आंख के पीले धब्बे हो सकते हैं डिमेंशिया के संकेत, न करें अनदेखी

इस तरह धब्बों की स्कैनिंग व आंख की रक्त वाहिकाओं की जांच अल्जाइमर बीमारी की निगरानी के लिए एक महत्वपूर्ण जरिया हो सकता है।...

देशबन्धु

नई दिल्ली 29 मई। अगर आप की आंखों में छोटे पील-धब्बे दिख रहे हैं, तो सावधान हो जाइए यह डिमेंशिया (पागलपन) के शुरुआती संकेतक भी हो सकते हैं। एक नए शोध के अनुसार, इन धब्बों को हार्ड ड्रसेन के नाम से जाना जाता है। ये वसा व कैल्शियम के जमा होने से बनते हैं। यह रेटीना के नीचे एक परत में बनता है और इन्हें स्कैन में देखा जा सकता है।

हालांकि यह उम्र बढ़ने का एक आम संकेत है, लंबे समय तक इन धब्बों को नुकसानदेह नहीं माना जाता था। लेकिन एक नए शोध के निष्कर्षों से पता चला है कि चार फीसदी स्वस्थ लोगों की तुलना में ये धब्बे अल्जाइमर के 25 फीसदी से ज्यादा लोगों में पाए गए हैं।

उत्तरी आयरलैंड के बेलफास्ट के क्वीन विश्वविद्यालय के इमरे लेंगेल ने कहा,

"हमने पाया है कि अल्जाइमर बीमारी में ड्रूसेन जमा होने से जुड़े ज्यादा हिस्से हैं।"

परिणामों से यह भी पता चलता है कि अल्जाइमर वालों में मोटी रक्त वाहिकाएं पाई जाती हैं, जो खून के प्रवाह को धीमा कर देती हैं।

शोधकर्ताओं ने कहा कि इस तरह धब्बों की स्कैनिंग व आंख की रक्त वाहिकाओं की जांच अल्जाइमर बीमारी की निगरानी के लिए एक महत्वपूर्ण जरिया हो सकता है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।