प्लास्टिक सर्जरी को रेगुलेट करने की आवश्यकता

जब कोई व्यक्ति प्लास्टिक सर्जरी के लिए या सेक्स परिवर्तन के लिए जा रहा है, तो दोनों की परिवर्तन एक व्यक्ति की पहचान बदल सकते हैं, अतः दोनों स्थितियों में रेगुलेशन होना चाहिए...

हाइलाइट्स

डॉ. के. के. अग्रवाल ने कहा, “मुझे लगता है प्लास्टिक सर्जरी किसी रेगुलेशन के अनंतर्गत नहीं है।“

उन्होंने कहा कि जब कोई व्यक्ति प्लास्टिक सर्जरी के लिए या सेक्स परिवर्तन के लिए जा रहा है, तो दोनों की परिवर्तन एक व्यक्ति की पहचान बदल सकते हैं, अतः दोनों स्थितियों में रेगुलेशन होना चाहिए।

इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. के. के. अग्रवाल ने प्लास्टिक सर्जरी को रेगुलेट करने की आवश्यकता पर जोर दिया है।

डॉ. के. के. अग्रवाल ने कहा, “मुझे लगता है प्लास्टिक सर्जरी किसी रेगुलेशन के अनंतर्गत नहीं है।“

उन्होंने कहा कि जब कोई व्यक्ति प्लास्टिक सर्जरी के लिए या सेक्स परिवर्तन के लिए जा रहा है, तो दोनों की परिवर्तन एक व्यक्ति की पहचान बदल सकते हैं, अतः दोनों स्थितियों में रेगुलेशन होना चाहिए।

उन्होंने कहा इसमें बहुत सारे मेडिको-कानूनी प्रभाव हैं। हम इस पर गौर करने के लिए एमसीआई को लिख रहे हैं।

उन्होंने कहा कि

1.. क्या हर मामले में पुलिस की मंजूरी आवश्यक होना चाहिए

2.. इसकी सहमति कौन देता है

3.. चिकित्सकों के एक पैनल के एक डॉक्टर शामिल हो सकते हैं

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।
hastakshep
>