पद्मावती के खिलाफ बोलने वालों पर बरसे अशोक पंडित, बोले - हम भी पढ़े लिखे हैं

अशोक पंडित का यह बयान तब आया है जब फिल्म पद्मावती का विरोध यह कहकर किया जा रहा है कि फिल्म में रानी पद्मिनी और अलाउद्दीन खिलजी का मिलन दिखाया गया है जो इतिहास से छेड़छाड़ है। ...

एजेंसी

न्यूज़ हेल्पलाइन,मुंबई, 15 नवंबर, 2017

संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित फिल्म 'पद्मावती' का विरोध लगातार बढ़ता जा रहा है, लेकिन फिल्म उद्योग पूरी तरह से भंसाली के समर्थन में नज़र आ रहा है।

सोमवार को इंडियन फिल्म्स एवं टीवी निर्देशक असोसिएशन की तरफ से एक मीटिंग का आयोजन किया गया। यह मीटिंग 'पद्मावती' विवाद को लेकर आयोजित की गई थी। जिसमें सुधीर मिश्रा, अशोक पंडित, राहुल रवैल जैसी कई फ़िल्मी हस्तियां शामिल हुईं।

मुद्दे पर मीडिया से बात करते हुए अशोक पंडित ने कहा,

"हम लोग भी पढ़े लिखे हैं। पूरी रिसर्च करने के बाद ही फ़िल्में बनाते हैं। "

पद्मावती विवाद को लेकर बोलते हुए अशोक पंडित विरोधियों पर बरस पड़े और उन्होंने कहा,

"जो लोग फिल्म का विरोध कर रहे हैं उन लोगो को मैं बताना चाहूंगा कि हम लोग भी पढ़े लिखे हैं। पूरी तरह से रिसर्च करने के बाद ही फ़िल्में बनाते हैं। हम लोग भी राष्ट्रीयता पर विश्वास रखते है पर राष्ट्रीय सम्पति को नुक्सान नहीं पहुंचाते। तोड़फोड़ नहीं करते।"

आगे उन्होंने कहा, "यह कोई छोटी बात नहीं है कि फिल्म पद्मावती के समर्थन में फिल्म्स और टेलीविजन असोसिएशन आज एक साथ  इकठ्ठा हुआ हैं। हम लोग सिर्फ भंसाली के लिए यहाँ नहीं आये हैं। वो तो सिर्फ मोहरा है निशाना तो पूरा उद्योग बना हुआ हैं। "

अशोक पंडित का यह बयान तब आया है जब फिल्म पद्मावती का विरोध यह कहकर किया जा रहा है कि फिल्म में रानी पद्मिनी और अलाउद्दीन खिलजी का मिलन दिखाया गया हैं जो इतिहास से छेड़छाड़ हैं। हालांकि निर्देशक संजय लीला भंसाली ने इस बात का खंडन किया हैं। लेकिन विरोध रुकने का नाम नहीं ले रहा हैं।

फिल्म 'पद्मावती' में दीपिका पादुकोण के साथ शाहिद कपूर और रणवीर सिंह प्रमुख भूमिकाओं में नज़र आएंगे। 1 दिसंबर को फिल्म सिनेमा घरों में रिलीज होगी।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
hastakshep
>