घोड़ों से रहें दूर, गलैंडर बीमारी के मिले लक्षण

जानकारों ने बताया कि गलैंडर इन्फेक्शन का कोई इलाज नही है और गलैंडर पॉजिटिव घोड़ों को जान से मारना ही विकल्प होता है। दिल्ली सरकार ने कहा है कि घोड़ों से नजदीकी बनाने से बचें।...

नई दिल्ली, 26 दिसम्बर (देशबन्धु)। राजधानी में शादी, बारात सहित विभिन्न सवारी आदि के लिए रखे गए घोड़ों में गलैंडर नाम की बीमारी के लक्षण पाए गए हैं। बताया जाता है कि इस बीमारी के इंसानों में भी फैलने का खतरा होता है। फिलहाल पश्चिमी दिल्ली इलाके में सात घोड़ों के नमूने पॉजिटिव मिले हैं और अब प्रशासन ने पश्चिमी दिल्ली के इन घोड़ो के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है।

जानकारों ने बताया कि गलैंडर इन्फेक्शन का कोई इलाज नही है और गलैंडर पॉजिटिव घोड़ों को जान से मारना ही विकल्प होता है।

बताया जाता है कि यह बीमारी बड़े स्तर पर न फैले इसके लिए दिल्ली व एनसीआर में प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है।

दिल्ली सरकार ने कहा है कि घोड़ों से नजदीकी बनाने से बचें।

जानकारी के अनुसार राजधानी में अलग-अलग इलाकों में करीबन 106 घोड़ों के नमूने उठाए गए हैं और इनकी जांच की जा रही है इससे पहले 13 घोड़ों के नमूने लिए गए थे, जिसमें से सात पॉजिटिव मिले थे।

विशेषज्ञों ने बताया कि इस बीमारी में घोड़े के शरीर में अल्सर बन जाते हैं और जो घोड़े के सम्पर्क में रहते हैं उन्हें भी कई शारीरिक समस्याएं हो सकती हैं।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।