बूढ़े पिता प्रणब मुखर्जी के नागपुर प्रणाम पर बेटी शर्मिष्ठा ने उठाए सवाल

बूढ़े पिता प्रणब मुखर्जी के नागपुर प्रणाम पर बेटी शर्मिष्ठा ने उठाए सवाल...

नई दिल्ली, 07जून। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम में शामिल होने को लेकर कई कांग्रेस नेताओं के बयान के बाद अब उनके परिजन ने ही इस पर सवाल उठा दिये हैं। प्रणबदा की बेटी और कांग्रेस नेत्री शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि उनके पिता नागपुर जाकर 'भाजपा एवं आरएसएस को फर्जी खबरें गढ़ने और अफवाहें फैलाने की सुविधा मुहैया करा रहे हैं।

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा कि उनके ''भाषण तो भुला दिए जाएंगे, लेकिन तस्वीरें (विजुअल्स) रह जाएंगी।

भाजपा में अपने शामिल होने की अटकलों को भी सिरे से खारिज करते हुए शर्मिष्ठा ने कहा कि वह कांग्रेस छोड़ने की बजाय राजनीति छोड़ना पसंद करेंगी।

दिल्ली कांग्रेस की मुख्य प्रवक्ता शर्मिष्ठा ने अपने पिता को सचेत भी किया कि वह आज की घटना से समझ गए होंगे कि भाजपा का दुष्प्रचार (डर्टी ट्रिक्स) विभाग किस तरह से काम करता है।

शर्मिष्ठा ने ट्वीट किया कि आशा करती हूं कि प्रणब मुखर्जी को आज की घटना से इसका अहसास हो गया होगा कि भाजपा का डर्टी ट्रिक्स विभाग किस तरह काम करता है।

शर्मिष्ठा ने कहा कि यहां तक कि आरएसएस कभी यह कल्पना भी नहीं करेगा कि आप अपने भाषण में उनके विचारों का समर्थन करेगे। लेकिन भाषण को भूला दिया जाएगा और तस्वीरें रह जाएंगी तथा इनको फर्जी बयानों के साथ फैलाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि आप नागपुर जाकर भाजपा/आरएसएस को फर्जी खबरें गढ़ने, अफवाहें फैलाने और इनको किसी न किसी तरह विश्वसनीय बनाने की सुविधा मुहैया करा रहे हैं। और यह तो सिर्फ शुरुआत भर है। प्रणब को आरएसएस के स्वयंसेवकों के लिए आयोजित संघ शिक्षा वर्ग के दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है।

शर्मिष्ठा से पहले संदीप दीक्षित, सीके जाफर शरीफ और कांग्रेस के कई अन्य नेता पूर्व राष्ट्रपति के इस कदम पर सवाल खड़े कर चुके हैं। हालांकि कांग्रेस पार्टी ने इस बारे में आधिकारिक तौर पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है।

छुट्टियों के सिलसिले में दिल्ली से बाहर गईं शर्मिष्ठा ने भाजपा में अपने शामिल होने की अफवाहें खारिज करते हुए ट्वीट किया,

''पहाड़ों में खूबसूरत सूर्यास्त का आनंद ले रही हूं, और अचानक यह खबर आती है कि मैं भाजपा में शामिल हो रही हूं...यह टॉरपिडो से टकराने जैसा है। क्या इस दुनिया में थोड़ी शांति और सद्बुद्धि नहीं हो सकती? मैं राजनीति में इसलिए आई क्योंकि मैं कांग्रेस पर विश्वास करती हूं। कांग्रेस छोड़ने की बजाय मैं राजनीति छोड़ना पसंद करूंगी।“

दिल्ली कांग्रेस के प्रमुख अजय माकन ने भी इन बातों को खारिज करते हुए कहा कि शर्मिष्ठा समर्पित कांग्रेस सदस्य हैं। माकन ने ट्वीट किया कि कुछ अफवाहों के जवाब में - शर्मिष्ठा से अभी बात हुई - वह एक समर्पित कांग्रेस सदस्य हैं और कांग्रेस की विचारधारा में पूरा यकीन करती है। उन्होंने मुझे बताया कि वह राजनीति में सिर्फ इसलिए हैं क्योंकि कांग्रेस पार्टी की विचारधारा में उनका पूरा विश्वास है।

 

Hope @CitiznMukherjee now realises from todays’ incident, how BJP dirty tricks dept operates. Even RSS wouldn’t believe that u r going 2 endorse its views in ur speech. But the speech will be forgotten, visuals will remain & those will be circulated with fake statements. 1/2

— Sharmistha Mukherjee (@Sharmistha_GK) June 6, 2018

In reply to certain rumors-Just spoke to @Sharmistha_GK , who is out of Delhi-

She is a devoted Congress Person and firmly believes in the ideology of @INCIndia .

She told me, that she is in politics, just because of her firm faith in the ideology of the Congress Party.

— Ajay Maken (@ajaymaken) June 6, 2018

In the mountains enjoying a beautiful sunset, & suddenly this news that I’m supposedly joining BJP hits like a torpedo! Can’t there be some peace & sanity in this world? I joined politics because I believe in @INCIndia Wud rather leave politics than leave Congress

— Sharmistha Mukherjee (@Sharmistha_GK) June 6, 2018

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।