फर्जी मुठभेड़ के जिम्मेदारों का मनोबल बढ़ाएगा नरेन्द्र मोदी का बयान- रिहाई मंच

ऐसा कैसे है कि दलित, पिछड़ा और मुसलमान ही फर्जी मुठभेड़ में मारे जा रहे हैं तो कहीं भारत बंद के नाम पर उत्पीड़ित हो रहे हैं तो कहीं रासुका में निरुद्ध किए जा रहे हैं...

फर्जी मुठभेड़ के जिम्मेदारों का मनोबल बढ़ाएगा नरेन्द्र मोदी का बयान- रिहाई मंच

मुख्यमंत्री योगी बताएं आखिर दलित, पिछड़ा, मुस्लिम ही हैं क्या सूबे में अपराधी? ... जो पुलिसिया मुठभेड़ में मारे जा रहे हैं.

लखनऊ 14 जुलाई 2018. रिहाई मंच ने आजमगढ़ में दिए गए प्रधानमंत्री मोदी के इस बयान पर कि बड़े-बड़े अपराधियों की आज क्या हालत है और इस पर मुख्यमंत्री योगी की ‘गर्वीली मुस्कान’ पर तीखी टिप्पणी करते हुए इसे फर्जी मुठभेड़ करने वालों का मनोबल बढ़ाने की आपराधिक कोशिश करार दिया है.

मंच ने यह सवाल किया है कि ऐसा कैसे है कि दलित, पिछड़ा और मुसलमान ही फर्जी मुठभेड़ में मारे जा रहे हैं तो कहीं भारत बंद के नाम पर उत्पीड़ित हो रहे हैं तो कहीं रासुका में निरुद्ध किए जा रहे हैं.

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।