मोदी सिर्फ RSS की सुनते हैं, आज हिन्दुस्तान एक प्रकार से BJP के दो-तीन नेताओं का गुलाम बन चुका है

मोदी सरकार ने एक साल में उद्योगपतियों को 2.5 लाख करोड़ रुपये दिये, लेकिन किसान को एक रुपया नहीं...

मोदी सिर्फ RSS की सुनते हैं, आज हिन्दुस्तान एक प्रकार से BJP के दो-तीन नेताओं का गुलाम बन चुका है

नई दिल्ली, 11 जून। मोदी सरकार पर हुनरमंदों की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) की सुनते हैं और किसानों, पिछड़ों, कामगारों, श्रमिकों और युवाओं की समस्याओं को नजरअंदाज कर देते हैं।

कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग द्वारा यहां आयोजित अखिल भारतीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए श्री गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने पिछड़े वर्ग के समुदाय की सबसे ज्यादा उपेक्षा की है। उन्हें उनका हक नहीं दिया गया है। मेहनत पिछड़ा वर्ग का किसान और हुनरमंद व्यक्ति करता है और उसके हुनर का फायदा कोई अन्य व्यक्ति उठा लेता है। यह भाजपा सरकार की नीति का हिस्सा बन चुका है।

मोदी सरकार ने एक साल में उद्योगपतियों को 2.5 लाख करोड़ रुपये दिये, लेकिन किसान को एक रुपया नहीं

श्री गांधी ने कहा

“मोदी सरकार में कामगारों को नकारा गया है और उनके हुनर तथा कौशल को महत्व नहीं दिया गया है। हुनरमंदों को कमरे में बंद कर रखा जाता है और उसके हुनर का फायदा कोई दूसरा उठा रहा है। किसान और मजदूर दिनभर मेहनत करते हैं और फायदा उन 15-20 लोगों को मिलता है जो भाजपा को मोटी रकम देते हैं। रणनीति साफ है कि पूरा का पूरा फायदा इन्हीं 15-20 लोगों को मिले। एक साल में मोदी सरकार ने उद्योगपतियों को 2.5 लाख करोड़ रुपये दिये हैं लेकिन किसान को एक रुपया नहीं दिया और ना ही उनका कर्ज माफ होने वाला है।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस हमेशा पिछड़ों के साथ खड़ी रही है। उनकी पार्टी का 70 साल का इतिहास है कि पिछड़ों को उसने पूरा सम्मान दिया है लेकिन मोदी सरकार के आने के बाद पिछड़ा वर्ग के लोगों को अपने अस्तित्व को बचाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।