अच्छे दिन : पिछले वर्ष भारत में गैर-संक्रामक रोग से 60 लाख से अधिक लोगों की मौत

हाइलाइट्स

अच्छे दिन : पिछले वर्ष भारत में गैर-संक्रामक रोग से 60 लाख से अधिक लोगों की मौत

नई दिल्ली। जी हाँ भारत बदल रहा है। पिछले वर्ष भारत में गैर-संक्रामक रोग से 60 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है।

चाइना रेडियो इंटरनेशनल ने भारतीय मीडिया के हवाले से हाल ही में ब्रिटेन की चिकित्सा पत्रिका द लांसेट पर प्रकाशित अनुसंधान रिपोर्ट के हवाले से कहा कि वर्ष 2016 भारत में गैर- संक्रामक रोग से 60 लाख से अधिक लोगों की मौत हो गई, जिनमें से सबसे गंभीर रोग कार्डियोवास्कुलर रोग है।

खबर के अनुसार संबंधित आंकड़ा वैश्विक रोग भार शीर्षक एक अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन से मिला है, जिनमें अनेक भारतीय विशेषज्ञों ने भाग लिया। संबंधित अध्ययन से पता चला है कि भारतीय लोगों की मौत के सबसे बड़े 10 कारणों में से 7 गैर-संक्रामक रोग से संबंधित है, जिनमें हृदय रोग, कैंसर, गुर्दा रोग शामिल हैं।

रिपोर्ट के अनुसार भारत में गैर-संक्रामक रोग बढ़ने का कारण खराब जीवन शैली से संबंधित है।

विशेषज्ञों ने यह चेतावनी दी कि गैर-संक्रामक रोग बढ़ने से भारतीय लोगों की स्वास्थ्य स्थिति यहां तक की आर्थिक विकास पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। सरकार को आवश्यक कदम उठाने चाहिएं।

बता दें विपक्ष लगातार आरोप लगा रहा है कि जब से केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार बनी है, स्वास्थ्य व शिक्षा पर बजट में भारी कटौती की जा रही है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।