वायरस जनित रोग क्या हैं

पुरानी बीमारी हेपेटाइटिस बी और डी वायरस के संक्रमण से हो सकती है...

Chronic viral diseases.

वायरस जनित रोग क्या हैं।

नई दिल्ली, 09 नवंबर। 50 साल पहले तक ज्ञात केवल पुरानी वायरल बीमारियों को तंत्रिका तंत्र तक ही सीमित माना जाता था। लेकिन महामारी विज्ञान epidemiology, आण्विक जीवविज्ञान molecular biology और इम्यूनोलॉजी  immunology, में हालिया प्रगति के परिणामस्वरूप, नई वायरल बीमारियों viral diseases को पहचाना गया है और उनकी नैदानिक विशेषताओं और रोगजन्य को स्पष्ट किया गया है।

US National Library of Medicine के National Institutes of Health पर उपलब्ध एक पुराने लेख में बताया गया है कि पुरानी बीमारी हेपेटाइटिस बी और डी वायरस के संक्रमण से हो सकती है या जो भी एजेंट हेपेटाइटिस non-A, non-B, हर्पसवायरस herpesviruses, एपस्टीन-बार वायरसEpstein-Barr virus, साइटोमेगागोवायरस cytomegalovirus और मानव टी-लिम्फोट्रोपिक वायरस प्रकार III  human T-lymphotropic virus type III का कारण बनते हैं, से पुरानी वायरल बीमारी हो सकती है।

इन बीमारियों में कुछ चीजें सामान्य होती हैं जैसे - लंबी अवधि या यहां तक कि आजीवन एसिमप्टोमैटिक कैरिज, viremia, प्लाज्मा में वायरस मुक्त या मोनोन्यूक्लियर कोशिकाओं को प्रसारित करना शरीर के स्राव में वायरस की उपस्थिति, लक्षित अंगों में अपरिवर्तनीय ऊतक की चोट और ऑन्कोोजेनिक क्षमता सहित सामान्य विशेषताएं शामिल हैं।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

नोट - यह समाचार किसी भी हालत में चिकित्सकीय परामर्श नहीं है। यह समाचारों में उपलब्ध सामग्री के अध्ययन के आधार पर जागरूकता के उद्देश्य से तैयार की गई अव्यावसायिक रिपोर्ट मात्र है। आप इस समाचार के आधार पर कोई निर्णय कतई नहीं ले सकते। स्वयं डॉक्टर न बनें किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लें।) 

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।