे किसान अगवानपुर रेलवे स्टेशन पहुंच गए और रेलवे ट्रैक पर बैठ कर रेल संचालन ठप्प कर दिया।

भारतीय किसान यूनियन के किसान नेता चौधरी हरपाल सिंह ने इस दौरान कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने किसानों से वादा किया था कि उनकी लागत का डेढ़ गुना मुनाफा किसानों को दिया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। अब गन्ने का भुगतान नहीं किया जा रहा है। अब तक नया कुल बकाया भुगतान पांच हजार करोड़ रुपये है और दो हजार सात सौ करोड़ रुपया पुराना बकाया है।

उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट का आदेश हो चुका है कि यदि कोई मिल किसान को समय से भुगतान नहीं करती है तो सोलहवें दिन किसान के खाते में ब्याज सहित भुगतान करना होगा। लेकिन सरकार ने ब्याज तो दूर मूल रकम तक नहीं दिलाई।

हरपाल सिंह ने कहा कि मुरादाबाद मंडल पर अकेले 159 करोड़ रुपया मिलों पर बकाया है। उन्होंने कहा कि यदि हमारे बकाया गन्ना भुगतान की रकम नहीं दी गई तो यह आंदोलन और तेज किया जाएगा।

अगवानपुर रेलवे स्टेशन मास्टर मंजर हसन के मुताबिक, किसानों द्वारा दोपहर 2:45 बजे से 5:40 बजे तक सहारनपुर-मुरादाबाद-हरिद्वार रेलवे ट्रैक बाधित किया गया था। इस दौरान कुछ ट्रेनों को पीछे के स्टेशन पर ही रोक दिया गया था अब यहां ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया गया है।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।