कैसे संभव है फेफड़े के रोगों से बचाव

How is it possible to prevent lung diseases?...

कैसे संभव है फेफड़े के रोगों से बचाव

How is it possible to prevent lung diseases?

पूरे विश्व में 21 नवंबर को मनाये जाने वाले विश्व सीओपीडी दिवस (दीर्घकालीन दमा या काला दमा) के अवसर पर यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल,कौशाम्बी, गाज़ियाबाद में आज आयोजित एक प्रेस वार्ता में फेफड़े के रोगों से बचाव कैसे संभव है, विषय पर बोलते हुए वरिष्ठ श्वांस एवं फेफड़ा रोग विशेषज्ञ डॉ. अर्जुन खन्ना ने कहा कि नियमित चेकअप कराएं और सभी दवाएं सही समय पर लें। सर्दियों में धूप निकलने के बाद मॉर्निग वॉक के लिए जाएं। धूम्रपान कभी न करें। ये सीओपीडी और अस्थमा दोनों का मुख्य कारण है।

डॉ. अर्जुन खन्ना ने कहा -

-आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक्स, दही और फ्रिज में रखी चीजों से बचने की कोशिश करें। सर्दियों में गुनगुना पानी पीएं।

-दिन के वक्त खिड़कियां खोलकर रखें, ताकि कमरे में ताजी हवा आ सके। तकियों की मदद से मरीज का सिरहाना थोड़ा ऊंचा रखें। इससे उसे सांस लेने में आसानी होगी।

-नियमित एक्सरसाइज और संतुलित खानपान से बढ़ते वजन को नियंत्रित रखें। मोटापे की वजह से सांस की नलियां अवरुद्ध हो जाती हैं। इससे व्यक्ति के शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह कम हो जाता है। ऐसे में सीओपीडी के मरीजों की परेशानी और बढ़ जाती है।

-अगर इस समस्या के साथ व्यक्ति को डायबिटीज हो तो संयमित खानपान और दवाओं के सेवन से उसे शुगर का स्तर नियंत्रित रखना चाहिए।

- ज्यादा गंभीर स्थिति होने पर डॉक्टर की सलाह पर घर पर ही नेबुलाइजर, पल्स ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन सिलिंडर या कंसंट्रेटर की व्यवस्था रखें। अगर पल्स ऑक्सीमीटर में ऑक्सीजन का सैचुरेशन 88 प्रतिशत से कम हो तो मरीज को ऑक्सीजन देने की जरूरत पडती है। परिवार का कोई भी सदस्य मरीज को आसानी से ऑक्सीजन दे सकता है।

-अगर इन बातों का ध्यान रखा जाए तो सीओपीडी से पीड़ित व्यक्ति भी सामान्य जीवन व्यतीत कर सकता है।

धूल-मिट्टी से बचें

वजन कंट्रोल रखें

एक्सरसाइज़ है जरूरी-

इनहेलर रखें

कफ सीरप ना लें

ह्यूमिडिटीफायर लगाएं

ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ करें

घबराए नहीं।

क्या यह ख़बर/ लेख आपको पसंद आया ? कृपया कमेंट बॉक्स में कमेंट भी करें और शेयर भी करें ताकि ज्यादा लोगों तक बात पहुंचे

कृपया हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

note on respiratory disorders, respiratory diseases which are they, is tobacco smoking a risk factor for respiratory diseases, special therapies for respiratory disorders,

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।