फर्ज़ी निकली BJP की सूची, जिन्दा है “भाजपा का शहीद” शादियों में बजा रहा है ड्रम

नया खुलासा हुआ है कि भाजपा ने अपने जिन 23 कार्यकर्ताओं की हत्या की सूची गृह मंत्रालय को सौंपी थी उसमें अव्वल नंबर पर दर्ज अशोक पुजारी जिन्दा है...

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषणों में झूठ बोलने के नए आयाम स्थापित करते जा रहे हैं, जिसके चलते वे लगातार विपक्ष के निशाने पर हैं, अब निजी समाचार चैनल एनडीटीवी की ख़बर “कर्नाटक का जो शख्‍स बीजेपी की लिस्‍ट में 'शहीद', वो आज भी जिंदा” से एक नया खुलासा हुआ है कि भाजपा ने अपने जिन 23 कार्यकर्ताओं की हत्या की सूची गृह मंत्रालय को सौंपी थी उसमें अव्वल नंबर पर दर्ज अशोक पुजारी जिन्दा है।

एनडीटीवी की ख़बर केमुताबिक कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा ने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाया है कि पांच साल के उनके शासनकाल में 'जिहादी' बलों ने उनके पार्टी के 23 कार्यकर्ताओं की हत्‍या कर की है। इस मामले में उडुपी से भाजपा सांसद शोभा करंदलाजे ने गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर उन 23 लोगों के नाम भेजे थे जिनकी कर्नाटक में हत्‍या की गई।

भाजपा की इस लिस्‍ट में सबसे पहला नाम अशोक पुजारी का आता है, जिसकी हत्‍या 20 सितंबर 2015 को कर दी गई थी। लेकिन पुजारी आज भी जिंदा है। एनडीटीवी ने पुजारी से उसके गांव जाकर मुलाकात की। पुजारी का गांव उडुपी में है जो मेंगलौर से दो किलोमीटर दूर है।

एनडीटीवी की ख़बर के मुताबिक पु‍जारी बजरंग दल का कार्यकर्ता है और भाजपा का कहना है उन पर 2015 में छह लोगों ने हमला किया था जो बाइक पर सवार थे। उन्‍होंने पुजारी पर इसलिए हमला किया क्‍यों‍कि वह हिन्‍दूवादी संगठन से जुड़ा हुआ था। उनका कहना था कि आरोपियों ने उनकी पहचान उनके सिर पर बंधे भगवा कपड़े से की जब वह काम से घर लौट रहे थे। पुजारी शादियों में ड्रम बजाने का काम करता है।

एनडीटीवी की ख़बर के मुताबिक पुजारी ने बताया कि मैं 15 दिन आईसीयू में रहा और उन्‍होंने सोचा कि मैं मरने वाला हूं लेकिन भगवान का शुक्र है कि मुझे कुछ नहीं हुआ। उन्‍होंने बताया कि शोभा करंदलाजे का फोन उनके पास आया था और स्‍वीकार किया कि गलती से उसका नाम उस लिस्‍ट में चला गया।  लेकिन भाजपा आज भी दावा करती है कि उसके 23 कार्यकर्ताओं की हत्‍या की गई। कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि दो दर्जन से ज्‍यादा कर्नाटक में हमारे कार्यकर्ताओं की हत्‍या की गई है।

एनडीटीवी की ख़बर के मुताबिक पुजारी ने बताया कि मैं 15 दिन आईसीयू में रहा और उन्‍होंने सोचा कि मैं मरने वाला हूं लेकिन भगवान का शुक्र है कि मुझे कुछ नहीं हुआ। उन्‍होंने बताया कि शोभा करंदलाजे का फोन उनके पास आया था और स्‍वीकार किया कि गलती से उसका नाम उस लिस्‍ट में चला गया।  लेकिन भाजपा आज भी दावा करती है कि उसके 23 कार्यकर्ताओं की हत्‍या की गई। कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि दो दर्जन से ज्‍यादा कर्नाटक में हमारे कार्यकर्ताओं की हत्‍या की गई है।

Karnataka Man Shown As Dead On BJP 'Martyr' List Is Alive

 

 

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।