महिला दिवस के सरकारी विज्ञापन से गायब हुआ बेनजीर भुट्टो का नाम, जांच करेगा पाकिस्तान

Exclusion of Benazir’s name from women’s day ads to be probed. महिला दिवस के सरकारी विज्ञापन से गायब हुआ बेनजीर भुट्टो का नाम, जांच करेगा पाकिस्तान...

नई दिल्ली, 9 मार्च। पाकिस्तान सरकार (Pakistan government) अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day) के लिए अपने विज्ञापनों में से पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत बेनजीर भुट्टो (former Prime Minister Benazir Bhutto) का नाम हटाए जाने के मामले की जांच करेगी। यह विज्ञापन विभिन्न क्षेत्रों में पाकिस्तानी महिलाओं के योगदान (Pakistani women's contribution) को रेखांकित करता है। डॉन न्यूज (Dawn news) की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (Pakistan People's Party) की संसदीय नेता शेरी रहमान (Sherry Rehman) द्वारा सीनेट के सत्र (Senate Session) के दौरान मुद्दा उठाए जाने के बाद शुक्रवार को यह फैसला लिया गया।

Exclusion of Benazir’s name from women’s day ads to be probed

रहमान ने कहा कि सरकार के आधिकारिक विज्ञापन में बेनजीर का नाम, तस्वीर और उनके दो बार प्रधानमंत्री रहने का उल्लेख नहीं था।

उन्होंने कहा कि बेनजीर भुट्टो पाकिस्तान की पहचान थीं और उनकी उपलब्धियों ने उन्हें विश्व स्तर पर प्रसिद्धि दिलाई थी। विश्व के विभिन्न हिस्सों में बेनजीर के नाम पर सड़कें हैं, जबकि अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालय उनके नाम पर शोध-केंद्र बना रहे हैं।

इस मुद्दे पर विपक्ष ने पाकिस्तान सरकार से आधिकारिक माफी मांगी और शाम तक विज्ञापनों में संशोधन की मांग की। विपक्ष ने इस मुद्दे पर विरोध में सदन से वाकआउट कर दिया।

विपक्ष की गैर मौजूदगी में नेता सदन सैयद शिबली फराज़ (Senator Syed Shibli Faraz, Leader of the House in the Senate) ने स्वीकार किया कि बेनजीर भुट्टो ने महिलाओं को अद्वितीय नेतृत्व दिया और कहा कि लोकतंत्र की बहाली के लिए इस्लामी दुनिया की पहली महिला प्रधानमंत्री की सेवाएं किसी भी संदेह से परे थीं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में महिलाओं के इतिहास में बेनज़ीर भुट्टो का एक प्रमुख उल्लेख मिलेगा।

बाद में, सदन ने राष्ट्र-निर्माण में पाकिस्तानी महिलाओं की भूमिका की सराहना के लिए प्रस्ताव भी पारित किया।

बेनजीर ने 1988 से 1990 और 1993 से 1996 तक प्रधानमंत्री के रूप में अपनी सेवाएं दी थीं। वह पाकिस्तान में सरकार की प्रमुख बनने वाली पहली महिला थीं।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।