अब आइडिया की वोल्टे सेवा 15 सर्किल में

आइडिया सेलुलर ने नौ प्रमुख बाजार - मुंबई, कर्नाटक, पंजाब, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, यूपी ईस्ट, यूपी वेस्ट, बिहार एवं झारखंड और राजस्थान सर्किल्स में अपनी वोल्टे सेवाएं (वॉईस ओवर एलटीई) प्रारंभ की हैं।...

अब आइडिया की वोल्टे सेवा 15 सर्किल में

मुंबई, 28 मई। देश के प्रमुख टेलीकॉम ऑपरेटर्स में से एक आइडिया सेलुलर ने नौ प्रमुख बाजार - मुंबई, कर्नाटक, पंजाब, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, यूपी ईस्ट, यूपी वेस्ट, बिहार एवं झारखंड और राजस्थान सर्किल्स में अपनी वोल्टे सेवाएं (वॉईस ओवर एलटीई) प्रारंभ की हैं।

एक बयान में कंपनी ने कहा है कि इस लांच के साथ आइडिया की वोल्टे सेवाएं अब 15 सर्किल में उपलब्ध हैं, जो भारत के 85 फीसदी मोबाइल उपभोक्ता वर्ग को कवर करते हैं। यह किसी भी जीएसएम ऑपरेटर द्वारा सबसे बड़ा वोल्टे नेटवर्क है।

इससे पहले इस माह आइडिया ने महाराष्ट्र व गोवा, एमपी व छत्तीसगढ़, गुजरात, आंध्रप्रदेश व तेलंगाना, तमिलनाडु और केरल में वोल्टे सेवाओं को लांच किया था।

बयान में कहा गया कि लांच ऑफर के तहत आइडिया अपने वोल्टे ग्राहकों को 30 जीबी मुफ्त डेटा देगा। ग्राहकों को पहली वोल्टे कॉल करने पर 10जीबी डेटा मिलेगा और 4 हफ्तों बाद सेवा का फीडबैक देने पर 10जीबी डेटा अतिरिक्त मिलेगा। फिर 8 हफ्तों बाद फीडबैक देने पर 10जीबी डेटा और मिलेगा।

आइडिया सेलुलर के मुख्य विपणन अधिकारी सशि शंकर ने कहा,

"अब 15 मार्केट्स में आइडिया के ग्राहक वोल्टे पर हाई डेफिनिशन कॉल्स कर सकते हैं। नेटवर्क विस्तार के अलावा आइडिया पोस्टपेड और प्रीपेड ग्राहकों के लिए आकर्षक वॉइस और डेटा प्लान लाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है तथा ग्राहकों को किफायती मूल्य में बेहतर क्वालिटी की डिवाईसेस उपलब्ध कराने के लिए हैंडसेट निमार्ताओं के साथ साझेदारी कर रही है, ताकि आइडिया ग्राहक बेहतर वॉइस अनुभव के साथ हाई स्पीड 4जी डेटा भी प्राप्त कर सकें।"

विज्ञप्ति के मुताबिक आइडिया वोल्टे 4जी/एलटीई नेटवर्क पर हाई डेफिनिशन वॉइस सर्विसेस देता है, जो बैकग्राउंड न्वाइज को कम कर स्टैंडर्ड वॉइस कॉल की तुलना में ज्यादा प्राकृतिक वॉइस प्रदान करता है। यह तीव्र कॉल कनेक्शन एवं बैटरी का बेहतर यूटिलाइजेशन भी प्रदान करता है।

कंपनी ने कहा कि वोल्टे के द्वारा ग्राहक वॉइस कॉल पर रहते हुए बिना रुकावट 4जी इंटरनेट का अनुभव ले सकते हैं। आइडिया वोल्टे के द्वारा ग्राहक जब भी 4जी नेटवर्क से बाहर जाते हैं, तो वो सिंगल रेडियो वॉइस काल कॉन्टिनुइटी (एसआरवीसीसी) के द्वारा अपने आप 3जी, 2जी नेटवर्क में लैच हो जाते है, जिससे कॉल कनेक्टिविटी लगातार बनी रहती है।

हस्तक्षेप से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें
facebook फेसबुक पर फॉलो करे.
और
facebook ट्विटर पर फॉलो करे.
"हस्तक्षेप"पाठकों-मित्रों के सहयोग से संचालित होता है। छोटी सी राशि से हस्तक्षेप के संचालन में योगदान दें।