सुधीर मिश्रा की फिल्म 'दासदेव' में मॉडर्न ज़माने के नारद मुनि का किरदार निभाएंगे दलीप ताहिल।

अनुभवी अभिनेता दलिप ताहिल का कहना है कि आने वाली फिल्म "दासदेव" में उनकी भूमिका एक "मॉडर्न ज़माने के नारद मुनी" की तरह होगी।...

एजेंसी
सुधीर मिश्रा की फिल्म
Dalip Tahil - Daas Dev

अनुभवी अभिनेता दलिप ताहिल का कहना है कि आने वाली फिल्म "दासदेव" में उनकी भूमिका एक "मॉडर्न ज़माने के नारद मुनी" की तरह होगी।

 

दलिप ताहिल, फिल्म  "दास देव", जो एक आधुनिक राजनीतिक थ्रिलर हैं, मे "सहाय" की भूमिका निभाने वाले हैं जो क्लासिकल फिल्म देव दास पर आधारित है। यह फिल्म उत्तर प्रदेश की  राजनीतिक पृष्ठभूमि पर  आधारित  है।

                  

अपनी भूमिका के बारे में बात करते हुए दलिप ताहिल ने कहा, "मैं सुधीर मिश्रा को लंबे समय से जानता हुँ लेकिन हमने कभी साथ काम नहीं किया। जब मैं उनसे मिला तो वह फिल्म के लिए कास्टिंग कर रहे थे और उन्होंने मुझे 'सहाय' की भूमिका दी। मैं फिल्म में सहाय की भूमिका निभा रहा हूं और वह देव दास में एक चुनी लाल की तरह है। यह फिल्म राजनीति पर आधारित है; इसकी पृष्ठभूमि उत्तर प्रदेश की राजनीति जैसी है।

 

सुधीर ने मुझे बताया कि मेरा जो किरदार है , वह कोई राज नेता नहीं हैं, वह शिक्षित और थोड़े अलग किस्म का व्यक्ति है जो बल से ज़्यादा अक्कल से काम लेता है । मुझे मेरा किरदार बेहद पसंद हैं क्यूंकि यह एक अतरंगी किरदार है। अगर मुझे अपने किरदार को एक लाइन में बयां करना हो तो मैं कहूंगा कि वह आज के एक मॉडर्न नारद मुनी का है, जो काफी रोमांचक  और मनोरंजक है। और अगर आप मेंरे किरदार को आज के उत्तरप्रदेश के राजनितिक हालातो के साथ जोड़ दे  तो यह एक मॉडर्न नारद मुनि जैसा होगा"

 

दास देव फिल्म बॉलीवुड की मशहूर रोमांटिक फिल्म  देव दास से प्रेरित है, इसलिए इनकी तुलना करना परिबद्ध होगा, ऐसा दलीप का कहना है। "देव दास से दास देव'', आप इसके ग्राफ को बदल रहे हैं और यह इसके बिलकुल विपरीत ग्राफ है। फिल्मो की तुलना हमेशा से होती रही है और अपनी जगह ठीक भी है, किसी भी चीज़ की तुलना होनी भी चाहिए। लेकिन मुझे विश्वास है कि यह फिल्म दास देव, अपनी अलग जगह जरूर बनायेगी।"

 

अनुराग कश्यप और विनीत सिंह दास देव फिल्म में एक अतिथि के रूप में नजर आने वाले हैं। यह फिल्म 27 अप्रैल को रिलीज होगी।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।