दूध की कीमत बढ़ाई जाने की मांग : आंदोलनकारी किसानों ने रोकी पुणे में दूध आपूर्ति

दूध उत्पादक किसानों के इस संगठन की मांग है कि उन्हें दी जाने वाली दूध की कीमत बढ़ाई जाए

हस्तक्षेप डेस्क
Updated on : 2018-07-16 11:21:56

दूध की कीमत बढ़ाई जाने की मांग : आंदोलनकारी किसानों ने रोकी पुणे में दूध आपूर्ति

नई दिल्ली, 16 जुलाई। दूध की कीमत बढ़ाई जाने की मांग कर रहे दूध उत्पादक किसानों ने पुणे के आसपास दूध की आवाजाही पर रोक लगा दी। किसान नेताओं का आरोप है कि इस कार्रवाई की जिम्मेदार पुलिस तथा महाराष्ट्र सरकार है।

किसान संगठन 'स्वाभिमानी शेतकारी संगठन' के कार्यकर्ताओं ने पुणे के निकट सोमवार सुबह वाहनों की आवागमन रोक दिया, जिससे आसपास के इलाकों में दूध की आपूर्ति बाधित हो गई।

दूध उत्पादक किसानों के इस संगठन की मांग है कि उन्हें दी जाने वाली दूध की कीमत बढ़ाई जाए। इस संगठन के नेता सांसद आर. शेट्टी हैं।

आर. शेट्टी ने कहा है कि, नागपुर की घटना की ज़िम्मेदारी राज्य सरकार तथा पुलिस की है। हमारा विरोध प्रदर्शन रात 12 बजे शुरू होने वाला था, लेकिन पुलिस ने कार्यकर्ताओं को रविवार सुबह से ही हिरासत में लेना शुरू कर दिया था, कार्यकर्ताओं के घरों में जाकर महिलाओं को गालियां भी दीं, तब प्रतिक्रिया हुई। हम शांतिपूर्वक विरोध करना चाहते हैं।

श्री शेट्टी ने कहा कि, सरकार का कहना है कि वे अन्य राज्यों - गुजरात तथा कर्नाटक - से दूध ले आएगी... हम सत्याग्रह करेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि बाहर से कोई दूध नहीं लाया जा सके... यह हमारा विरोध प्रदर्शन बाधित करने के लिए सरकार की रणनीति है।

संबंधित समाचार :