रविचंद्रन अश्विन पर फैसला अगले 48 घंटों में : कोच रवि शास्त्री

उन्होंने कहा, "रोहित फिट लग रहे हैं। उन्होंने बहुत अच्छा सुधार किया है। लेकिन उन्हें मैच फिटनेस हासिल करनी होगी। हमें यह देखना होगा कि वह कल तक और कितने बेहतर हो पाते हैं। पांड्या फिट हैं।"...

एजेंसी
रविचंद्रन अश्विन पर फैसला अगले 48 घंटों में : कोच रवि शास्त्री

decision on Ravichandran Ashwin in next 48 hours: coach Ravi Shastri

मेलबर्न, 23 दिसम्बर। चोट के कारण पर्थ टेस्ट से बाहर रहने वाले ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का 26 दिसम्बर से यहां शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में भी खेलना तय नहीं माना जा रहा है। क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय क्रिकेट टीम के प्रमुख कोच रवि शास्त्री ने कहा है कि अश्विन के खेलने को लेकर अगले 48 घंटे में कोई निर्णय लिया जाएगा।

 

शास्त्री ने रविवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा,

"जहां तक अश्विन की बात है तो हम अगले 48 घंटों में एक बार फिर जायजा लेंगे और मूल्यांकन करने के बाद ही तय करेंगे कि अगले मैच के लिए वह (अश्विन) फिट हैं या नहीं।"

 

कोच ने अश्विन के अलावा रोहित शर्मा और हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या की फिटनेस को लेकर कहा कि वे दोनों चोट से उबर चुके हैं। उन्होंने कहा कि अंतिम एकादश में शामिल किए जाने को लेकर अभी उन पर कोई फैसला नहीं लिया गया है।

 

उन्होंने कहा,

"रोहित फिट लग रहे हैं। उन्होंने बहुत अच्छा सुधार किया है। लेकिन उन्हें मैच फिटनेस हासिल करनी होगी। हमें यह देखना होगा कि वह कल तक और कितने बेहतर हो पाते हैं। पांड्या फिट हैं।"

 

पांड्या चोट के कारण पहले दो टेस्ट से बाहर थे और अब उन्होंने तीसरे और चौथे टेस्ट मैच के लिए वापसी की है।

 

शास्त्री ने कहा,

"पांड्या का टीम में होने से हमें विकल्प मिलता है। हालांकि चोट से उबरने के बाद उन्होंने ज्यादा प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेला है। उन्होंने सिर्फ एक मैच खेला है। तीसरे टेस्ट मैच में शामिल करने से पहले हमें उनको लेकर थोड़ा सतर्क रहना होगा।"

 

आस्ट्रेलिया दौरे पर भारतीय टीम के लिए सलामी जोड़ी अभी चिंता का विषय बनी हुई है। टीम का शीर्ष क्रम न चल पाने के कारण भारत को पर्थ में 146 रनों से हार का सामना करना पड़ा था और आस्ट्रेलिया ने सीरीज में 1-1 से बराबरी हासिल कर ली।

 

शास्त्री ने शीर्ष क्रम की विफलता पर चिंता जाहिर करते हुए कहा,

 "यह एक बड़ी चिंता की बात है। शीर्ष क्रम को जिम्मेदारी और जवाबदेही लेनी होगी। उनके पास अनुभव है।"

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।