मैदान पर दिए गए बयानों पर इस तेज गेंदबाज को हो सकता है पछतावा

Shannon Gabriel will regret the statements given on the field: Joey Root मैदान पर दिए गए बयानों पर इस तेज गेंदबाज को हो सकता है पछतावा...

एजेंसी

ग्रास आइल (सेंट लूसिया), Grass Isle (St. Lucia), 12 फरवरी। इंग्लैंड के कप्तान जोए रूट (England's Captain Joey Root) ने कहा है कि वेस्टइंडीज (West Indies) के तेज गेंदबाज शेनन गेब्रिएल (fast bowler Shannon Gabriel) को यहां खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन दिए गए बयानों पर पछतावा हो सकता है। मैच के तीसरे दिन गैब्रिएल और इंग्लैंड के दो बल्लेबाजों रूट तथा जोए डेनली के बीच कहासुनी हुई थी। इसमें रूट का बयान स्टम्प माइक (Stump Mike) में कैद हो गया था। रूट ने कहा था, "इसे लेकर बेइज्जती नहीं कीजिए। समलैंगिक (Gay) होने में किसी तरह की बुराई नहीं है।"

Gabriel will regret the statements given on the field: Root

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, रूट के प्रतिक्रिया करने से पहले गैब्रिएल ने जो कहा था वो माइक में नहीं आया था। अंपायर ने हालांकि उनसे इस मसले पर बात की थी।

रूट ने हालांकि कहा कि इस तरह की बातें मैदान पर होती रहती हैं और इन्हें मैदान पर ही रहना चाहिए। रूट इस वाकये की शिकायत करने के मूड़ में नहीं है।

रूट ने कहा,

 "कई बार लोग मैदान पर कुछ ऐसा कह जाते हैं जिन पर उन्हें बाद में पछतावा होता है, लेकिन यह सब बातें मैदान पर ही रहनी चाहिए।"

इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान ने कहा,

"यह टेस्ट क्रिकेट है और वह भावुक इंसान हैं जो मैच जीतने के लिए कुछ भी कर सकते हैं। वह शानदार खिलाड़ी हैं जो मुश्किल क्रिकेट खेलते हैं और इस स्थिति में रहने का उन्हें गर्व है। यह अच्छी प्रतिस्पर्धा थी। उन्होंने सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया है और उन्हें अपने आप पर गर्व होना चाहिए।"

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

live, Cricket समाचार, क्रिकेट स्कोर, cricket score, cricket, live cricket score, live cricket match, cricket match, cricket team, odi match, world cricket

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।