“अच्छे दिन” वाली सरकार की नाक के नीचे फिर गैंगरेप

​​​​​​​कहां है “बहुत हुआ महिलाओं पर अत्याचार-अबकी बार मोदी सरकार”...

देश की राजधानी दिल्ली से सटे राज्य हरियाणा और उत्तर प्रदेश में हैवानों ने हैवानियत का ऐसा खेल खेला, जिसने कानून व्यवस्था को एक बार फिर कटघरे में ला खड़ा किया। क्योंकि वो हैवान दो राज्यों के बीच चलती कार में उस महिला से दरिंदगी करते रहे, घिनौनी वारदात को अंजाम देते रहे। हैवानियत की शिकार महिला चीखती रही, चिल्लाती रही.. अपनी इज्जत के लिए रहम की भीख मांगती रही। लेकिन किसी ने उसकी एक न सुनी। न पुलिस के कानों तक उसकी आवाज़ पहुंची न ही कोई फरिश्ता उसकी मदद के लिए आगे आया।

मामला दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा का है जहां कथित रूप से गैंगरेप पीड़ित महिला सड़क पर बदहवास पाई गई। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और महिला को अस्पताल ले जाया गया।

बताया जा रहा है कि महिला को हरियाणा के सोहना से अगवा किया गया था।

बीती रात करीब आठ बजे तीन बदमाशों ने महिला को एक स्विफ्ट कार में अगवा किया और उसे रातभर NCR की सड़कों पर घुमाते रहे। और करीब 8 घंटे बाद ग्रेटर नोएडा उसे फेंक कर फरार हो गए।

मंगलवार सुबह किसी शख्स ने लवारिस महिला को देख ग्रेटर नोएडा पुलिस को फोन किया। पुलिस मौके पर पहुंच महिला को मेडिकल जांच के लिए भेजा। आगे की जांच के लिए महिला को सोहना ले जाया गया है। महिला राजस्थान की रहने वाली है और करीब 10 दिन पहले सोहना आई थी।

महिला को मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है और पुलिस की एक टीम सोहना भेजी गई है। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

दिल्ली, उप्र, हरियाणा और राजस्थान सभी जगह “अच्छे दिन” वाली सरकार ही है।

The shocking gangrape case in Greater has highlighted the poor patrolling of police in Greater Noida and here comes an early morning video of cops snoring away in a Police Control Room (PCR) vehicle.


हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।